सर्वश्रेष्ठ डरावनी कहानी कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

इत्तेफाक
द्वारा सौरभ कटारे
  • (18)
  • 662

में एक  छोटे से गांव में रहने वाला एक साधारण ग्रामीण था,उस समय मेरी उम्र लगभग 16 वर्ष की थी, में अपने घर में भाईयो में सबसे बड़ा था ...

तस्वीर का सच - ५
द्वारा Saroj Verma
  • (19)
  • 418

समृद्धि ने कहा, अच्छा कृतु अब तुम अपने बेडरूम में जाओ.. यस मम्मा!!कृतज्ञता इतना कहकर , अपने कमरे में जाने लगी लेकिन वो बार बार किसी को देखकर मुस्कुरा ...

प्यासी रूह
द्वारा Sushma Tiwari
  • (12)
  • 706

" मैं कुछ नहीं कर सकता रवि बाबू.. वो.. वो काली परछाई बहुत ताकतवर है.. मेरी जान जा सकती है.. मुझे माफ़ कर दीजिए " कहकर पुरोहित भाग खड़े ...

तस्वीर का सच - ४
द्वारा Saroj Verma
  • (17)
  • 616

उस बूढ़े को किचन में ना देखकर समीर के तो जैसे होश ही उड़ गए, उसने एक बार फिर सबसे पूछा कि सच में तुम लोगों ने किसी बूढ़े ...

अन्जान रिश्ता - 1
द्वारा suraj sharma
  • (13)
  • 630

           बरसात की रात थी, पूरे गांव को मानो खामोशी ने अपने आगोश में लिया हुआ था !! बारिश की बूंदों की आवाज़ तो मानो ...

तस्वीर का सच - ३
द्वारा Saroj Verma
  • (22)
  • 734

शाम को समीर ने टी वी फिक्स कर दिया, समृद्धि ने शाम को चाय और ब्रेड-पकौड़े बनाए और सबसे कहा कि बालकनी में चलो वहीं बैठकर चाय पियेंगे और ...

तस्वीर का सच - २
द्वारा Saroj Verma
  • (23)
  • 954

समृद्धि कार से उतरी और आकर बोली,देखो तो मैं क्या क्या लाई हूं!! लेकिन समीर का चेहरा देखकर उसका सारा उत्साह खत्म है गया।।   उसने पूछा,क्या हुआ समीर ...

कब्रिस्तान का रहस्य
द्वारा Ayushi Singh
  • (17)
  • 1.5k

"अगर सब ऐसे ही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब हमारे चैनल का दिवाला निकल जाएगा। हमने पूरी 2018 में मेहनत की मगर कोई फायदा नहीं, अब ...

वो कब लौटेंगे?
द्वारा Sushma Tiwari
  • (14)
  • 746

" जन्मदिन मुबारक हो मम्मी जी!,.. आप कहां थे मैं कल रात से ही आपका फोन लगा रही थी "" सॉरी बहू! तुम बच्चों का प्यार मेरे साथ ही ...

हवशी पेड़ - 3
द्वारा ADARSH PRATAP SINGH
  • (17)
  • 784

तभी दरोगा साहब को पता चलता है कि सरपंच जी की एक बैठक में  उन्हें बुलाया गया है जिसे सुनकर दरोगा साहब गाँव को पहुचते है बैठक में उपस्तित ...

तस्वीर का सच - १
द्वारा Saroj Verma
  • (23)
  • 1.2k

अच्छा तो बच्चों कैसा लगा घर? समीर ने सारांश और कृतज्ञता से पूछा।। घर तो बहुत ही अच्छा है पापा लेकिन आपको नहीं लगता कि शहर से थोड़ा दूर ...

कब्रिस्तान की रानी
द्वारा pratibha singh
  • (28)
  • 1.4k

"ओह्ह गॉड कितनी तेज बारिश है।" अहाना अपने दोनों हाथो को सिर पर उठाए बारिश से बचने की कोशिश कर रही थी। "आस पास कुछ है भी नहीं जिधर ...

तौबा
द्वारा Saroj Verma
  • (31)
  • 1.3k

तौबा..!! देखिए ना पिताजी__      कह रहा हैं कि उससे प्यार करता है,लिव-इन  में रहना चाहता है!!   मुकेश उपाध्याय ने अपने पिता गुलाबचंद उपाध्याय से कहा___        लेकिन ...

फ्लेट नंबर १३१३
द्वारा Chandani
  • (19)
  • 1.5k

फ्लेट नंबर १३१३ हॉन्टेड "विवेक हमारे पास और कोई ऑप्शन भी तो नहीं है।" "हां फिर भी शिवानी तुम चाहो तो हम कुछ और फ्लेट देख ले।" "विवेक हम ...

खूनी बावड़ी
द्वारा Ayushi Singh
  • (14)
  • 1.1k

"मीरा कितनी देर तक सोती ही रहोगी, जल्दी उठो राजगढ़ आने वाला होगा" मृणाल ने मीरा को जगाते हुए कहा।"तुम्हें हमारे परिवार वालों से मिलने की कुछ ज्यादा ही ...

डरना जरूरी है
द्वारा bharat Thakur
  • (13)
  • 1.7k

सुनसान वीरानी पगडंडी पर वो परछाई न जाने कब से अपनी आहट को समेटे रात के इस अंधियारे को छेड़ते हुए जा रही थी। रात के सन्नाटे को चीरती ...

अनोखा दिवाना
द्वारा Saroj Prajapati
  • (21)
  • 996

नहीं रेनू अब तुम्हें हल्दी लग चुकी है।शादी तक तुम्हारा बाहर  आना जाना बंद" दादी ने कहा। "क्या, दादी मेरी हल्दी से बाहर आने जाने का क्या संबंध।" तुम ...

वो शापित जंगल
द्वारा pratibha singh
  • (12)
  • 1.1k

                       वो शापित जंगल उस जंगल के बारे में जितने किस्से सुनाओ उतने कम है। जितने मुँह नहीं होंगे ...

स्वप्न
द्वारा Minal Vegad
  • (21)
  • 1.7k

               मीरा एक सुनसान रास्ते पे चली जा रही थी। खुद उसे भी पता नही था कि वो कहा जा रही है? मीरा ...

वसुंधरा गाँव - 5
द्वारा प्रेम पुत्र
  • (21)
  • 838

इन्द्र को भानु की पत्नी यानी संगीता की बातों ने बेहद हैरान परेशान सा कर दिया,  इन्द्र के मुताबिक वो आज से पहले कभी नही जानता था की भानु ...

बैल की पूंछ
द्वारा suraj sharma
  • 506

रमेश अपने दादाजी से मिलने आया था। उसके दादाजी उसे रोज नई कहानियां सुनाते थे । रमेश को पिताजी ने कहा था कि दादाजी ने सच में भूत देखा ...

काला साया
द्वारा सोनू समाधिया रसिक
  • 716

काला_सायाSοиυ_ѕαмα∂нιγα_яαѕικशिवम और उसके पैरेंट्स अपनी पुरानी यादों को भुलाने के लिए अपने फ़ॉर्महाउस पर कुछ समय बिताने के लिए आये थे।शिवम आज ही हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो कर आया ...

शापित गुड़िया - भाग  २
द्वारा Lalit Raj
  • 730

जब शिवा और उमेश को लॉकर में वो गुड़िया नहीं मिली तो वो हैरत में थे कि वह गुड़िया आखिर गई कहाँइतने ही पल में पुलिस स्टेशन से बहार ...

इश्क़ जुनून - 12 - अंतिम भाग
द्वारा Paresh Makwana
  • (14)
  • 532

         साथ ही हवावो ने अपना रुख बदला ओर उन हवावो में सरो के गाने की वो दर्दभरी आवाज लहराई..               ...

वसुंधरा गाँव - 4
द्वारा प्रेम पुत्र
  • (20)
  • 1.2k

इन्द्र और भानु उस अज्ञात कॉलर की बताई जगह के पास पहुँच कर रुकते है।" भानु उसने अकेले आने की शर्त रखी थी, तुम यहाँ मेरा इंतजार करो अगर ...

इश्क़ जुनून - 11
द्वारा Paresh Makwana
  • 604

          इधर पूरी संजीवनी हॉस्पिटल को कुछ गुंडो ने घेर के रखा था। हॉस्पिटल केे सेकेंड फ्लोर पर सात नंबर का कमरा था वही कमरा जहाँ संध्या को रखा ...

हवशी पेड़ - 2
द्वारा ADARSH PRATAP SINGH
  • (13)
  • 1.2k

थाने में नए अफसर का आगमन हो चुका था अफसर पहले से ही वाकिब था छेत्र में हो रहे मौत मंजरों के विषयों में ,आते आते ही अफसर ने ...

ब्लडी मैरी.. आएगी
द्वारा Uma Vaishnav
  • (11)
  • 1.4k

            रीना, संजना, दीपा और पूजा चारों बहुत अच्छी दोस्त हैं, हमेशा साथ साथ ही रहती है,एक दिन भी ऎसा नही होता था कि ...

विश्रान्ति - 11 - अंतिम भाग
द्वारा Arvind Kumar Sahu
  • (14)
  • 662

विश्रान्ति (‘रहस्य एक रात का’A NIGHT OF HORROR) अरविन्द कुमार ‘साहू’ विश्रान्ति (The horror night) (दुर्गा मौसी द्वारा उन सिक्कों के कारण देखा गया, दीपू की शादी का सपना ...

क्या मैं सुंदर हूँ?
द्वारा Sushree Mukherjee
  • (11)
  • 1.2k

अज़ीमगंज की सड़कें उन दिनों रात में खाली ही रहती थी। कुछ दिनों से यहाँ बहुत सी ऐसी घटनाएं घट रही थीं जिन्हें सामान्य तो नहीं कह जा सकता। पुलिस ने रात ...