इंतजार प्यार का - भाग - 4 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 4

आरव पूरे कॉलेज का टॉपर है। और full scholarship के साथ कॉलेज में एडमिशन लिया हे वही सनाया कॉलेज की सेकेंड टॉपर हे। जिस बजाह से दोनो की सीट एक दसरे के आस पास हे |सनाया को शर्मिंगी महसूस हो रही थी आरव के ऐसे रिक्वेस्ट करने से। तो वह थोद गुसे से आरव से बोलती है कि, “ मिस्टर आरव राजपूत आपकी ये बुक जिसको अपने मेरे पास चोद दिया था वह ले लीजिए और रही बात यहां beith ने कि तो में आपको बता दूं कि मेरी आपके ऊपर कोई भी इंटरेस्ट नहीं है। मुझे ये सीट मिला है इसी वजह से में यहां बेउठी हूं वरना तुम्हारे जैसे अकडू और गुस्से वाले इंसान के पास को है बैठेगा। वहीं आरव उसको कुछ नहीं बोलता है बस उसके हाथ से अपना बुक ले लेता है। और फिर अपना क्लास अटेंड करने लगता है। क्लास खत्म करने के बाद सब लोग एक एक करके रूम से बाहर चले जाते है। वैसे हीं आरव और सनाया भी अपने दोस्तो से मिलने वहां से चले जाते है।
आरव वहां से कैंटीन के और अपने दोस्तों से मिलने के लिए चला जाता है। कैंटीन में पहुंच ने के बाद आस पास खाली टेबल देखने के बाद वो एक कॉर्नर वाली टेबल पर जाकर आराम से बैठ जाता है। और अपने दोस्तों के आने का इंतजार करने लगता है। थोड़ी देर बाद वहां पर एक ४ लड़के और ल़कियों की ग्रुप आती है। उन में से ३ लड़के और एक लड़की होती है। वह लोग एक दूसरे से बात चीत और हसी मजाक करते हुए कैंटीन के अंदर आजाते है। और वह लोग आरव के पीछे वाले टेबल पर जाकर आराम से बैठ जाते है। फिर कुछ खाने के लिए आर्डर करते है। आर्डर करने के बाद उनमें से एक लड़की जिसकी नाम नैना है वह सबसे थोड़ा दुखी होते हुए बोलती है कि “ यार इस बार भी हम लोगो को आरव के बिना निकालना होगा इस बार भी कॉलेज का एंट्रेस एग्जाम नहीं दिया होगा और इस साल भी हम लोगों को उसके बिना निकाल ना होगा। और वैसे वो भी उस लड़की के Bajah से उसने अपना पढ़ाई तक चोदने के लिए मजबूर होना पड़ा उस लड़की को कभी भी अच्छा ना हो और वो अपना सबक सीख जाए ”। इतना बोल कर वो चुप हो जाती है आखिरी की बात बोलते हुए उसकी टोन में काफी गुस्सा भरा हुआ था। उसकी ये बात सुन ने के बाद उन सबके फेस में को स्माइल थी वो गायब हो गई उसकी जगह एक निराशा मायूसी दुख और दर्द ले लेती है। और सब लोग एक दम से चुप हो कर बैठ जाते है। तो तभी सूरज चूपी ताड़ते हुए बोलता है कि हैं यार तेरी बात पूरा का पूरा सच है। मुझे ना अब ये आरव के ऊपर काफी गुस्सा अरहा है यार केसा लड़का है यह हमें अपना दोस्त बोलता है और जब हम उसकी मदद करने की कोशिश करते है। तभी वो हमे माना कर देता है मदद करने से। और खुद ही अपना सारा का सारा दुख अपने अंदर समा कर रखता है कभी भी किसी के सामने भी एक्सप्रेस तक नहीं करता। और वैसे भी उसके अपना डेढ़ साल उस लड़की के Bajah से खराब किया और उस बजाज से वो हमसे पिछले 7 से 8 महीनों में एक बार भी कॉन्टैक्ट तक नहीं किया। इतना बोलने के बाद वो भी पूरी तरह से चुप हो जाता है। और सब लोग अपना अपना सर नीचे करके आरव के बारे में सोच कर दुखी हो रहे थे। और मुंह लटका कर रखे हुए थे।
आरव जो कि उनके पीछे वाले टेबल पर बैठा हुआ था उनकी बात सुन ने के बाद और सबका अपने लिए प्यार और कंसर्न को देख कर उसका दिल खुशी से भर उठा और उसके आंखों में से दो बूंद अंशु नीचे गिर गया। वह अपने दिल में ही सोचता है कि की चलो आज इन लोगों की सारी की सारी गुस्सा संत करते है। वह भी इन लोगो के साथ प्रांक करके और मेरा इस कॉलेज में एडमिशन हुआ है। तो अपने दिमाग में हीं एक खुराफाती प्लान बनाया है और वजह रूम के और चलाजाता है अपने प्लान को एक्जीक्यूट करने के लिए।
वॉशरूम के अंदर जाने के बाद आरव अपने बैग से एक फायर क्राकर निकाल ता है। और लाइटर अपने हाथ में पकड़ता है ,और अपने पॉकेट से एक हड़ियों के ढांचा वाला रुमाल निकाल कर अपने चेहरे में बंद लेता है और फिर वहां से बाहर आकर उनके उल्टी दिशा में अपना सर करके खड़ा हो जाता है। और फिर सबढ़नी से फायर क्रैकर को जला कर थोड़ी दूर फेंक देता है और फिर एक बूम का आवाज़ होता जिसको सुन ने के बाद हर कोई दर जाता है और उस और देखने लगते है कि येसा क्यूं हुआ लेकिन जब वह लोग मुदके देखते है।
वहीं आरव इसी समय का वैट कर रहा था कि कब वो लोग उस और देखेंगे उसका ये प्लान सक्सेस होते हुए देख कर उसके फेस में स्माइल अजती है। और वो अपना टाइम वेस्ट ना करते हुए जल्दी से अपनी जगह से खड़े हो कर उनके टेबल के पास जाता है और उनकी और अपना सर करके रक्त है।
वहीं जब वो चारों देखते है कि वहां कुछ नहीं हुआ है तो फिर वो लोग अपना सर वहां से फर कर एक दूसरे से बात करने के लिए मुड़ते है और तभी आरव एक डरावनी चिक अपने गले से निकलता है। अपने सामने इतना डरावना फेस देख कर और इतना डरावना चिक सुन कर वो लोग बुरी तरह से दर गए वो लोग इतना ज्यादा दर गए थे कि नैना और सूरज के मुंह से चिक निकाल गई जिस बजाज से उन लोगों ने पूरे कैंटीन में बैठे हुए लोगो का ध्यान अपने और खींच लिए और सब लोग उनको घूरने लगे। वहीं आर्यन तो इतना ज्यादा दर गया था कि एक दम से चेयर से ही नीचे गिर गया। उन लोगों को इतना दर हुए देख कर आरव वहीं पर हीं जोर जोर से हंसने लगता है।

आरव को ऐसे हस्ट हुए देख कर उन सबको उसके ऊपर काफी ज्यादा गुस्सा अता है। वहीं बाकी सब लोगों को अब आरव के ऊपर काफी ज्यादा तरस आरहा था। उन लोगों को आरव के और तरस भारी नजर से देखने की वजह से एक नया स्टूडेंट्स अपने पास बले स्टूडेंट्स से पूछता है कि सब लोग क्यूं उसको तरस भारी नजर से देख रहे तो दूसरा लडको उसको बताता है क्यूं की वो जनता था कि ये चारो कितने खतरनाक है। वो उसे उनके हिस्ट्री बताता है कि इन लोगों को पूरे के पूरे दिल्ली के हर कॉलेज और यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स उनसे डरते थे। वहीं इतना हीं नहीं अफ़वा ये है कि दिल्ली के काफी गैंगस्टर भी इन लोगों के गैंग को डरते है। और पहले ये 5 लोगों का एक गैंग था। और इनसे पंगा लेने के लिए डरते थे क्यूं की अगर कोई इन से पंगा लेता था ता उसको ये लोग पूरी तरह से नंगा करके उसके इज्जत उतार देते है जिस बजह से वो आगे से किसी के भी सामने खड़े होने के लायक नहीं रहता था। और इन लोगों में से ये चार का background काफी स्ट्रॉन्ग है। और पांचवा जिसका नाम आरव है काफी खतरनाक है और वो इनका सबसे पावफुल मेंबर था। लेकिन जब से वो इन लोगों को चोड़ककर चला गया तो इनकी पॉवर थोड़ी कम गई तो लोग इनको दबाने में लगे लेकिन इनकी बैक्राउंड के Bajah से दबा नहीं पाए। लेकिन अब भी इनसे काफी लोग डरते है। और अब ये लड़का जाकर उनको डरता है और उनका मजा लेने लगा है तो इसको सब तरस भारी नजर से देखते है। तो वो लड़का एक दम शॉक हो कर देखता है और फिर चुप हो कर देख ने लगता है कि आगे क्या होता है।
और तभी वो लोग एक दम गुस्से से अपना लाल चेहरे लेकर आरव के और बढ़ने लगते है उन लोगों को अपने और गुस्से से आते हुए देख कर भी आरव घबराता नहीं और बस अपने चेहरे पे बांधा हुआ रुमाल निकाल लेता है। अपने सामने आरव को देख कर लोग एक दम शॉक हो गए उनके पास बोलने को कुछ शब्द नहीं थे और वो लोग अब बस वहीं पर जाम गए और अपने आंखों को बड़ा बड़ा करते हुए बस आरव को अपने सामने देखते हीं जा रहे थे। कभी सूरज चिलाते हुए बोलता है कि आरव क्या ये तू हीं है या फिर हम लोग अब कोई सपना देख रहे है। तो आरव उनसे बोलता है नहीं यार ये कोई सपना नहीं में सच में तुम्हारे सामने हीं खड़ा हुआ हूं।
तो सब लोग एक दम से जाकर उसके गले लग जाते और सब मिलके एक साथ एक टाईट ग्रुप हुग करते है। और फिर सब लोग अलग होते है और तभी सबको उसके पहले के काम के लिए और कुछ दर की काम के लिए काफी गुस्सा अता है। और सब मिलके उसको लेता कर मुक्को और लातो की बरसात करने लगे। आरव भी कुछ नहीं किया और उनको अपने ऊपर जितना गुस्सा है निकाल ने देता है। थोड़ी देर बाद सब लोग जब थक गए तब जाकर उसको chodte है। फिर उसको उठाते है मर मारने के Bajah से आरव का पूरा शरीर दर्द कर रहा था और उसका मुंह लाल हो गया था। वहीं उसको उठाने के बाद सब लोग उसके गले लग जाते है। और सब लोग इमोशनल हो गए थे। लेकिन नैना कुछ ज्यादा इमोशनल हो गई थी इस Bajah से उसने जाकर पहले आरव के गले लगती है और उसके गाल पे किस कर देती है। ये देख कर कैंटीन के सारे के सारे लोग और उसके दोस्त हैरान थे। यहां तक कि खुद आरव भी हैरान था इतना हीं नहीं कैंटीन के गेट पे खड़ी हुई सनाया भी काफी ज्यादा शॉक थी और उसके दिल में जलन की भावना ने जन्म ले लिया था।
तो आगे क्या होता है, क्या होगा जब आरव और सनाया फिर अमने सामने आयेंगे क्या बोलगी नैना अपने किस की कारण और क्या क्या होगा जानने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी इंतज़ार प्यार का..........
To be continued...........

Written by
unknown writer

रेट व् टिपण्णी करें

Usha Dattani Dattani

Usha Dattani Dattani 7 महीना पहले

Shreya Patel

Shreya Patel 7 महीना पहले