×

जब भी मेरी नजर '८२ और '९० सालो के बीच मैंने शेरलॉक होम्स के बारे में लिखी टिप्पणियाँ और अभिलेखों के उपर पड़ती है, तब मेरा सामना ऐसी बहोत सी अजीब और दिलचस्प बातो से होता है जिसमे से ...और पढ़े

श्री होम्स, अंतमें इस मामले को खत्म करने के लिए और अपने धैर्य का दुरुपयोग न करने के लिए एक रात ऐसी आई जिसने उन्हें उन शराबी सैलियों में से एक बना दिया, जिससे वह कभी वापस नहीं आए । जब हम उनकी खोज पे ...और पढ़े

हॉम्ज़ आख़री मुद्दे पे हंस दिए। “अच्छा,” उन्होंने कहा, “मैं अब भी कहता हु, जैसा मैंने तब कहा था, इंसान को अपने दिमाग़ की अटारी उस सारे असबाब से भर के रखनी चाहिए जिसका वो सम्भवित इस्तेमाल करने वाला ...और पढ़े

-