सर्वश्रेष्ठ कल्पित-विज्ञान कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

जलप्रलय - एक रिवेंज - 1
द्वारा सूरज
  • 340

जलप्रलय -एक रिवेंजभाग -1...शाम  का वक़्त! समुद्र की  भयानक लहरें जोर-जोर से उठा पटक मचा रही थी। लोगो का हुजूम तट पर बढ़ता ही जा रहा था। बात ही कुछ ...

भूल (विज्ञान-गल्प)
द्वारा Dr. Vandana Gupta
  • 627

वैज्ञानिक अविष्कारों ने दुनिया के सामने एक मायावी संसार खड़ा कर दिया है. अनेक रहस्यों पर से शनैः शनैः पर्दा उठता जा रहा है. कई कल्पनाएं आकार ले चुकी ...

अमर
द्वारा कौस्तुभ श्रीवास्तव
  • 711

अगस्त १६ , २५६७               आज का दिन न सिर्फ मेरे अस्तित्व का सबसे बड़ा दिन था बल्कि आज मैने अपनी नई पहचान पाई। दरासल मै अपने चाचा की ...

कल्पना से वास्तविकता तक। - 5
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 567

       कल्पना से वास्तविकता तक:--5 नोट:-- 1.इस भाग को पूर्णतः समझने के लिए आप पीछे के सभी भाग अवश्य पढ़ लें। 2.यह कहानी पूर्णतः काल्पनिक है,तथा किसी ...

कल्पना से वास्तविकता तक। - 4
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 456

          कल्पना से वास्तविकता तक:--4 नोट:-- 1.आप सब इस भाग को समझने के लिए पिछले वाले भाग अवश्य पढ़ लें।  2. यह कहानी पूर्णतः काल्पनिक है ...

कल्पना से वास्तविकता तक। - 3
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 420

    कल्पना से वास्तविकता तक:--3 नोट:-- 1.आप सब इस भाग को समझने के लिए पिछले वाले भाग अवश्य पढ़ लें। 2.इस भाग में प्रयोग लाई गई एक भाषा पूर्णतः ...

जनश्रुतियों के आइने में पद्मावती नगरी एवं भवभूति साहित्य
द्वारा रामगोपाल तिवारी
  • 513

जनश्रुतियों के आइने में पद्मावती नगरी एवं भवभूति साहित्य                                                    रामगोपाल भावुक सभी की देखने की अपनी-अपनी दष्टि होती है। मैंने यहाँ पद्मावती नगरी एवं भवभूति साहित्य को जनश्रुतियों ...

कल्पना से वास्तविकता तक। - 2
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 627

   नोट:--   इस भाग को समझने के लिए ,आप पहला भाग अवश्य पढ़ ले। आगे ....... नेत्रा अपनी किताब पढ़ने में मशगूल थी,शुरुआत से ही नेत्रा को किताबों से ...

कल्पना से वास्तविकता तक। - 1
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 1k

                कल्पना से वास्तविकता तक!! हमने किसी सुना है कि " इस संसार में जो भी हो रहा है, और जो होने वाला ...

क्या होगा?
द्वारा Parmod Verma
  • 1.5k

क्या होगा What Will happen Written by Parmod Verma हम अपनी ज़िंदगी के बहुत समय सिर्फ अपने भविष्य निर्माण के बारे में सोच कर बर्बाद कर देते हैं इसी ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 11 - अंतिम भाग
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.2k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 11 जब मुझे होश आया तो मैंने खुद को जंगल में ही पाया। मैं समझ चुका था कि मेरा सामना जंगल की ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 10
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.2k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 10 ये देख कर वो और भी अचरज में पड़ गया। क्योंकि उसको बिना अम्बाला के घर नहीं आना था। वो वापिस ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 9
द्वारा Sohail K Saifi
  • 951

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 9 उस जगह से उठ कर हम्जा आगे बढ़ा वो इस बात से अंजान था कि वो किस युग में आ पहुँचा ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 8
द्वारा Sohail K Saifi
  • 837

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 8 हम्जा अपनी आप बीती नरसिम्हा को सुना ही रहा था, तभी महल में भगदड़ सी मच गई। नरसिम्हा और हम्जा ने ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 7
द्वारा Sohail K Saifi
  • 891

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 7 लगभग कोस भर की दूरी तय कर हम्जा को उस स्त्री का घोड़ा मिला, जो अब जीवित नहीं था उसकी मृत्यु ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 6
द्वारा Sohail K Saifi
  • 941

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 6 लोगों के लिए हम्जा केवल जीवित ही नहीं था बल्कि उस शापित जंगल से सुरक्षित जीवित निकला एक लोता दैवीय पुरुष ...

मशिनो का गुलाम
द्वारा रनजीत कुमार तिवारी
  • 917

एक बार समय निकाल कर जरूर पढ़ें:-आज के समय में लोग किताबों से दुर हो गए या फिर दुर होते जा रहे हैं। लोगों का पढ़ने, लिखने में दिलचस्पी ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 5
द्वारा Sohail K Saifi
  • 898

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 5 नरसिम्हा के लिए अपने बड़े भाई की मृत्यु का शोक अपार था। किंतु इस समय उनके ऊपर दो राज्यों का कार्यभार ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 4
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 4 जब वो 1000 सैनिकों का समूह वापिस आएगा। तो हमें सरल मार्ग की जानकारी के लाभ के साथ साथ अन्य सैनिकों ...

रोबोट वाले गुण्डे -8 अंत
द्वारा राज बोहरे
  • 868

रेडियो पर बातें सुनकर वे लोग सिहर उठे। वार्तालाप से उन्होंने जाना कि भारत के वैज्ञानिको का अपहरण करने का षडयंत्र इस ग्रह पर चल रहा था, ओर छोटे ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 3
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.1k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 3 वही दूसरी ओर गजेश्वर राज्य में आग के समान ये सूचना फेल गई। कि अब्दुल्ला राजा भानु और उसके वज़ीर नागेश्वर ...

रोबोट वाले गुण्डे-7
द्वारा राज बोहरे
  • 670

साहब इस बार होश में आये तो वे काफी स्वस्थ थे। फौजी जासुस केदारसिंह और उनकी पत्नि यानि की अजय-अभय की माँ उनके पास ही बैठी थी। पुलिस कोतवाल ...

रोबोट वाले गुण्डे-6
द्वारा राज बोहरे
  • 785

प्रो. दयाल की आवाज़ थी।              अंदर से घबराते हुये भी उन्होंने बड़े इत्मीनान से दयाल साहब से बातं की और रिसीवर बन्द कर दिया। जब वे फिर खिड़की ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 2
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.2k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 2 गजेश्वर राज्य में अब्दुला नाम का एक गरीब किसान था जिसकी एक सुंदर बीवी और एक तेरह वर्षीय बेटी थी। अब्दुल्ला ...

रोबोट वाले गुण्डे -5
द्वारा राज बोहरे
  • 759

प्रोफेसर सर्वेश्वर दयाल को नगर की हलचलो से कुछ मतलब न था, वे जब खूब आराम चाहते थे तो किसी नदी का किनारा खोजते थे और दिनभर वही आसन ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 1
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.1k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 1 वसुंधरा एक सुंदर और विशाल राज्य जिसकी सुंदरता और मनमोहक दृश्य किसी को भी मन्त्र मुग्ध कर दे। जितना ये राज्य ...

रोबोट वाले गुण्डे -4
द्वारा राज बोहरे
  • 829

अंतरिक्ष का तीसरा दिन था।  भारत वर्ष मे गर्व की ध्वजा लिये, तिरंगे रंग का झंडा फहराता भारती यान पृथ्वी के चक्कर लगा रहा था। अपने हाथो में दूरबीन ...

रोबोट वाले गुण्डे -3
द्वारा राज बोहरे
  • 889

आठ बजे थे।   घंटी बजाने पर दरवाजा खोला प्रो. दयाल के नौकर ने।   अजय-अभय ने नौकर से कहा कि वह प्रो. दयाल से कहे कि अजय-अभय उनसे मिलने ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 2 - 4
द्वारा Sohail K Saifi
  • 1.3k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 2 खण्ड 4 वहाँ से निकल कर साबू अपने ऑफिस आ जाता है। तभी उसकी सेकेट्री उसके पास आ कर उसको याद दिलाती है। ...

रोबोट वाले गुण्डे -2
द्वारा राज बोहरे
  • 760

  प्रोफेसर दयाल ने रेडियो बन्द किया और उठ खड़े हुये। अजय अभय भी उठे।        अजय और अभय बहुत दिनों से दयाल अंकल की प्रयोगशाला नही गये थे, ...