सर्वश्रेष्ठ थ्रिलर कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

रिस्की लव - 53
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 228

        (53)प्रवेश गौतम और अंजन विश्वकर्मा की शुरुआत लगभग एक साथ ही हुई थी। दोनों राजन भाई के गैंग में काम करते थे।‌ उसके बाद अंजन ...

नज़र - 3 - एक रहस्यमई रात
द्वारा Aarti Garval
  • 213

"बट सर हमने किया क्या है मतलब हम तो आज पहली बार आपसे यहां मिल रहे हैं फिर आप ऐसे क्यों ?? हमसे कुछ गलती हो गई क्या सर?" ...

रिस्की लव - 52
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 483

 (52)पुलिस के हाथ निराशा लगी। इस बात से सीनियर इंस्पेक्टर राजेंद्र सेल्वाराज को अपने डिपार्टमेंट के आला अधिकारियों से खूब फटकार पड़ी। एसीपी सत्यपाल वागले को भी लग रहा ...

रिस्की लव - 51
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 591

        (51)अंजन ने एक बार फिर मीरा को वीडियो कॉल की। उसने सोचा था कि जब तक मीरा कॉल उठाएगी नहीं वह फोन करता रहेगा। इससे ...

रक्षक - 2
द्वारा Kayal King
  • 342

                कवच की कोज़       रेवन महाराज की बात सुनकर पहले की तरह कवच की खोज में कालीघाटी नक्शे की खोज में ...

रिस्की लव - 50
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 675

      (50)निर्भय के मन में जो बात आई थी उसके बारे में सुनकर मानवी सोच में पड़ गई थी। कुछ देर तक वह भी उस पर विचार ...

रिस्की लव - 49
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 534

    (49)एंथनी अजय मोहते की बात सुनकर मुस्कुरा रहा था। उसे इस तरह मुस्कुराते हुए देखकर अजय मोहते को गुस्सा आ रहा था। वह सोच रहा था कि ...

रिस्की लव - 48
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 852

     (48)सीनियर इंस्पेक्टर राजेंद्र सेल्वाराज इंस्पेक्टर चैंग ली द्वारा भेजी गई जानकारी लेकर एसीपी सत्यपाल वागले के पास गया। उसे तस्वीरें दिखाकर बोला,"इन दोनों की लाश शहर के ...

लखनऊ मर्डर केस - 5 - अंतिम भाग
द्वारा Palak Jain
  • 690

लखनऊ मर्डर केस- अंतलेपटॉप में सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद खत्री ने चहल से गाड़ी निकालने के लिये बोला और फिर दोनों केबिन से बाहर निकलने लगे। अचानक खत्री ...

रिस्की लव - 47
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 807

      (47)एसीपी सत्यपाल वागले चाहता था कि अंजन सिंगापुर पुलिस की जगह उसके हाथ लगे। इसके लिए उसने अपनी कोशिशें तेज़ कर दी थीं। उसने अपनी टीम ...

लखनऊ मर्डर केस - 4
द्वारा Palak Jain
  • 753

लखनऊ मर्डर केस- भाग 4इंस्पेक्टर अनिरुद्ध खत्री ने चहल से गाड़ी निकालने को कहा और फिर दोनों अहसान के घर की तरफ निकल पड़े। लगभग पंद्रह मिनिट बाद चहल ...

रिस्की लव - 46
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 705

     (46)निर्भय के मकान में पहुँच‌कर अंजन सोचने लगा कि अब आगे क्या करे। पुलिस ही नहीं अब उसके पुराने दोस्त भी उसके पीछे पड़ गए थे। वह ...

लखनऊ मर्डर केस - 3
द्वारा Palak Jain
  • 1k

                    लखनऊ मर्डर केस। भाग-3उसी दिन फैज़ाबाद रोड पुलिस थाना "चहल एक काम करो..तुम जाकर गाड़ी निकालो। हम पहले नित्या ...

रिस्की लव - 45
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 930

 (45)अश्विन राहाणे का फोन आने के बाद अंजन उसकी बताई गई जगह पर जाने की तैयारी करने लगा। अश्विन राहाणे ने उससे कहा था कि पासपोर्ट बनाने वाले ने ...

कातिल कौन?
द्वारा Sushma Tiwari
  • 975

" रवि ! आप जाओ आराम से, हम ठीक है,आखिर शादी में कोई तो होना चाहिए, मामाजी क्या कहेंगे? मुझे तो रहना होगा बच्चों के साथ एग्जाम की तैयारी ...

लखनऊ मर्डर केस - 2
द्वारा Palak Jain
  • 1.2k

                                      लखनऊ मर्डर केस। भाग-2"कैसे जानते हो तुम इस महिला को..?" खत्री ने ...

रिस्की लव - 44
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 783

    (44)मीरा और अलीशिया लंदन वापस चली गई थीं। अंजन का मन मीरा के लिए दुखी था। विदा लेते समय मीरा ने उससे कहा था कि वह जा ...

लखनऊ मर्डर केस - 1
द्वारा Palak Jain
  • 1.6k

इस कहानी के सभी पात्र काल्पनिक हैं। कहानी में उल्लेखनीय स्थानों का इस्तेमाल सिर्फ कहानी को जीवंत बनाने के मकसद से किया गया है। कहानी का किसी भी जीवित ...

रिस्की लव - 43
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 792

  (43)अंजन ने गौर किया। सिक्योरिटी इंचार्ज के अलावा दो लोग और थे। उसने अपनी गन सागर खत्री के सर से सटाकर कहा,"मुझे मीरा को लेकर यहाँ से जाने ...

रिस्की लव - 42
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 864

     (42)सागर खत्री सोफे पर पैर के ‌ऊपर पैर चढ़ाकर बैठा था। अंजन ‌उसके सामने खड़ा था। सागर खत्री ने उसे घूरकर देखा। फिर बोला,"अंजन तुम मुझसे पूँछ ...

रिस्की लव - 41
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 948

   (41)अलीशिया गुस्से में भरी बैठी थी। वह मीरा को किसी भी तरह अपने रास्ते से हटाने के बारे में सोच रही थी। वह मीरा से मिलकर उसे ‌धमकाना ...

रिस्की लव - 40
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 960

        (40)मीरा अब इस कैद में रहते हुए ऊब चुकी थी। यहाँ से भागना नामुमकिन था। अगर वह सुइट का दरवाज़ा खोलकर कॉरीडोर में कदम भी ...

ए यक्षी ...
द्वारा shubham gaming YT
  • 588

अभी आधी रात का समय ही बिता था, मुझे नहीं पता, मुझे झटके लगने शुरू हो गए और मेरी नज़र बाउंड्री वॉल के पास एक पेड़ के नीचे खड़ी ...

रिस्की लव - 39
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 903

      (39)अंजन इतना तो समझ गया था कि मीरा के धोखा देने के बावजूद भी वह उससे प्यार करता है। तभी इतने मौके मिलने पर भी उसे ...

गुमनाम : मर्डर मिस्ट्री - 20 - अंतिम भाग
द्वारा Kamal Patadiya
  • (13)
  • 1.2k

गुमनाम : मर्डर मिस्ट्री का End लिखना एक बहुत ही बड़ा चैलेंजिंग वाला काम था। जिन जिन लोगों ने मेरी इस कहानी को पसंद किया है उन्हें मैं अपने ...

रिस्की लव - 38
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 786

   (38)समर बहुत परेशान था। इस समय उसे पुड्डूचेरी से निकलने की कोई राह नज़र नहीं आ रही थी। वह बेचैन था। किसी भी कीमत पर देश छोड़कर भागना ...

रिस्की लव - 37
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 777

      (37)अंजन एक बार फिर ‌मीरा के सामने खड़ा था। मीरा सर झुकाए बैठी ‌थी। जब अंजन मीरा के पास आया था तो ‌उसने फिर उससे यही ...

रिस्की लव - 36
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 936

        (36)गोवा की मीडिया में एक बात चर्चा का विषय थी कि सब इंस्पेक्टर रोवॉन ने किडनैपिंग केस में बहुत बहादुरी दिखाई थी। लेकिन साथ में ...

गुमनाम : मर्डर मिस्ट्री - 19
द्वारा Kamal Patadiya
  • 1.1k

अजय कुर्सी से उठकर विक्रम और आलिया की ओर रिवाल्वर ताककर कहता है "तो फिर!! इन दोनों का आझाद कर ही देते है।" प्रिया चिल्लाकर अजय से कहती है ...

रिस्की लव - 35
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • 822

   (35)मीरा बिस्तर पर एकदम चुपचाप बैठी थी। वह एक तरफ देख रही थी जैसे उसकी आँखें जैसे किसी चीज़ पर टिकी हों। इस समय उसके मन में गंभीर ...