सर्वश्रेष्ठ कल्पित-विज्ञान कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

कल्पना से वास्तविकता तक। - 1
द्वारा jagGu Parjapati ️
  • 120

                कल्पना से वास्तविकता तक!! हमने किसी सुना है कि " इस संसार में जो भी हो रहा है, और जो होने वाला ...

क्या होगा?
द्वारा Parmod Verma
  • 891

क्या होगा What Will happen Written by Parmod Verma हम अपनी ज़िंदगी के बहुत समय सिर्फ अपने भविष्य निर्माण के बारे में सोच कर बर्बाद कर देते हैं इसी ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 11 - अंतिम भाग
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 840

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 11 जब मुझे होश आया तो मैंने खुद को जंगल में ही पाया। मैं समझ चुका था कि मेरा सामना जंगल की ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 10
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 861

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 10 ये देख कर वो और भी अचरज में पड़ गया। क्योंकि उसको बिना अम्बाला के घर नहीं आना था। वो वापिस ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 9
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 582

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 9 उस जगह से उठ कर हम्जा आगे बढ़ा वो इस बात से अंजान था कि वो किस युग में आ पहुँचा ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 8
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 537

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 8 हम्जा अपनी आप बीती नरसिम्हा को सुना ही रहा था, तभी महल में भगदड़ सी मच गई। नरसिम्हा और हम्जा ने ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 7
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 645

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 7 लगभग कोस भर की दूरी तय कर हम्जा को उस स्त्री का घोड़ा मिला, जो अब जीवित नहीं था उसकी मृत्यु ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 6
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 647

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 6 लोगों के लिए हम्जा केवल जीवित ही नहीं था बल्कि उस शापित जंगल से सुरक्षित जीवित निकला एक लोता दैवीय पुरुष ...

मशिनो का गुलाम
द्वारा रनजीत कुमार तिवारी
  • 596

एक बार समय निकाल कर जरूर पढ़ें:-आज के समय में लोग किताबों से दुर हो गए या फिर दुर होते जा रहे हैं। लोगों का पढ़ने, लिखने में दिलचस्पी ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 5
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 613

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 5 नरसिम्हा के लिए अपने बड़े भाई की मृत्यु का शोक अपार था। किंतु इस समय उनके ऊपर दो राज्यों का कार्यभार ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 4
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 770

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 4 जब वो 1000 सैनिकों का समूह वापिस आएगा। तो हमें सरल मार्ग की जानकारी के लाभ के साथ साथ अन्य सैनिकों ...

रोबोट वाले गुण्डे -8 अंत
द्वारा राज बोहरे
  • 610

रेडियो पर बातें सुनकर वे लोग सिहर उठे। वार्तालाप से उन्होंने जाना कि भारत के वैज्ञानिको का अपहरण करने का षडयंत्र इस ग्रह पर चल रहा था, ओर छोटे ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 3
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 749

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 3 वही दूसरी ओर गजेश्वर राज्य में आग के समान ये सूचना फेल गई। कि अब्दुल्ला राजा भानु और उसके वज़ीर नागेश्वर ...

रोबोट वाले गुण्डे-7
द्वारा राज बोहरे
  • 490

साहब इस बार होश में आये तो वे काफी स्वस्थ थे। फौजी जासुस केदारसिंह और उनकी पत्नि यानि की अजय-अभय की माँ उनके पास ही बैठी थी। पुलिस कोतवाल ...

रोबोट वाले गुण्डे-6
द्वारा राज बोहरे
  • 557

प्रो. दयाल की आवाज़ थी।              अंदर से घबराते हुये भी उन्होंने बड़े इत्मीनान से दयाल साहब से बातं की और रिसीवर बन्द कर दिया। जब वे फिर खिड़की ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 2
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 853

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 2 गजेश्वर राज्य में अब्दुला नाम का एक गरीब किसान था जिसकी एक सुंदर बीवी और एक तेरह वर्षीय बेटी थी। अब्दुल्ला ...

रोबोट वाले गुण्डे -5
द्वारा राज बोहरे
  • 546

प्रोफेसर सर्वेश्वर दयाल को नगर की हलचलो से कुछ मतलब न था, वे जब खूब आराम चाहते थे तो किसी नदी का किनारा खोजते थे और दिनभर वही आसन ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 1
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 718

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खंड 1 वसुंधरा एक सुंदर और विशाल राज्य जिसकी सुंदरता और मनमोहक दृश्य किसी को भी मन्त्र मुग्ध कर दे। जितना ये राज्य ...

रोबोट वाले गुण्डे -4
द्वारा राज बोहरे
  • 580

अंतरिक्ष का तीसरा दिन था।  भारत वर्ष मे गर्व की ध्वजा लिये, तिरंगे रंग का झंडा फहराता भारती यान पृथ्वी के चक्कर लगा रहा था। अपने हाथो में दूरबीन ...

रोबोट वाले गुण्डे -3
द्वारा राज बोहरे
  • 661

आठ बजे थे।   घंटी बजाने पर दरवाजा खोला प्रो. दयाल के नौकर ने।   अजय-अभय ने नौकर से कहा कि वह प्रो. दयाल से कहे कि अजय-अभय उनसे मिलने ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 2 - 4
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 1k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 2 खण्ड 4 वहाँ से निकल कर साबू अपने ऑफिस आ जाता है। तभी उसकी सेकेट्री उसके पास आ कर उसको याद दिलाती है। ...

रोबोट वाले गुण्डे -2
द्वारा राज बोहरे
  • 538

  प्रोफेसर दयाल ने रेडियो बन्द किया और उठ खड़े हुये। अजय अभय भी उठे।        अजय और अभय बहुत दिनों से दयाल अंकल की प्रयोगशाला नही गये थे, ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 2 - 3
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 802

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 2 खण्ड 3 रात को अपने पति की बातों से झुंझलाहट में उस सुंदरी को नींद नहीं आ रही थी। बस उसके दिमाग में ...

रोबोट वाले गुण्डे -1
द्वारा राज बोहरे
  • 904

   भोर हो रही थी।        रात समाप्त हो चुकी थी, दिन निकल रहा था। फौजी जासुस केदार सिंह के घर में हलचल थी। केदार सिंह खुद तथा उनके ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 2 - 2
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 831

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 2 खण्ड 2 साबू अपने ऑफिस पहुँच तो गया। लेकिन वो क्या करें उसकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था वो बहुत बोर ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 2 - 1
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 1.2k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 2 खंड 1 2010 यदि संसार में लफंगा पन करने की कोई उपाधि होती, तो हमारे प्यारे साबू को विश्व में अव्वल दर्जा मिलता। ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 1 - 3
द्वारा प्रेम पुत्र
  • (11)
  • 1.2k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 1 खंड 3 जिसे देख कर हरीश बोखला गया असल में हरीश के गणना अनुसार ये सब नहीं होना था उससे ऐसी भूल हुई ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 1 - 2
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 1.9k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 1 खण्ड 2 31 मार्च 2016 को एक दुर्घटना में उसके पिता का दिहान्त हो गया, इसके बाद हरीश की माता भी पति की ...

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 1 - 1
द्वारा प्रेम पुत्र
  • 3.1k

रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड इस किताब के माध्यम से हमने कुछ विभिन्न प्रकार की थ्योरीस को आपके लिए प्रस्तुत किया है इस किताब में कुल तीन कहाँनी है। प्रथम ...