सर्वश्रेष्ठ पौराणिक कथा कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

बाली सुग्रीव
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 114

                                                        बाली सुग्रीव                   बाली अंगद के पिता थे!              यानी वनवासियों के राज्य किष्किन्धा  के राजा- बाली।                 बाली का राज्य था किष्किन्धा !                 जामवंत जी ...

शम्बूक - 11
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 114

उपन्यास :   शम्बूक  11    रामगोपाल भावुक    सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110          मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com     ...

लंका में राजकुमार अंगद
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 150

लंका में  राजकुमार  अंगद   अंगद की जब सात साल की उम्र थी, तबसे  पिता बाली  की कई बातें अच्छी तरह से याद  हैं। जैसे उनका अपनी राजधानी से ...

शम्बूक - 10
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 126

उपन्यास: शम्बूक 10                 रामगोपाल भावुक    सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110          मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com   ...

शम्बूक - 9
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 183

उपन्यास :  शम्बूक  9             रामगोपाल भावुक            6 जन चर्चा में रामकथा   इन दिनों त्रिगुणायत गाँव की चौपाल पर सभा हो रही थी। ...

कार्तिकेय
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 165

कार्तिकेय भारतीय माइथोलॉजी के सबसे चर्चित योद्धा देवताओं के सेनापति कार्तिकेय यानी मुरूगन हैं। मुरूगन वे देवता हैं जो उत्तर भारत में घर घर में विराजमान महादेव शिव जी ...

भ्रुगू मुनि की कथा
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 345

भ्रुगू मुनि की कथा  एक बार मंदराचल पर्वत पर यज्ञ हो रहा था और यज्ञ के दौरान वहां उपस्थित ऋषि-मुनियों में यह चर्चा चली कि सर्वाेच्च रूप् से किन ...

शम्बूक - 8
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 228

उपन्यास :  शम्बूक  8             रामगोपाल भावुक   सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110          मो 0 -09425715707       Email-tiwari ...

शम्बूक - 7
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 246

उपन्यास:   शम्बूक -7        रामगोपाल भावुक        4 श्रीराम के काल में आश्रम प्रणाली भाग.2 अब तक वह उन ब्रह्मचारियों के पीछे-पीछे चलकर, जो अन्न ...

वैज्ञानिक मुनि अगस्त्य
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 312

वैज्ञानिक मुनि अगस्त्य   विध्याचत पार करके समुद्र तट को जाने के लिए निकले मुनियों का एक काफिला विध्याचल से वापस लौट आया और मुनियों के इस काफिले ने ...

शम्बूक - 6
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 285

उपन्यास:    शम्बूक -6                 रामगोपाल भावुक       4 श्रीराम के काल में आश्रम प्रणाली सतेन्द्र के अपने गाँव वापस लौटते ही सुमत के चित्त ...

बेटे के मोह में फंसा योद्धा : द्रोणाचार्य
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 339

हस्तिनापुर में राजकीय आवास कुए के बाहर धत्तराष्ट्र के 100 पुत्र और पांडु के 5 पुत्र मिलकर गेद खेल रहे थे , अकस्मात उनकी गेद कुएं में गिर गई। ...

शम्बूक - 5
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 327

उपन्यास  :   शम्बूक  -5            रामगोपाल भावुक      सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110          मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com ...

शम्बूक - 4
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 426

उपन्यास   शम्बूक - 4      रामगोपाल भावुक   सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110     मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com   ...

शम्बूक - 3
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 399

उपन्यास- शम्बूक  रामगोपाल भावुक   सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110        मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com     2 जन चर्चा में.शम्बूक  ...

शम्बूक - 2
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 531

उपन्यास   शम्बूक            रामगोपाल भावुक   सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110        मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal 5@gmai.com         ...

शम्बूक - 1
द्वारा ramgopal bhavuk
  • 843

उपन्यास       शम्बूक              रामगोपाल भावुक   सम्पर्क सूत्र-      कमलेश्वर कॉलोनी (डबरा) भवभूति नगर, जिला ग्वालियर म.प्र. 475110          मो 0 -09425715707       Email-tiwari ramgopal ...

देव ऋषि वातापि
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 567

पौराणिक कथा-                                                                                त्याग की होड़                                               ...

क्षत्राणी--कुंती की व्यथा(अंतिम किश्त भाग 2)
द्वारा किशनलाल शर्मा
  • 508

द्रौपदी सभा मे जो भी बात कह रही थी।पांडवो की तरफ देखते हुए कह रही थी।पांडवो को जितना दुख द्रौपदी की  दूर्दशा देख कर हो रहा था।उतना राज व ...

क्षत्राणी--कुंती की व्यथा - (भाग 1)
द्वारा किशनलाल शर्मा
  • 991

"मुझे राज्य के छिन्न जाने का दुख नही है।पुत्रो के जुए मे हार जाने और वनवास जाने का भी बिल्कुल दुख नही है।परंतु भरी सभा मे मेरी पुत्र वधू ...

द्रोणाचार्य और एकलव्य
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 631

   एकलव्य एक बहादुर बालक था, वह जंगल में  रहता था, उसके पिता हिरण्यधनु उसे हमेशा आगे बढ़ने की सलाह देते थे। एकलव्य के आसपास हथियारों का बड़ा महत्व ...

जयगाथा - 3
द्वारा Mukesh nagar
  • 443

गतांक से आगे.... देवताओं के गुरु थे ऋषि अंगिरा के परम तेजस्वी और विद्वान पुत्र बृहस्पति और दैत्यों के गुरु और पुरोहित थे संजीवनी विद्या जानने वाले परम प्रतापी ...

लंका में गुप्तचर हनुमान
द्वारा राजनारायण बोहरे
  • 438

                                                         लंका में गुप्तचर हनुमान              अयोध्या के राजकुमार राम की पत्नी सीता का हरण किसी ने पंचवटी नामक वन में उनकी कुटिया में से कर लिया था । ...

अधर्म धर्मराज का
द्वारा Ajay Amitabh Suman
  • 1.2k

ऐसा कहा जाता है कि धर्मराज युधिष्ठिर के रथ का पहिया कभी भी धरती की संपर्क में नहीं आता था। ऐसा इसलिए, क्योंकि धर्मराज हमेशा धर्म में प्रतिष्ठित रहते थे। ...

बैजू
द्वारा इंदर भोले नाथ
  • 999

बैजू............किसी गाँव मे बैजू नाम का एक "मंद बुद्धि" लड़का रहता था, जो गाय भैसो को जंगलों मे चराया करता ! उसी जंगल मे "भगवान भोले नाथ का एक ...

आल्हा और ऊदल - दो योद्धाओं की वीर गाथा
द्वारा Abhishek Sharma - Instant ABS
  • 1.1k

प्रिय पाठकों,आपने राजा - महाराजा, रानी - महारानी, सुल्तान - बेगम, सल्तनत, आदि के किस्से और कहानियां तो बहुत सुनें और पढ़े होंगे।इतिहास के पन्नों को पलटें तो बहुचर्चित ...

रुद्र: कोरोना रक्षक
द्वारा Shikha Srivastava
  • 741

"त्राहिमाम, प्रभु, त्राहिमाम" कैलाश की सुरम्य वादियों में एक वेदना भरा नारी स्वर गूँजा। "अरे ये तो देवी पृथ्वी की आवाज़ है। वो इस प्रकार व्याकुल होकर महादेव को ...

विश्वामित्र का घमण्ड
द्वारा राज बोहरे
  • 1.8k

पौराणिक कथा-                                                               विश्वामित्र का घमण्ड                      अयोध्या वाले दूत ने राम के  राज्याभिषेक का निमंत्रण  विश्वामित्र को सौंपा ।                पत्र पढ़कर विश्वामित्र गर्व से भर ...

जयगाथा
द्वारा Mukesh nagar
  • 1.4k

जयगाथा ********* भारत के महान ग्रन्थ महाभारत की कहानियों पर आधारित है मेरी यह धारावाहिक कहानी 'जयगाथा'। इसके बारे में आप सबको कुछ बताता हूँ। मूल महाभारत एक महाकाव्य ...

स्वधर्म
द्वारा Arjit Mishra
  • 921

हम सभी बचपन से ही रामायण की कहानी पढ़ते आये हैं, जिसमे मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम अहंकारी रावण का वध करते हैं| अभी हाल में ही टीवी पर रामायण ...