इंतजार प्यार का - भाग - 13 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 13

तो उसके बाद सब लोग मिलकर सोफे पर बैठते हे और थोड़ी देर तक बातचीत करते है। बात चीत करने के बाद सूरज सबसे बोलता है की चलो यार सब शॉट out हो गया तो चलो पहले की तरह पार्टी करते है तो सब हां बोलते तो नैना और सूरज मिलकर किचन की और चले जाते। वहां से जाने के 15 min बाद वो सब के लिए चिकन बिरियानी और चिल्ड बीयर लेके आते है। और सब बैठ कर बिरियानी और चिल्ड बीयर की मजा उठाने लगते है। ऐसे हीं थोड़ी देर के बाद आरव सब से बोलता है की यार में यहां पर आया केसे कोई बता शक्ति हे क्या मुझको कुछ याद नहीं अराहा है। तो उसकी ये बात सुन ने के बाद उन सबकी जान जैसे हलक में अटक गई। और सबकी मुंह से एक भी शब्द नहीं निकाल ता है। सब लोग सोचे थे की आरव अब तक वो सब बातों को भूल गया होगा। लेकिन आरव के इस सवाल को सुन ने के बाद उनके फेस सफेद पड़ गया। और वो डर के भावना के साथ आरव की और देखने लगे।
सबको अपने और ऐसे डर के मारे देखते हुए और सबके मुंह से रंग उड़ा हुआ देख कर आरव को उनके ऊपर शक होने लगा। तो उसने अपने दोस्तों की और थोड़ी शक भारी नजर से देखने लगा उसको अपने और ऐसे शकी नजर से देखता हुआ देख कर सब डर गए और कोई भी कुछ भी जवाब नहीं दिया किसी को भी जवाब ना देता हुआ देख कर आरव को गुस्सा आजाता है। और इस बार उसने थोड़ी शक्ति के साथ उन सब से पूछता है कि क्या हुआ कोई कुछ मुझे बता क्यों नहीं रहा है। तो फिर से वो लोगों बुरी तरह से डर गए और घबराने लगे। लेकिन सूरज थोड़ा हिम्मत करके बात बदलने की कोशिश करते हुए आराम से पूछता है की आरव तूने तो हमें बताया ही नहीं कि तूने इस कॉलेज में कैसे join किया और हमें तूने अपने इस 1 साल की कहानी के बारे में भी तूने कुछ नहीं बताया कुछ बताना हम लोगों को जल्दी से पहले जब हमने तुझे पूछा था लेकिन तूने बात को टाल दिया था प्लीज इस वजह से इस बार तो बता दे। उसकी यह बात सुनने के बाद आरव एकदम गुस्से से आगबबूला हो जाता है । और गुस्से से दहाड़ता हुआ सूरज की ओर बढ़ता है और सूरज की और बढ़ते हुए ही उससे बोलता है की मैं जानता था यह प्लान तेरा ही होगा इतना घटिया प्लान तेरा ही हो सकता है। इतना बोल कर आरव उसकी और बढ़ने लगता है। वही सूरज का तो आरव को आपने और आता हुआ देख कर ही डर के मारे बुरा हाल हो जाता है। और उसके माथे से पशिना बहने लगता है लेकिन फिर भी जैसे तैसे खुद को संभालता है लेकिन जब उसके मुंह से वह बात सुनता है तो वह एकदम से उसका सर चकरा जाता है क्योंकि उसने जो काम किया ही नहीं उसके लिए उसको सजा मिलने वाला था। वही आरव को इतने गुस्से में देख कर सिर्फ सूरज ही नहीं वहां पर कमरे में बैठा हुआ हर कोई एकदम डरा हुआ था खासकर आर्यन क्योंकि यह प्लान उसी का था इसी वजह से उसको आरव से अब और भी डर लगने लगता है क्योंकि वह जानता था यह प्लान को जानने के बाद आरव उसको छोड़ने नहीं बोला था उसका हालत बुरा करने करने के बाद ही उसे छोड़ता।
वहीं आ रहा सूरज के पास पहुंच जाता है और उसके पास पहुंचने के बाद उसको उसके शर्ट की कॉलर पकड़ कर ऊपर उठा लेता है और गुस्से में उससे पूछ रहा है जल्दी से तेरा ये वाहियात प्लान मुझे बता दे वरना तेरे लिए अच्छा नहीं होगा जल्दी से सच-सच बता वरना आज मेरे से बुरा तेरे लिए और कोई नहीं होगा। और तब तक नहीं छोडूंगा जब तक तु मुझे सच नहीं बता देता। इतना बोलने के बाद वह अपने हाथ का मुट्ठी बनाकर उसके और मुक्का मारने के लिए अपना मुठ्ठी बढ़ाता है। यह देखकर सूरज पूरी तरह से घबरा गया और जल्दी से बोलता है कि अरब यह मेरा नहीं यह आर्यन का प्लान है उसी नहीं है प्लान किया है और इसी को ही प्लान के बारे में पूरा पता हे। उसने हम लोगों को भी कुछ ज्यादा नहीं बताया था।
तो आर्यन सूरज को छोड़ता है और आर्यन की ओर बढ़ने लगता है वही आर्यन को आपने और आता हुआ देख कर आर्यन का तो डर के मारे बुरा हाल हो जाता है। और वह पूरी तरह से घबरा जाता है। और डर के मारे कांप भी रहा था लेकिन जब उसने आरव को उसके पास आता हुआ देखता हे तो जल्दी से उसे रोकते हुए बोलता है अरे आरव रुकजा रुक जा मैं तुझे सब सच बता रहा हूं प्लीज मुझे कुछ मत करना प्लीज यार माफ कर दे मुझे इतना बोलने के बाद वह चुप हो जाता है। तो आरव भी वहां पर खड़ा हो जाता है और उसकी और देखने लगता है मानो जैसे बोल रहा हो, मुझे सब सच सच बता तो वही आर्यन का अभी भी डर के मारे बुरा हाल था तो फिर उसने खुद को संभालते हुए बोलता है कि आर्यन यह प्लान मेने हीं बनाया था।
आर्यन इतना बोलने के बादआरव की ओर देखने लगता है वही आरव आराम से एक जगह पर खड़े होकर उसकी बातें सुन रहा था उसको ऐसे देखकर आर्यन के सांस में सांस आती है और उसकी दिल को थोड़ी तसल्ली भी मिलती है फिर थोड़ी देर रुकने के बाद उसने अपना पूरा का पूरा प्लान कहने का शुरू किया।


फ्लैशबैक

हम लोग बैठकर कैंटीन में तुझे यहां पर बुलाने का प्लान सोच रहे थे क्यूं की हमने तुझे कितना कॉल किया , मैसेज किया लेकिन तुमने किसी का भी कोई भी जवाब नहीं दिया जिस वजह से हम लोग तुझे यहां लाने के लिए वहां बैठकर एक प्लान सोच रहे थे। तभी सब लोगों ने अपना अपना प्लान बताया लेकिन किसी के भी प्लान में इतना दम नहीं था कि वह तुझको यहां बुला सके लेकिन तभी मेरे दिमाग में idea आया और मैंने सब को बताया कि हमारे पास बस एक ही रास्ता है लेकिन वह काफी डेंजरस और खतरनाक है । इसके वजह से हमें और अब से मार भी खाना पड़ सकता है लेकिन यह हंड्रेड परसेंट सक्सेसफुल होगा। यह सुनने के बाद सब लोग मेरे ओर देखने लगे मैंने सब को अपने पास बैठा कर उन्हें उनको बोलना शुरू किया हमारे पास जो रास्ता है उसका नाम है किडनैपिंग। हम लोग बस किडनैप करके हीं आरव को यहां पर ला सकते हैं यह सुनने के बाद सब लोग मेरे और एकदम शॉक्ड और डरे हुए नजरो से देखने लगे फिर भी मैंने खुद को संभालते हुए सबको प्लेन बताना शुरू किया।
वह सब को बताते हुए बोलता है कि आज के ही दिन शाम को 6:00 बजे हमेशा आरब मंदिर जाता है। तो हमारे पास आज उसी टाइम का वक्त है जिस वक्त कि हम उसको किडनैप कर सकते हैं तो विक्रम उससे बोलता है कि तेरा प्लान तो ठीक है लेकिन इन 1 साल के अंदर अगर उसने मंदिर जाना ही बंद कर दिया होगा तो हम लोग क्या कर सकते हैं। अगर उसने को किडनैप केसे करेंगे हम लोग। तो आर्यन उसको बोलता है कि पता नहीं यार हमारे पास इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं। जहां तक मुझको पता हे की वो कभी भी मंदिर जाना बंद नही कर सकता। अब बस भगवान से उम्मीद रखो अगर होगा तो हमें वह मिल जाएगा वरना हमें कुछ और प्लान सोचना पड़ेगा यह सब बोलकर और सब को सब कुछ समझाते हुए बोलता है। फिर सब लोग फिर अपना प्लान के बारे में थोड़ा डिस्कस करते हैं फिर वहां से अपने कार में बैठकर अपने घर चले जाते हैं।
शाम के 5:30 बजे आरव अपने हॉस्टल रूम में बैठकर पढ़ाई कर रहा होता है कि तभी उसके फोन में अलार्म बजती है और वह वहां से उठकर आलम चेक करता है। फिर वहां से अपने कुछ कपड़े ले कर बाथरूम की ओर चला जाता है। और फिर थोड़ी देर बाद रेडी होकर बाहर आता है और टाइम देखता है अब तक 5:00 बज के 45 मिनट हो चुके थे। इसी वजह से वह अपना फोन लेता है और अपने बाल को सेट करते हुए वहां से मंदिर जाने के लिए निकल जाता है। वह जब बाहर आता है तो वह अपने रूम मेट सिसिर से मिलता है जो कि कहीं से अभी वापस आ रहा था तो आरव उसको हाय बोलता है तो शिशिर उससे बोलता है की हाय दोस्त कहां जा रहे हो तो आरव उसको जवाब देते हुए बोलता हे की हां मंदिर जा रहा हूं।
फिर उसकी और अपने रूम की चाबी उछाल देता है और सिसिर भी लपक कर उस चाबी को पकड़ लेता है। और आरव उसको बाय बोल कर वहां से चला जाता है पूरे कॉलेज में उसके दोस्तों के अलावा सिसिर सिर्फ एक ही लड़का है जो कि उसके साथ दोस्ती बना रखा है और उसके साथ बेफिक्री के साथ बातचीत करता है। और वह दोनों इन कुछ दिनों से काफी अच्छे दोस्त भी बन चुके थे क्योंकि वह दोनों एक ही रूम में एक साथ रहते थे। वहीं आरव वहां से सिसिर को बाय बोल कर वहां से निकलकर मंदिर की रास्ते में जाने लगा। उसको यह आदत उसकी मां की वजह से लगी है क्योंकि वह जब बच्चा था तो उसके मां उसको अपने साथ आज के हीं दिन हर हपते मंदिर लेकर जाती थी। जिस वजह से वह हमेशा ही मंदिर जाता रहता था वही उसको मंदिर पर थोड़ा शांति मिलती थी वहीं आज उसको जाते हुए कुछ अलग मेहसूस हो रहा था उसको लग रहा था की कोई आज उसका पीछा कर रहा हो। तो वह थोड़ा सावधानी से मंदिर की ओर चलने लगता है वह मंदिर जाने के बाद पहले मंदिर के बाहर अपना चप्पल उतारता है। फिर भगवान के लिए प्रसाद लेकर वहां से सीधे मंदिर के अंदर जाना जाने लगता है। फिर वह भगवान को प्रसाद चढ़ा कर उनसे आशीर्वाद मांग कर बाहर आ जाता है। बाहर आने के बाद पहले जाकर अपना पैर धोता है फिर अपना चप्पल पहनकर बाहर प्रसाद को पैक करवाता है। पैक करवाने के बाद वह अपने घर में कॉल करता है और अपने मां और पिता से बातचीत करने लगता है तकरीबन 15 मिनट के बाद वह अपना फोन रखता है । और रखने के बाद वहां से अपने घर के लिए निकल जाता है। तभी उसको प्यास लगती है जाकर पास में ही एक दुकान पर पानी खरीदता है।और पानी पीने लगता हे। लेकिन तभी जब वो पानी पी रहा होता है तभी एक लड़का आकर उससे टकरा जाता है और उसको इंजेक्शन धीरे से लगाकर वहां से चला जाता है जिस वजह से आरव को थोड़ा दर्द होता है तो वह उस लड़के को कुछ बोलने के लिए अपना मुंह खोलकर कुछ बोलने ही वाला होता है। कि तभी उसका सर चकराने लगा और वह बेहोश होकर वहीं पर ही गिर जाता है। कि वहां पर गिरने के बाद वहां पर एक वाइट कलर की suv आती है और उसमें से तीन आदमी निकलते हैं। और आरव को उस कार में डालकर वहां से जल्दी से लेकर चले जाता है । और उसको आर्यन की फैमिली की फार्म हाउस में लेकर आता हे। और फिर बाकी सबको पता हे इतना बोलने के बाद आर्यन चुप हो जाता हे और सब की और देखने लगता हे।
आर्यन के मुंह से पूरी की पूरी बात सुनने के बाद सिर्फ आरव ही नहीं बल्कि वहां उस रूम में खड़े हुए हर कोई एकदम दंग होकर आर्यन की ओर देख रहे थे। वह लोग आर्यन को बस अविश्वास भरी नजर से घूर रहे थे। क्योंकि आर्यन ने प्लान ही कुछ ऐसा बनाया था। और वही उस प्लान के ऊपर विश्वास करना हर किसी के लिए एक तरह से इंपॉसिबल था क्योंकि एक कॉलेज का स्टूडेंट कभी भी एक लड़के को किडनैप करने के लिए इतना शातिर और इतना खतरनाक प्लान कभी बना नहीं सकता था। लेकिन फिर भी उन लोग को उस शौक से उबरने के लिए कुछ टाइम लग जाता है।
तो आगे क्या होता है आर्यन के मुंह से पूरी की पूरी बात जानने के बाद आरव आर्यन के साथ क्या करेगा उसके दोस्त आर्यन को आरव से छुड़वा आएंगे या फिर आर्यन आरव का हाथ से बुरी तरह से पीट एगा का क्या होगा जानने के लिए पढ़ते रहिए वरना यह कहानी इंतजार प्यार का.......
To be continued.............


Written by
Unknown writer


रेट व् टिपण्णी करें

सबसे पहले टिपण्णी लिखें