इंतजार प्यार का - भाग - 35 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 35

वही थोड़ी देर बाद मेघा भी अपने आप को फ्रेश कर कर रूम के अंदर आ जाती हे। और देखती हे की नैना अभी भी उसकी हीं वेट कर रही हे तो वो जल्दी से उसके पास जाती हे। और फिर बोलती हे की, “ आप सोई नहीं सो जाइए और कल क्या आप को घूमने नहीं जाना हे क्या फिर सब लोग बोलेंगे की फिर से लड़कियां लेट करती हे। ” तो नैना उसको कुछ नही कहती बस उसकी और देखती हे। और वो देखती हे की मेघा आपने आप को संभाल ने के लिए किस तरह से झूंज रही हे। और खुद को खुस रखने की नाकाम कोशिश कर रही हे। और फिर वो उसको अपने पास बोल बुला कर उसको अपने सीने से लगा लेती हे। जिस वजह से पहले मेघा शॉक हो जाति हे। लेकिन फिर वो वैसे हीं नैना के सीने से लगे हुए हीं रोना आरंभ कर देती हे। और वैसे हीं रोते हुए सो जाती हे। उसको ऐसे देख कर नैना को काफी ज्यादा बुरा लगता हे। और फिर वो अपने दिल में खुद से बोलती हे की में जरूर तुम दोनो को मिलाऊंगा। फिर वो भी उसको अपनी जगह पर आराम से लेटा कर सो जाती हे। वहीं सनाया और sirisha का भी अच्छा बॉन्डिंग बन गई थी। और वो दोनो भी एक दूसरे के अच्छे दोस्त बन चुके थे। और थोड़ी देर तक बात करने के बाद वो लोग भी सो जाते हे।
अगले दिन सुबह का वक्त -
जब आरव का नीद टूटता है तो वो देखता हे की बिक्रम अभी तक वहां पर सोया हुआ था। तो वो जल्दी से अपने फोन में टाइम देखता हे की कितना बजे हे। तो वो देखता हे की अभी सुबह के 8 बज चुके हे। तो वो जल्दी से उठ कर बैठ रूम में जाता हे। और थोड़ी देर बाद रेडी होकर बाहर आता है। बाहर आने के बाद वह देखता है कि विक्रम अभी तक सोया हुआ है। तो वह जल्दी से उसके पास जाता है और उसको उठाते हुए बोलता है विक्रम उठ 9:00 बज चुके हैं आज हमें बाहर भी जाना है। तो विक्रम भी कसमसाते हुए उससे बोलता है की रुक ना यार। थोड़ी देर और सोने देना प्लीज। तो फिर आरव कुछ देर तक कुछ सोचने के बाद उसको बोलता हे की अबे यार देख चूहा। तो विक्रम एकदम घबरा जाता है। और वह घबराते हुए जल्दी से bed se उठ कर उसके ऊपर कूदने लगता है। और उसकी ये हालत देखकर आरव अपने हंसी को रोक नहीं पाता। और जोर जोर से हंसने लगता है। उसको ऐसे अपने ऊपर हंसता हुआ देखकर विक्रम समझ जाता है कि अरब ने उसको झूठ बोला है। तो वह गुस्से से अरब की ओर घूरने लगता है। वहीं आरव अभी भी अपने पेट को पकड़ कर हंसे जा रहा था। विक्रम जब ये देखा तो उसको और भी ज्यादा गुस्सा आ जाता हे और वो जल्दी से ऊपर कूद कर उसको बेड पर गिरा कर उसको मारने लगता है। आरव भी उसे रोकने की कोशिश करने लगता है। लेकिन रोक नही पाता। इसी के धमा सान के चक्कर में पूरा रूम तहस नेहस हो गया था। फिर थोड़ी देर बाद विक्रम शांत होकर साइड में बैठ जाता है। और बोलता है क्या यार सुबह सुबह मेरी नींद खराब कर दी घर में तो मां सोने नहीं देती और तू इधर। तो आरव धीरे से अपने हाथ और पीठ को सीधा करते हुए बोलता है कि आज हमें घूमने भी जाना है क्या यहां पर सोने के लिए आए हैं। तो विक्रम बोलता अच्छा ठीक है। तू जा ब्रेकफास्ट ऑर्डर कर मैं तब तक बाथरुम में फ्रेश होकर आता हूं। इतना बोलने के बाद वह वहां से चला जाता है और आरव भी बाहर चला जाता है। और सब को उठाने के लिए एक एक के कमरे में जाने लगता है। वह पहले सूरज और आर्यन के कमरे में जाता हे। तो देखता हे की रू की गेट अंदर से बंद नहीं हुआ हे। तो वो सीधा रूम के अंदर चला जाता हे। जब वो सूरज और आर्यन के कमरे के अंदर पहुंचता है। तो देखता है कि आर्यन और सूरज एक दूसरे को पकड़ कर सोए हैं। यह देखकर आरव बहुत शॉक हो जाता हे। और जल्दी से रूम से बाहर चला जाता है। उसको लगता हे की वो गलत कमरे में आ गया हैं। तो वो जल्दी से चेक करता है की ये रूम आरव का हे या फिर नहीं। जब उसको कंफर्म हो जाता हे की ये उन लोगो का हीं रूम हे तो वो जल्दी से अन्दर आ जाता हे। लेकिन उसको इस बार उन दोनो की सोने की पोजिशन को देख कर काफी हंसी आती है। और वह जल्दी से उन दोनो के पास जाकर उनकी एक फोटो खींच लेता हे। और फिर उस फोटो को उन लोगों की फ्रेंड ग्रुप में भेज देता है। और अपनी हंसी को कंट्रोल करते हुए उन दोनों को उठाने की कोशिश करने लगता है। लेकिन जब वो लोग नही उठे तो वो उन लोगो को फिर से उठाने की कोशिश कर रहा था। तभी उन दोनों को इसी पोजीशन में फिर से देख कर और अब अपने हंसी को कंट्रोल नहीं कर सका और बहुत जोर जोर से हसने लगा। उसकी हंसने की आवाज सुनकर आर्यन का नींद भी टूट जाता है। और फिर जब वह उठता हैं तो खुद को सूरज की इतने करीब देकर एक दम शॉक हो जाता हे। और यह देखकर आर्यन तो शौक के मारे एक दम चिलाता हे। जिस वजह से सूरज का भी नीद टूट जाता हे। और वो उठ कर बैठ कर आर्यन को कुछ कहने हीं वाला था। की तभी आर्यन सूरज को एक लात मारता है जिस वजह से वह सीधे जाकर फर्श में गिर जाता है। यह देखकर आरव अब अपने हसी को और कंट्रोल नही कर पाता और फिर उनके सामने हीं जोर जोर से हंसने लगता है। अभी सूरज आर्यन को कुछ कहता की तभी उन दोनो को किसी के जोर जोर से हसने की आवाज आती हे तो दोनों जब मुड़कर देखते हैं कि कौन हंस रहा है तो वह लोग देखते हैं कि आरव को उनके रूम के अंदर आकर उनके ऊपर हंस रहा है यह देखकर उन दोनो को पहले तो काफी बड़ा शॉक लगता और फिर उन दोनो को काफी गुस्सा आता हे। और वो लोग उसी गुस्से के साथ आरव से पूछते हे की तू केसे अंदर आया। तो आरव अपनी हसी को दबाते हुए और अपने आई ब्रो को मिलाते हुए बोलता हे की सोने से पहले दरवाजा तो बंद कर देते। ये सुन कर सूरज को एक दम याद आ जाता हे। की उसने आते वक्त कमरे को बंद नहीं किया होता हे। और उसको थोड़ा शर्मिंदगी फील होता हे। वहीं आर्यन सूरज को घूर घूर कर देखने लगता हे। वहीं बात को बदलते हुए सूरज आरव से पूछता हे की तू यहां पर क्यों आया है तो आरव उसको बताता हे की वो यहां पर उनको ये बताने आया था की जल्दी से रेडी हो जाओ थोड़ी देर बाद तुम्हारा ब्रेक फास्ट रूम के अंदर आयेगा और 11 बजे तक दोनों को नीचे आना होगा। इतना बोलने के बाद वो उन दोनो को अजीब सी नजर से देखने लगता हे। तो आर्यन समझ जाता है की वो उसको ऐसे क्यों देख रहा हे। तो वो उसको जल्दी से बोलता हे की हां यार हम अजायेंगे अब तू जा। ये सुन ने के बाद अरब उन दोनो को थोड़ी देर तक घूरता हे। फिर वो वहां से चला गया।
उसके वहां से जाने के बाद आर्यन जल्दी से दरवाजा को लॉक करता है। लॉक करने के बाद वह सुरेश की और गुस्से से घूरने लगता है। वही सूरज अभी भी नीचे बैठा हुआ था। और आर्यन के इस तरह से घूरने की वजह से वह जल्दी से खड़ा होकर बेड के ऊपर बैठ जाता है। और आर्यन की ओर घूरने लगता है। जो कि उसकी और गुस्से से घूर रहा होता है। तो वह उसको पूछता है वह घूर क्यों रहा है तो आर्यन उसके पास आता है। और उसको पकड़ कर मारने लगता है। उसको खुद को मारते हुए देखकर सूरज उसको रोकने की कोशिश करता है। लेकिन आर्यन रुकता नहीं थोड़ी देर बाद आर्यन थक जाता है। और उसकी और घूरते हुए पूछता है की तू मेरे बेड पर क्या कर रहा था। तो सूरज एकदम से हकलाने लगता है। और वह वैसे ही हकलाते हुए बोलता है। वह कुछ नहीं यार बस वैसे ही। तो आर्यन उसकी और गुस्से से घूरने लगता है। जिस वजह से सूरज डर जाता है। और वह डरते हुए ही उसको बताता है कि वह बात ही है कि कल मैंने रात को एक बुरा सपना देखा था जिस वजह से मुझे काफी डर लग रहा था। और मुझे नीद भी नही आ रही थी। जिस वजह से मैंने जाकर तेरे पास सो गया। आई एम सॉरी अगर तुझे बुरा लगा हो तो।इतना बोल कर वह चुप हो जाता है और अपना सर नीचे कर लेता है। वही सूरज की बात सुनने के बाद आर्यन को ही थोड़ी राहत मिलती है। और वह फिर से कुछ याद कर के गुस्से से बोलता है की तूने दरवाजा क्यों बंद नहीं किया था। तो सूरज थोड़ा डरते हुए और हिचकिचाते हुए बोलता है की नहीं यार भूल गया था माफ कर दे। तो आर्यन उसको फिर से गुस्से से घूरते हुए बोलता है अगर आरव के जगह कोई लड़की होती क्या और कोई होता तो क्या समझता हमें। तो सूरज एक बार फिर से शर्मिंदा हो जाता है। और वह फिर से आर्यन को सॉरी बोलने लगता है। आर्यन भी उसको कुछ नहीं बोलता और बाथरूम में चला जाता है फ्रेश होने के लिए। और सूरज अभी भी वहीं बैठा हुआ था कि तभी उनकी डोर की बेल बजती है। जब जाकर वो दूर खोल के बाहर देखता हे तो वहां पर रूम सर्विस का स्टाफ नाता लेकर खड़ा हुआ था। और फिर वो स्टाफ उसको गुड मॉर्निंग विश करता है और उसको nasta देता है। तो सूरज जल्दी से जाकर नाश्ता लाता है और टेबल पर रख देता है। फिर आर्यन बाथ रूम से बाहर आने के बाद वह भी फ्रेश होकर आता है। और फिर दोनों मिलकर नाश्ता करने लगते हैं। वही आरव उन दोनों के पास से फिर लड़कियों के पास जाता है और उन सब लोगों को भी बोल देता है कि 11:00 बजे तक नीचे आकर रेडी होने को और सब बोलता हे। और फिर उन लोगों को जरा अपना व्हाट्सएप भी चेक कर लेना इतना बोलने के बाद वह वहां से हंसते हुए चला जाता है। उसको ऐसा हंसते हुए देखकर वह चारों लड़कियां काफी शौक हो गई थी क्योंकि आरव को हंसते हुए देखना बहुत मुश्किल से मिलता है। फिर वो लोग भी अपना अपना whatsaap चेक करते हे। वो जाकर उनकी ग्रुप की मैसेज देखते हे। वो मैसेज देखने के बाद वो लोग काफी शॉक हो गए और उनका फेस एक दम लाल हो गया था। क्यूं की अरब ने ऐसे एंगल से फोटो क्लिक करी थी की कोई भी गलत समझ ले। फिर वो लोग जल्दी से उस फोटो को बंद कर देते हे। और फिर अपने काम में लग जाते हे।
होटल के लॉबी में
सब लोग एक एक करके नीचे आने लगते हैं। और वहां जाकर पास में पड़े सोफे पर बैठ जाते है। अब तक वहां पर आरव सनाया विक्रम सिरीशा मेघा और नैना आ गए थे। बस आर्यन और सूरज का ही आना बाकी था। थोड़ी देर बाद वह लोग भी नीचे आ जाते हैं ।नीचे आने आते वक्त वह लोग मेहसूस करते हैं कि सारे के सारे लोग उन लोगों को कुछ अजब नजर से ही घूर रहे थे। यह देखकर उन सब को अजीब लगता है। लेकिन कोई भी किसी को कुछ नही कहता। और वह लोग एक दूसरे की ओर देखते हैं और फिर खुद के कपड़े और फेस को देखने लगते हे कि कहीं कुछ लगा तो नहीं। जब उनको महसूस होता है कि उनके कपड़े में या फिर फेस में कुछ खराबी नहीं है। तो वह लोग वहां पर जाते हैं और थोड़े कंफ्यूज नजरों से सबकी और देखते हुए सब से पूछते हैं की क्या हुआ हम लोगों को ऐसे घूर क्यों रहे हो। तो सब लोग उन लोगों की तरफ और भी अजीब भरी नजरों से देखने लगते हैं। तो इस बार आर्यन थोड़े गुस्से से पूछता है कि क्या हुआ हमें बताओगे भी। तो नैना खड़ी होती है। और उन दोनो की और थोड़ी अजीब नजर से घूरते हुए पूछती हे कि तुम लोगों ने हमें कुछ बताया क्यों नहीं। ये सुनने के बाद लोगों को से शौक लगता है। क्योंकि उन लोगों को क्या बताना है वह लोग कुछ खुद नहीं जानते थे। तो वो लोग उसकी और और भी ज्यादा कंफ्यूज नजर से देखते हुए बोलते हे की क्या । तो नैना उनको मुंह बनाते हुए बोलती हे की तुम दोनो gay हो। ये सुन ने के बाद उन दोनो को काफी तगड़ा और बड़ा शॉक लगता है। और वो लोग अपने खुले मुंह और बड़े बड़े आंखों से नैना को घूरने लगते हे। तो नैना उनसे पूछती हे की क्या हुआ शॉक लगा अच्छा हुआ हम को आरव ने बता दिया वरना हम कभी पता नही चलता। ये सुन ने के बाद वो लोग आरव की और घूरने लगते हे। वहीं आरव जल्दी से अपना फोन निकल कर किसी से बात करने की एक्टिंग करने लगा। तो वो लोग समझ जाते हे की अरब ने सुबह जो देखा था वो उन सबको बोल दिया हे। तो वो दोनो एक दूसरे को देखते हे। फिर सबको सब कुछ सच सच बता देते हे। वहीं सच सुन ने के बाद वो लोगों को बिस्वास नहीं होता हे लेकिन फिर सब को समझ आता हे। की वो लोग उन दोनो को गलत समझ लिए हे। तो वो लोग जल्दी से उन लोगों से माफी मांगते है। वहीं वो लोगों को बिक्रम बताता हे की जल्दी से अपना फोन निकाल कर देखो तो वो लोग जल्दी से फोन निकाल कर देखने लगते हे।
तो फोटो को देखने के बाद उन लोगों का क्या रिएक्शन होने वाला है। और फिर आगे और क्या क्या होता हे जान ने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी इंतजार प्यार का.......
To be continued
Written by
unknown writer

रेट व् टिपण्णी करें

Nikunj prajapati

Nikunj prajapati 5 महीना पहले