हिंदीप्रेम कथाएँ मुफ्त में पढ़े और PDF डाउनलोड करें

तुम and Time Machine
by Mit Gupta
  • (0)
  • 18

"Hello" "who is this..?""Sanju.""..........""can you please call me back ""ok करता हूँ" आज 4 साल के बाद अचानक उसका कॉल आया था. पर मैं उसे भुला नहीं था और शायद वो ...

फेसबुक और तीन प्रेमी युगल - 1
by Arpan Kumar
  • (1)
  • 24

“इधर फेसबुक पर बने रहना एक फैशन हो गया है। मैं भी उस फैशन का शिकार हूँ। बच्चों और बीवी के साथ समय न बिताकर इस वर्चुअल कम्युनिटी सेंटर ...

अनजान रीश्ता - 20
by Heena katariya
  • (9)
  • 119

सेम और पारुल ब्यूटी पार्लर में पहुंचते हैं तभी सेम वर्कर से कहता है की उनकी मेम को बुलाये और सेम और पारुल वहां वैट कर रहे थे तभी ...

सीमित प्रेम
by Ramanuj Dariya
  • (2)
  • 66

एक लड़का है जिसे लोग आशु के नाम से जानते हैं ,नाम से कम उसके काम से लोग ज्यादा जानते है।एक नाम आशी जिसकी अदाओं से लोग जानते है ...

मन्नू की वह एक रात - 24
by Pradeep Shrivastava
  • (16)
  • 218

मेरी यह दलील सुन कर चीनू एक बार फिर भड़क गया। बोला, '‘शादी-शादी-शादी, दिमाग खराब हो गया है तुम्हारा। तुम असल में मेरी शादी नहीं बल्कि अब मुझ से भी ...

कमसिन - 27
by Seema Saxena
  • (16)
  • 189

सुबह हो गयी थी ! आज कल्पना को उठने की इच्छा नहीं हो रही थी ! वह ऐसे ही लेटी रहना चाहती थी लेकिन माँ की पूजा और उनकी ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 14
by Rashmi Ravija
  • (8)
  • 122

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

फिर भी शेष - 8
by Raj Kamal
  • (3)
  • 53

सुख—दुःख के इसी महाचक्र में, आनंद का एक प्रसंग उससे छिटक गया। वह भूल गई कि काजल का पत्र आया था। उस दिन आदित्य ने नीचे बुलाकर उसे दिया ...

डॉमनिक की वापसी - 6
by Vivek Mishra
  • (1)
  • 48

दीपांश के जाते ही हरि नैटियाल ने हमसे सीधा सवाल किया, ‘यह यहाँ कैसे?’ मैंने और अजीत ने लगभग एक साथ ही पूछा ‘आप इसे जानते हैं?’ उन्होंने बड़े विश्वास से ...

मायामृग - 10
by Pranava Bharti
  • (1)
  • 37

उदित पहले किसी गैर-सरकारी कार्यालय में काम कर रहा था, उसके अन्दर बड़ा बनकर जीने की एक तृष्णा थी बड़े बनने की एक भूख! जिसने उसे कई ...

उधड़े ज़ख़्म - 3
by Junaid Chaudhary
  • (5)
  • 71

अब्बा ने आगे कहा ये सब फ़ैसले ख़ुदा के हैं, हमें और आपको ये चाहिए कि हम भी इसे मानें,और बच्चों की ख़ुशी में खुश रहै।अब्बा के तफसील से ...

दीप शिखा - 10 - Last Part
by S Bhagyam Sharma
  • (1)
  • 66

गीता के चेहरे को तीनों घूर कर देख रहे थे रामेशन तो सिर्फ अपने प्रश्न के उत्तर के लिए उसको देख रहा था लेकिन पेरुंदेवी, ...

मन्नू की वह एक रात - 23
by Pradeep Shrivastava
  • (13)
  • 156

‘यह क्या फालतू बात कर रहे हो। मुझ बुढ़िया से शादी करोगे।’ इस पर वह बोला, ‘फालतू बात नहीं कर रहा हूं, जो कह रहा हूं सच कह रहा हूं। इतना ...

हा यही प्यार है... - 7
by Alpa
  • (4)
  • 65

हा.. यही प्यार है.. भाग  7      राहुल :- प्रिया  दूर हटो.. तुम अभी बची हो.. प्यार के मामले मे बहोत छोटी हो.. ये प्यार नहीं है, सिर्फ ...

कमसिन - 26
by Seema Saxena
  • (13)
  • 148

कल्पना ने सोचा उसने ऐसा क्या कर दिया जो राजीव इतना नाराज हो गया और अभी पूजा में तल्लीन थी पापा टी0वी0 में तो उसने सोचा थोड़ी देर छत ...

मेरी कहानी - 3 - लास्ट पार्ट
by Harsh Parmar
  • (5)
  • 78

       लास्ट पार्ट।।संजना फिर मुस्कुराके चली गई। और हम दोनों भी वहा से अपने घर आ गए । फिर हमने खाना खाया और फिर हम लोग क्रिकेट ...

डॉमनिक की वापसी - 5
by Vivek Mishra
  • (2)
  • 31

अजीत से ‘डॉमनिक की वापसी’ में डॉमनिक का किरदार निभाने वाले दीपांश से मिलने की इच्छा ज़ाहिर किए हुए अभी दो-तीन दिन ही बीते होंगे कि एक रात साढ़े ...

मायामृग - 9
by Pranava Bharti
  • (3)
  • 31

उदय प्रकाश के विदेश में रहने वाले भाई के कोई सन्तान नहीं थी वे प्रत्येक वर्ष अथवा दो वर्षों में एक बार भारत आते थे ...

खट्टी मीठी यादों का मेला - 13
by Rashmi Ravija
  • (11)
  • 75

(रात में बेटी के फोन की आवाज़ से जग कर वे, अपना पुराना जीवन याद करने लगती हैं. उनकी चार बेटियों और दो बेटों से घर गुलज़ार रहता. पति ...

फिर भी शेष - 7
by Raj Kamal
  • (5)
  • 63

नीचे गली में आदित्य वर्मा अपनी मारुति के शीशे साफ कर रहा था। अचानक नजर ऊपर उठी तो मुस्कराकर अभिवादन में उसने सिर हिलाया। जवाब में हिमानी भी मुस्करायी। आदित्य ...

मन्नू की वह एक रात - 22
by Pradeep Shrivastava
  • (19)
  • 210

‘मगर बच्चा गोद लेकर संतान वाली तो हो ही गई थी। और आगे का भविष्य क्या है यह भी जान गई थी। मैं ऐसा नहीं कह रही कि तुम ...

कमसिन - 25
by Seema Saxena
  • (17)
  • 184

राजीव आ गये थे । कल्पना ने उनको चाय नाश्ता दिया ओर वहीं शान्त मन से बैठ गई । राजीव ने उसे देखकर मुस्कुराया किन्तु वह शान्त ही रही ...

वैश्या वृतांत - 18
by Yashvant Kothari
  • (8)
  • 174

शरद ऋतु आ गयी प्रिये !                                                        यशवन्त कोठारी          हां प्रिये, शरद ऋतु आ गयी है। मेरा तुमसे प्रणय निवेदन है कि तुम भी अब मायके से ...

हा यही प्यार है... - 6
by Alpa
  • (5)
  • 72

भाग, 6राहुल :- प्रिया  चलो अंदर... खाना तुम्हे टाइम पे खाना है.. राहुल ने प्रिया की आँखों मे जो चमक देखी.. उसके बाद वो.. shocked है.. इसलिये.. प्रिया का ...

दीप शिखा - 9
by S Bhagyam Sharma
  • (3)
  • 52

“मुझे मुक्ति दो ” यामिनी बोली चंद्रमा की चाँदनी में पिता और पुत्री दोनों खड़े थे पूर्णमासी की रात आकाश में चंद्र अपनी ...

डॉमनिक की वापसी - 4
by Vivek Mishra
  • (3)
  • 43

सुबह आँख खुली तो लगा की नींद तो पूरी हुई पर सफ़र की थकान से अभी भी देह टूट रही है। लॉज के जिस कमरे में, हम रात में ...

अनजान रीश्ता - 19
by Heena katariya
  • (13)
  • 180

सेम और पारुल दोनों रेस्टोरेन्ट मे नास्ता करने के बाद कार की ओर जा ही रहे होते हैं पर तभी पारुल कहती है की पारुल: सेम.... सेम: हम्म्म.. पारुल: ...

अनमोल बन्धन
by Kalpana Bhatt
  • (9)
  • 2.3k

बेला और अनमोल एक ही कॉलेज पढ़ते थे । दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे । रोज़ का मिलना जुलना , लाइब्रेरी में एक साथ पढ़ना ,साथ लंच लेना , ...

फिर भी शेष - 6
by Raj Kamal
  • (3)
  • 51

इस वर्ष रितु दो विषयों में ही उत्तीर्ण हो सकी, दो शेष रह गए, जिन्हें अब अंतिम वर्ष के साथ ही पास करना होगा, लेकिन उसे इसकी कतई चिंता ...

मन्नू की वह एक रात - 21
by Pradeep Shrivastava
  • (17)
  • 207

‘अच्छा जब तुमने बच्चे को गोद ले लिया तो उसके बाद चीनू से किस तरह पेश आई। जबकि तुम्हारे कहे मुताबिक यदि वह जी-जान से न लगता तो तुम्हें ...