इंतजार प्यार का - भाग - 11 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 11

वहीं उनसे कुछ हीं दूर खड़ा हुआ आरव जब ये सुना तो उसकी पूरे के पूरे तन बदन में आग लग गई। और जिस वजह से उसका गुस्से का पारा भी हाई हो चुका था। ये सब सुन ने और देखने के बाद आरव गुस्से से आगे बढ़ने लगता है लेकिन तभी वो देखता है कि उनमें से एक लड़का हवा में उड़ते हुए जाकर कुछ हीं दूर पर गिरता है। सब लोग अब सनाया को घुर कर देखने लगते है। वहीं आरव भी सनाया को घूरने लगता है। क्यूं की ये चीज इतना अनेक्सपेक्टेड था कि कोई भी ऐसी चीज इमैजिन तक नहीं किया था। वो बस वहां पर खड़ा हो कर बस यूं लोगों को एक एक करके मर खाते हुए देखने लगता है। वो देखता है कि उनमें से एक लड़का अपने दोस्तों को कॉल करता है जिस bajah से वहां पर और 8 से 9 बंदे आगाए लेकिन सनाया को बिल्कुल भी फर्क नहीं पड़ा वो उन लोगो को भी बाकी के लगों कि तरह बुरी तरीके से घायल हो गए थे उन मेसे एक लड़का जो अब तक बच कर बैठा था वो देखता है कि सामने से एक पुलिस वैन रहा है। तो उसने एक चाकू को अपने पॉकेट से निकाल ता है। और फिर उसको लेकर सनाया को मारने के लिए दौड़ता है लेकिन तभी उसके मूह में एक इट आकर लगता है। जिस वजह से उसका जबड़ा हिल गया और वो वहां पर हीं नीचे गिर गया। सनाया भी बाकी बचे हुए आदमियों को पिट ने के बाद उस और mudke देखती है जिस और से वो इट अयी थी और जब वो मूड कर देखती है कि उसके सामने आरव खड़ा और उसने हीं उसको बचाया था तो उसको बड़ा तगड़ा झटका लगता है। और उसका फेस किसी पके हुए टमाटर की तरह लाल नजर आ रहा था। वहीं तभी वहां पर पुलिस आता है और उन लोगो को arrest करने के बाद अपने साथ पुलिस station ले जाते है फिर वहां पर वो लड़की अति है और उसको thank you बोलती है फिर अपने काम में निकल जाती है।
वो लड़की के वहां से जाने के बाद आस पास में जो भी लोग भीड़ लगा कर खड़ी हुए थे वो भी अपने अपने काम में चले गए। लेकिन सनाया अभी भी वहां पर आरव की और अपना मुंह नीचे करके खड़ी हुई उसका फेस भी पूरी तरह से लाल हो गई थी। वो अभी काफी प्यारी लग रही थी। वो अभी किसी 5 साल की बचे की तरह लग रही थी जो की अपने गलती पकड़े जाने के बाद अपने मम्मी के पास अपना सर नीचे करके खड़ा होता है। अभी सनाया बिल्कुल ऐसी लग रही थी उसको ऐसे देख कर आरव का दिल जोर जोर से धड़कने लगा अपने दिल को ऐसे जोर जोर से धड़कने हुए देख कर आरव को शॉक लगता है क्यूं की आज पहली बार किसी लड़की को देखने के बाद उसका दिल धड़क रहा था। फिर वो अपने आपको संभालता है और अपने धड़कन को कंट्रोल किया और एक नजर सनाया को देख कर वहां से अपने कॉलेज के लिए निकल जाता है।
वहीं सनाया आज काफी शर्मिंदा महसूस कर रही थी की क्यूं की वो कभी भी अपना ये रूप आरव के सामने लाना नही चाहती थी। क्यूं की वो अपने मन हीं मन में आरव को बेहद पसंद करती थी सिर्फ पसंद नहीं वो उसको प्यार करने लगी थी। वो भी दूसरी नॉर्मल लड़कियों की तरह चाहती थी की उसकी भी एक ब्वॉयफ्रेंड हो जो की उसका खयाल रखे उसको हर किसी से बचाके रखे , उसको बेहद प्यार दे , उसको पैंपर करे , उसको घूमाने ले चले , उसके साथ काफी टाइम स्पेंड करे। लेकिन आज उसको आरव ने उसको ये रूप में देख लिया जिस bajah से वो उसको पसंद नहीं करेगा ये सब सोच सोच कर उसको अब उसकी किस्मत पर रोना आता है। लेकिन फिर वो ये सब चीज अपने mind से निकाल कर आरव को देखने लगी जब उन इसको देखने के लियापना सर उठाया तो उसने देखा कि आरव भी वहां से अपने कॉलेज की और जाने लगता है। तो सनाया जल्दी से जाकर उसके सामने खड़ी हो जाती है। लेकिन आरव उसको इग्नोर करके उसके साइड से आगे बढ़ जाता है। लेकिन सनाया फिर से उसके सामने आकर खड़े हो जाता है लेकिन इस बार भी आरव उसको इग्नोर करके साइड से निकाल जाता है। लेकिन सनाया फिर भी और दो बार उसको रास्ता रोकती है तो आरव को काफी गुस्सा अजाता है। और वो अपने उसी गुस्से में हीं सनाया से पूछता है की क्यूं ए उसको वहां से जाने नहीं दे रही हे और अगर उसको कोई प्रॉब्लम ही तो मुझे बता शक्ति हो तो सनाया थोड़ी हिचकिचाते हुए आरव से बोलती है की मुझे तुमसे कुछ बोलना हे तो ये सुन ने के बाद भी आरव कुछ ज्यादा रिएक्ट नही करता है वो बस अपने एक्सप्रेशन less फेस के साथ सनाया की और देखने लगा तो सनाया ने उसको बोला की , “ I am sorry कल के लिए में बस कुछ मजाक कर रही थी में तुम्हारा इंसल्ट करने की बिल्कुल भी कोशिश नही कर रहा था वो बस मजाक मजाक में हीं मेरे मन से निकल जाता है इसी वजह से t please मुझे माफ़ कर देना ” वो ये सब बोलते वक्त देखने में काफी प्यारी और cute लग रही थी। उसको ऐसे देख कर किसी का भी दिल पिघल जाए। ये बात सुन ने के बाद भी आरव कुछ रिएक्ट नही करता बस अपने collage की और चला जाता है। इस बार सनाया भी उसको रोकती नही है क्यूं की वो आरव से को बोलना चाहती थि वो बोल दिया। और अब बस उसका आंसर जानना चाहती थी जो की वो कॉलेज जाने के बाद भी जान शक्ति थी।
वहीं आरव वहां से निकल ने के बाद तकरीबन 15 में के बाद कॉलेज के में गेट से इंटर होता है। कॉलेज का एनवायरमेंट देखने के बाद आज उसको कुछ अजीब लगा फिर वो उन सबको इग्नोर कर दिया। वहीं आज आरव को देखने के बाद सारे के सारे स्टूडेंट्स उसके लिए रास्ते चोद दे रहे थे। वो लोग आज आरव को रिस्पेक्ट दे रहे थे। लेकिन आरव उन सबके आंखों में खुद के लिए दर देख पा रहा था । लेकिन उसने ये सब बातों को इग्नोर किया और क्लास में जाने लगा। लेकिन जब वो क्लास में पहुंचा तो देखा की आज क्लास के सब के सब स्टूडेंट उसको डर के साथ देख रहे थे। जो स्टूडेंट कल उसको घृणा और नफरत के भाव से देख रहे थे आज वो लोग उसको डर के भाव से देख रहे थे लेकिन वो ये सब भी इग्नोर कर कर अपने क्लास के अंदर घुस गया लेकिन जब उसने क्लास के अंदर गया तो देखा की सनाया उससे आगे आकर उसके साइड वाले बेंच पर बैठी हुई थी। लेकिन आज उसने उसको कुछ नही कहा और सीधे जाकर अपने टेबल पे बैठ गया। उसके बैठने के बाद फिर सनाया उसके आगे जाकर उसको बोलती है की, ” प्लीज कल।के लिए मुझे माफ करदो” वो इससे आगे कुछ बोलती की तभी आरव उससे बोलता है की मैने तुम्हे माफ किया अब तुम जा शक्ति हो। तो सनाया एक दम शॉक हो जाती है क्यूं की उसने कभी उम्मीद नहीं किया था की उसकी बात पूरी होने से पहले हीं उसने उससे माफ कर दिया सनाया अब आगे कुछ नही बोलती है और वहां से उसको thank you बॉल कर चली जाती है। वहीं आज पूरा का पूरा क्लास आराम से कटा और सब स्टूडेंट्स आराम से अपना पढ़ाई कर रहे थे। आज का दिन आरव के लिए आराम से निकल गया। क्लास खत्म होने के बाद सब बचे एक एक करके क्लास से बाहर चले जाते है। आरव और सनाया भी क्लास से चले जाते है आरव भी अपने हॉस्टल की और चला जाता है।
वहीं आरव के चार दोस्त मिलकर कैंटीन में बैठ कर बात कर रहे थे। वो लोग वहां पर बैठ कर आरव को मनाने के लिए जो भी प्लान बनाए थे उसके बारे में बात कर रहे थे। उन होने आज आरव को काफी बार कॉन्टैक्ट करने की कोशिश भी किए लेकिन उसने उन सबको इग्नोर कर दिया। उन्होंने एक एक करके काफी बार आरव को कॉल किया मैसेज की लेकिन आरव ने किसी का भी कोई भी जवाब नहीं दिया। उन होने उसके साथ मिलने की काफी कोशिश की लेकिन आरव ने उन कोशिशों को सक्सेस होने नही दिया जब भी उसने अपने रास्ते में इन चारो में से किसी को भी देखा तो अपना रास्ता हीं बदल दिया। कॉलेज में भी काफी बार उससे बात करने की कोशिश की लेकिन वो भी फेल हो गया। वो लोग आज क्लास भी न जाकर आरव को कॉन्टैक्ट करने की पूरी की पूरी कोशिश की लेकिन वो लोग फेल हो गए उससे कॉन्टैक्ट करने में। जब उनको पता चला कि आरव अपने हॉस्टल के लिए चला गया तो वो लोग पूरी तरह से मायूस हो गए। लेकिन फिर भी वो कैंटीन में बैठ कर अपने प्लान के बारे में discuss करने लगते है। तभी नैना सब से बोलती है की हम सब काम कर चुके है लेकिन आरव को वहां केसे लाया जाए। तो सब एक बार फिर सोच में पड़ जाते ही क्यों की आरव को लाना इतना भी आसान नहीं होगा । तो सब लोग बैठ कर प्लान सोचने लगते है और तभी सूरज सबसे बोलता है की मेरे पास एक प्लान है। तो सब लोग उसके और आस भरी नजर से देखते ही तो सब को वो अपना प्लान बता देता है।
तो क्या प्लान बताया सूरज ने? सूरज का ये प्लान सक्सेस होगा या नहीं? तो केसा प्लान बनाया हे उसके दोस्तों ने जानने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी intezar Pyaar ka.....
To be continued............
Written by
Unknown writer

रेट व् टिपण्णी करें

सबसे पहले टिपण्णी लिखें