×

देह व्यापार.विवेचन इनसाइक्लोपेडिया ब्रिटानिका के अनुसार देह व्यापार का अर्थ है मुद्रा या धन या मंहगी वस्तु और षारीरिक सम्बन्धों का विनिमय। इस परिभापा में एक षर्त ये भी है कि वह विनियम मित्रों या पति पत्नी के अतिरिक्त ...और पढ़े

अथातो दुष्कर्म जिज्ञासा (बलात्कार :एक असांस्कृतिक  अनुशीलन )                             यशवंत कोठारी जैसा की आप सब जानते हैं आज का युग   बलात्कार का युग  है  है. अत:जो बलात्कार का चमत्कार नहीं कर सकता वो जीवन में कुछ नहीं कर सकता. ...और पढ़े

ढाई  आखर प्रेम का   यशवन्त कोठारी   प्रेम के बारें में हम क्या जानते है ? प्रेम एक महत्वपूर्ण भावनात्मक घटना हैं। प्रेम को वैज्ञानिक अध्ययन से अलग समझा जाता हैं। कोई भी शब्द इतना नहीं पढ़ा जाता ...और पढ़े

  अश्लीलता के बहाने            यशवन्त कोठारी          अश्लीलता एक बार फिर चर्चा में है। मैं पूछता हूं अश्लीलता कब चर्चा में नहीं रहती। सतयुग से कलियुग तक अश्लीलता के चर्चे ही चर्चे है। आगे भी ...और पढ़े

  स्त्री +_ पुरुष = ?         यशवन्त कोठारी             प्रिय पाठकों  ! शीर्षक देखकर चौंकिये मत, यह एक ऐसा समीकरण है जिसे आज तक कोई हल नहीं कर पाया। मैं भी इस समीकरण का हल करने ...और पढ़े

कुंवारियों  की दुनिया       पिछले कुछ वर्षों में महानगरों तथा अन्य शहरों में कुंवारी काम काजी महिलाओं का एक नया वर्ग विकसित होकर सामने आया है । वैसे कस्बों और गांवो मे आज भी इस प्रकार की सामाजिक ...और पढ़े