इंतजार प्यार का - भाग - 27 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 27

तभी सूरज का साथ देते हुए नैना भी बोलती है हां यार विक्रम सच बता क्या तू उस लड़की को जानता है। और मुझे लगता है सूरज जिस वजह से जिस तरीके से मुझे बोला उससे लगता है कि तू उस लड़की से प्यार करने लगा और वो भी तगड़े वाला। यह सुनकर विक्रम को और भी ज्यादा शौक हो जाता है। और अब उसको गुस्सा आने लगा। क्यूं की वो अपने दोस्त की ये उड़ती हुई सोच को सुन कर अपना सर देवर में भिड़ा देना चाहता था। और वो अब गुस्सा होते हुए बोलता है कि तुम लोग मेरा हंसी मजाक बनाना बंद करो। और मेरा उस लड़की के साथ कोई चक्कर नहीं है। और ना ही मेरा गर्लफ्रेंड है और ना ही मैं उसका बॉयफ्रेंड। और यह तो इस जन्म में नहीं होने वाला उसके मुंह से यह सब बात सुनने के बाद सब लोग शौक हो जाता है और आरव भी आंखें फाड़ फाड़ कर विक्रम की और देखने लगता है। क्यों की आज से पहले वो लोग कभी भी वो लोग बिक्रम को किसी भी लड़की के ऊपर इतना गुस्सा होते हुए नहीं देखा था। तभी आर्यन विक्रम सब बोलता है अरे यार बता ना क्या हुआ जिस वजह से तू इतना ज्यादा गुस्सा हो जाता है। उस लड़की के नाम लेने भर से हीं तू उसके ऊपर इतना ज्यादा गुस्सा हो जाता है तो विक्रम एकदम चुप हो जाता है और कुछ नहीं बोलता हे।
लेकिन थोड़ी देर बाद वह अपना चुप्पी तोड़ते हुए बोलता है कि मैं उस लड़की को जानता हूं। उसका नाम मेघा है और वह इसी कॉलेज में ही पड़ती है। वो यहां पर मुंबई से एक्सचेंज स्टूडेंट बन आई हे। तो सब लोग हैरानी के साथ बोलते हे। की तो हमने ऐसको क्यूं नही देखा तो बिक्रम उन सबको बताता हे की उसका स्ट्रीम अलग हे। हम साइंस वाले हैं। और वह cummers बाली। उसके मुंह से एक लड़की की यह डिटेल सुनकर वो लोग शॉक हो गए थे। क्योंकि उन लोगों को पता था कि विक्रम कभी भी किसी लड़की के डिटेल्स नहीं निकालता था। लेकिन फिर भी वह कुछ नहीं बोलते। लेकिन विक्रम की ओर थोड़ी शक भारी नजर से देखने लगे। लेकिन विक्रम भी उन सब को इग्नोर करते हुए बताने लगता हे कि उस लड़की से में कल रात को पैराडाइज क्लब में मिला था। कल हम दोनों वहां पर गलती से टकरा गए थे जिस वजह से जैसे हम दोनों के बीच में झगड़ा हो गया और इस लड़की के बारे में मुझे पता चला। तो सूरज उसकी और शक भारी नजर से देखते हुए बोलता हे की जो कुछ भी हुआ है जल्दी से बोल और मेरा तो विश्वास करना हीं मुस्किल ही की तू किसी भी लड़की के साथ झगड़ा कर सकता है। तो बिक्रम उसकी और थोड़ा घबराते हुए देखा। क्यूं की वो उन सबको सच नही बताना चाहता था। लेकिन फिर सब लोग उसको बताने के लिए मजबूर करने लगे तो वो भी अपनी और मेघा की मीटिंग के बारे में सोचने लगता हे।
फ्लैश बैक
विक्रम जब अपने बेडरूम में बैठकर पढ़ाई कर रहा था। तभी उसको उसके एक दोस्त पीयूष की कॉल आती है। तो वह फोन उठाकर उससे बातें करने लगा। तो पियूष उससे बोलता है कि जल्दी से पैराडाइज क्लब आजा और अपने दोस्तों को भी लेकर आना। क्योंकि आज मेरी तरफ से पार्टी है। तो पहले विक्रम मना करता है। लेकिन फिर वह मान जाता है। फिर थोड़ी देर तक इधर उधर की बात करने के बाद दोनो अपना फोन रख देते हे।
फिर शाम के तकरीबन 7:30 बजे विक्रम अपने घर से निकलता है। वह निकल कर 30 मिनिट बस पैराडाइज क्लब में पहुंचता है। क्लब में पहुंचने के बाद वह क्लब के अंदर जाकर देखता है। कि चारों तरफ काफी सारे कपल्स , और काफी लड़के और लड़कियां एक साथ डांस कर रहे थे। तो वह एक कोने में जाकर पियूष को कॉल करता है। और बोलता है कि कहां है यार तू मैं तो कब से क्लब के अंदर हूं तू दिखाई नहीं दे रहा है। तो पीयूष बोलता है यार तू कहां है मुझे बता मैं अभी आता हूं तेरे पास फिर जाकर मिलकर पार्टी करेंगे। तो विक्रम उसको ठीक है बोल कर अपना अपना एड्रेस दे देता हे। फिर अपना कॉल काट देता है। कॉल काटने के बाद वो पास में ही खड़ा हो जाता है। कि तभी एक लड़की आकर उससे टकरा जाती है उसके ऊपर ड्रिंक गिरा देती हे। फिर वह लड़की उसको सॉरी बोलती है। तो विक्रम भी ज्यादा कुछ नहीं बोलता और उसको its ओके बोल कर वहां से वॉशरूम चला जाता है। अपने कपड़े ठीक करने के लिए। वही जब उस लड़की ने विक्रम को देखा तो उसके आंखों में चमक आ गई क्योंकि विक्रम भी दिखने में किसी मॉडल से कम नहीं लग रहा था। और उसको वहां पर देख कर सिर्फ वही नहीं आसपास की खड़ी हर लड़की उसको बस घूरे हीं जा रही थी। वही जब विक्रम वॉशरूम के अंदर गया तो वहां पर उस लड़की को अपने मन हीं मन में कोशते हुए बोलता हे की वह कैसी लड़की है यार देख कर चल नहीं सकती मेरे कपड़ों पर ही ड्रिंक्स गिरा दिया अब फिर से साफ करके बाहर जाना होगा अगर इतनी देर में पियूष आकर वहां से चला गया। तो फिर से मैं यहां पर बैठकर ढूंढने नहीं बाला। यहां से मैं अपने घर चला जाऊंगा इतना बढ़ बढ़ाते हुए। वह अभी वहां से बाहर निकला ही था कि वह फिर से उस लड़की से टकरा जाता है। उस लड़की को फिर से खुद से टकराते हुए देखकर विक्रम को गुस्सा आता है लेकिन फिर भी वह अपने गुस्से को कंट्रोल करते हुए बोलता है मिस आप जरा देख कर चलिए वरना आप कहीं ना कहीं टकराती ही रहेंगी। यह सुनने के बाद वह लड़की काफी शर्मिंदा हो जाती है। फिर उससे उससे बोलती है की आई एम सॉरी इतना बोलने के बाद वहां से चली जाती है। विक्रम भी वहां चला जाता है। वहां जाता है तो देखता है कि पियूष अभी तक वहां नहीं आया था। तो वह वहां पर वेट करने लगता है कि तभी वह देखता है कि जिस लड़की से वो टकरा गया दो बार टकराया था। उस लड़की को एक लड़का वहां पर आकर परेशान कर रहा था। लेकिन वह लड़की उस लड़के को इग्नोर करते हुए वहां से चली गई। लेकिन फिर भी वह लड़का उसका पीछा नहीं छोड़ रहा था। और लड़की भी काफी नशे में थी जिस वजह से उसने उस लड़के को इग्नोर करके जाते वक्त उसके पैर डगमगा रहे थे। और जिस वजह से वह रास्ते में पड़े हुए किसी चीज से टकरा गई। और फिर सीधा जाकर विक्रम के ऊपर गिर गई। विक्रम को एक बार फिर से उस लड़की से टकर खाना पड़ा। लेकिन इस बार वो संभल नहीं पाया और सीधा जाकर नीचे गिर गया। विक्रम नीचे गिरा हुआ था। और उसके ऊपर उस लड़की गिरी हुई थी। बिक्रम को ये देख कर उस लड़की के ऊपर बहुत गुस्सा आ रहा था। वहीं जब उस लड़की ने अपना सर उठा कर देखा की वो किस के ऊपर गिरी हुई है। तो वो देखती हे की वो बिक्रम के ऊपर गिरी हुई हे। बिक्रम को देख कर उसके आंखों में चमक आ जाती हे। और उसकी बॉडी भी हिट होने लगता हे। वहीं बिक्रम कुछ कहता उससे पहले उस लड़की ने विक्रम के होठों को चूमना शुरू कर दिया। यह देखकर विक्रम की आंखें बड़ी बड़ी हो गई और वो पूरी तरह से शॉक हो गया। और अपनी उन्ही बड़ी बड़ी आंखों से उस लड़की को देखने लगा। लेकिन वह लड़की उसको बहुत पैशनेटली किस कर रही थी। जिस वजह से अब विक्रम का भी सब्र का बांध टूटने लगा था। तो वह भी उस लड़की के कमर पर हाथ रखकर उसको किस करने लगा था। वह दोनों एक दूसरे को काफी संजीदगी के साथ चूम ही रहे थे। है बीत ते पल के साथ उनकी वो किस और भी पैशनेट हो रही थी और जो पहले किस था अब वो स्मूच में बदल गया। वो लोग आगे कुछ करते कि तभी वहां पर वही लड़का आ जाता है जो की उस लड़की को परेशान कर रहा था। और उस लड़की को किसी और को किस करते हुए देखकर बहुत गुस्सा हो जाता है। और उस लड़की को विक्रम से खींचकर अलग करता है। और विक्रम की और देख कर बोलता है तेरी हिम्मत कैसे हुई उसको किस करने की। तो विक्रम भी शौक रह जाता है क्योंकि उसका अपने बॉडी के ऊपर अच्छा खासा कंट्रोल था लेकिन आज इस लड़की के वजह से उसने अपना कंट्रोल खो दिया और उसे किस करने लगा था यह चीज उससे उसके साथ पहले कभी नहीं हुई थी। आज से पहले कितने ही लड़कियां उसे किस करने की कोशिश की थी और किस भी की थी लेकिन किसी के साथ भी वो अपना आपा नही खोया था। और ऐसी हरकत किसी के साथ भी नहीं किया था। वहीं जब वह लड़की भी अपना आंख उठाकर सामने विक्रम को देखती है तो उसके आंखों में चमक और दिल में खुशी की महसूस होती है। क्योंकि वह विक्रम को किस किया था। वही वह लड़का अब फिर से उस लड़की के साथ बदतमीजी कर रहा था। और वह लड़की को अपने साथ सोने के लिए जबरदस्ती करने लगा था। लेकिन उस लड़की को भी अब और भी ज्यादा गुस्सा आ गया। और वह लड़की भी काफी नशे में थी। जिस वजह से उसने अपना आपा खो दिया और पास में ही पड़ा बियर का बोतल लाया और उसके सर में दे मारा जिस वजह से उसके सर से खून निकल कर बहने लगा। यह देख कर उसके दोस्त वहां से डर के मारे भाग गए और वहीं विक्रम उस लड़की का ऐसा रूप देखकर एकदम खड़ा था क्योंकि उसको कतई उम्मीद नहीं थी कि एक लड़की एक ऐसा काम कर सकती है जो कि दिखने में इतनी मासूम है। वही जब उस लड़की ने उस लड़के का सर फोड़ दिया। तो फिर वह घूम कर विक्रम की और देखने लगी विक्रम की और देखते वक्त उसके आंखों में सिर्फ खुशी और प्यार था। यह देख कर बिक्रम को कुछ अलग सा महसूस होने लगा है। जो कि आज तक उससे कभी किसी भी लड़की के लिए महसूस नहीं हुआ था। और वह उस लड़की के और अट्रैक्ट होने लगा था। तो उसने उस लड़की को देखकर अपने चेहरे में थोड़ी सी शक्ति लाइ और उसी शक्ति के साथ बोला कि तुमने मुझे किस क्यों किया। तो वह लड़की भी उसको अपने बड़ी बड़ी आंखों से घूरने लगी और घूरते हुए एक दम बेपरवाह अंदाज से बोली वह तो मैं नशे में थी जिस वजह से मैंने कर दिया और क्या तुम भी नशे में थे जो तुम भी मुझे किस करने लगे थे। यह सुनने के बाद विक्रम एकदम चुप हो गया था क्योंकि उस लड़की की कहने वाली बात भी सही थी कि विक्रम अभी नशे में नहीं था लेकिन फिर भी वह उस लड़की को उसी संजीदगी और उसी पैशन के साथ चूमने लगा था। इतना कह कर वो लड़की बिक्रम के आंखों में घूरने लगी थी। फिर दोनों ऐसे ही एक दूसरे के आंखों में देख रहे थे कि। तभी वहां पर पियूष आ जाता जाता है। और वहां जाकर पहले बिक्रम को देखता है। और फिर उस लड़की को। तो वह जल्दी से उस लड़की के पास जाता है। और बोलता है रे मेघा तुम यहां क्या कर रहे हो मैंने बोला था ना मेरे साथ रहो। तो लड़की बोलती है ठीक है यार मैं अभी आती हूं बोल कर वो वहां से चली गई। वहीं बिक्रम अभी तक पूरी तरह से दंग वहां पर खड़ा हुआ था। क्योंकि उसको बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि वो लड़की थी उसका ही एक दोस्त होगी जो कि उसके साथ यहां पार्टी में आया है। वहीं जब पीयूष ने बिक्रम को देखा तो जल्दी जाकर उसके गले मिलते हुए बोला कि हाय विक्रम तू तो कितने दिनों बाद मिला है। चल आज दबाके पार्टी करते हैं। और तूने अपने दोस्तों को नहीं बुलाया हे क्या। कोई भी दिखाई नहीं दे रहा हे। तो बिक्रम उससे बोलता हे की मैंने उन्हें बुलाया था लेकिन उन लोगों को कुछ काम था। जिस वजह से वो लोग नहीं आए तो पीयूष उसको बोलता है ठीक है। अब चलते हे इतना बोल कर वह उसको अपने दोस्तों के पास लेकर चला गया जो कि वही पर उसके साथ पार्टी कर रहे थे। वही वहां पर खड़े हुए हर कोई जब विक्रम को देखा तो उसको ग्रेट किया। और अपने साथ ड्रिंक करने के लिए आने के लिए बोलो तो विक्रम आज इन लोगों को मना कर दिया। और बोला आज मैं नहीं पीने वाला यह सुनने के बाद सब लोग विक्रम को और ज्यादा फोर्स नहीं करते हैं। क्योंकि वह लोग जानते थे कि अगर विक्रम को गुस्सा आ गया तो उन लोगों की खैर नहीं।
तभी विक्रम पियूष को अपने पास बुलाता है और धीरे से उससे पूछता है कि क्या तू वह लड़की को जानता है क्या। तो पियूष उस से कंफ्यूज होते हुए पूछता हे की कौन सी लड़की। तो बिक्रम उसको बोलता है कि वो लड़की जो कि मेरे सामने खड़ी थी। तो पीयूष उसे चिढ़ाते हुए बोलता है क्या यार आते ही सबसे सुंदर और बेस्ट लड़की को तू ही चुन लिया। तो हम लोग क्या करेंगे यार हमारा तो जिंदगी खराब है। जो कोई भी लड़की तुझको देखे बस तेरे पास ही आ जाए चाहे उसका कितना भी अच्छा बॉयफ्रेंड हो। यह सब सुनने के बाद विक्रम को ऊपर गुस्सा आने लगता है। और वह गुस्सा होते हुए बोलता है की तुझे अगर मुझे बताना है तो बता और अगर तू नहीं बताएगा तो मैं किसी और से पूछ लूंगा। तो पियूष विक्रम को इतना गुस्सा में देखकर उस उस को बताता है कि उस लड़की का नाम मेघा है। और वह इस साल सेकंड ईयर का स्टूडेंट है। जो कि मुंबई से यहां पर एक्शन स्टूडेंट के तौर पर आई है यह सुनने के बाद बिक्रम ज्यादा कुछ नहीं करता। उसकी और देखता है और अपना सर हिला देता है। और अपने लिए बस कोल्ड ड्रिंक्स आर्डर करता है फिर पीने लगता हे। वो अभी पी हीं रहा था कि तभी वहां पर मेघा आ जाती है। मेघा को वहां देखकर विक्रम कुछ नही बोलता क्यों की वो उसके बारे में सब कुछ जान चुका था। लेकिन उसके दिल में थोड़ी खुशी होती है ।वहीं जब मेघा ने विक्रम को वहां पर देखा तो उसकी आंखें चमकने लगी और वह विक्रम की और घूर घूर कर देखने लगी। उसको ऐसे घूर घूर को देखते हुए देखकर विक्रम को बड़ा ही अजीब लगा। और वह वहां से जाने के लिए बोला और वहां से चला गया। वो अभी गेट के पास ही पहुंचा था कि तभी मेघा उसके पास आती है। और बोलती है आई एम सॉरी for all the things ये सुनने के बाद भी बिक्रम कुछ रिएक्ट नहीं करता और वहां से चला जाता है।
Present time
बिक्रम ऐसे खयालों में खोए हुए देखकर सब लोग शौक हो जाता है। क्योंकि ऐसा बहुत कम बार हुआ है कि विक्रम किसी खयालों में इतनी बुरी तरह से डूब गया था कि किसी के बुलाने पर भी कुछ जवाब नहीं देता। तो आरव उठता है और विक्रम के पीठ में एक जोरदार मुका मारता है। जिस वजह से विक्रम अपने होश में आ जाता है। और इसके मुंह से एक चिक निकाल जाति हे। और होश में आने के बाद वो चिलाते हुए बोलता है की किसने मारा मुझे। तो सब लोग उसको पीछे मुड़ कर देखने को बोले। तो वो जब पीछे मुड़कर देखता है तो वहां पर आरव को देखकर कुछ नहीं बोल पाता सिर्फ उसको को घूर कर देखने लगा वहीं आरव ने उससे पूछते हुए बोला। क्या हुआ यार किसके ख्यालों में डूब गया। जो हमारे बुलाने पर भी नहीं सुन रहा है। तो इस पर विक्रम थोड़ा घबरा गया और सोचने लगा कि क्या बहाना बनाया जाए। लेकिन तभी सूरज पूछता है की तूने बताया नही की तू केसे उस लड़की के बारे में जानता हे। तो विक्रम उससे बोलता है कि नहीं वह मैं कल piyus ने बुलाया था तुम तो जानते हो इसी वजह से मैं वहां पर गया था। तभी इसके साथ मेरा वहां पर मिलना हुआ था जिस वजह से मैं इसे जानता हूं तो यह सुनने के बाद कोई कुछ खास रिएक्ट नहीं करता और बस अपने अपने काम में लग जाते हैं।
तो आगे किया होता है। क्या मेघा और बिक्रम एक और कपल बन सकते हे। जानने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी इंतज़ार प्यार का..............
To be continued.........
Written by
Unknown writer

रेट व् टिपण्णी करें

सबसे पहले टिपण्णी लिखें