इंतजार प्यार का - भाग - 28 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 28

बिक्रम ऐसे खयालों में खोए हुए देखकर सब लोग शौक हो जाता है। क्योंकि ऐसा बहुत कम बार हुआ है कि विक्रम किसी खयालों में इतनी बुरी तरह से डूब गया था कि किसी के बुलाने पर भी कुछ जवाब नहीं देता। तो आरव उठता है और विक्रम के पीठ में एक जोरदार मुका मारता है। जिस वजह से विक्रम अपने होश में आ जाता है। और इसके मुंह से एक चिक निकाल जाति हे। और होश में आने के बाद वो चिलाते हुए बोलता है की किसने मारा मुझे। तो सब लोग उसको पीछे मुड़ कर देखने को बोले। तो वो जब पीछे मुड़कर देखता है तो वहां पर आरव को देखकर कुछ नहीं बोल पाता सिर्फ उसको को घूर कर देखने लगा वहीं आरव ने उससे पूछते हुए बोला। क्या हुआ यार किसके ख्यालों में डूब गया। जो हमारे बुलाने पर भी नहीं सुन रहा है। तो इस पर विक्रम थोड़ा घबरा गया और सोचने लगा कि क्या बहाना बनाया जाए। लेकिन तभी सूरज पूछता है की तूने बताया नही की तू केसे उस लड़की के बारे में जानता हे। तो विक्रम उससे बोलता है कि नहीं वह मैं कल piyus ने बुलाया था तुम तो जानते हो इसी वजह से मैं वहां पर गया था। तभी इसके साथ मेरा वहां पर मिलना हुआ था जिस वजह से मैं इसे जानता हूं तो यह सुनने के बाद कोई कुछ खास रिएक्ट नहीं करता और बस अपने अपने काम में लग जाते हैं। सब लोग खाना खाने के बाद वहां से अपने-अपने क्लासरूम के और चलें गए। और अरब भी एग्जाम देने के लिए अपने क्लास की ओर चला गया।
वही आज सनाया भी आज एग्जाम के लिए फुल पेपर होकर आई थी। उसने अपने सारे के सारे टॉपिक को रिवाइज कर लिया था। और अच्छे से उनको याद भी कर लिया था। वह जब कॉलेज आए तो देखा कि चले और स्टूडेंट अपना किताब पकड़कर घूम घूम कर पढ़ाई कर रहे हैं। यह देख कर उसके फेस में एक स्माइल आ गई। और फिर वह अपने क्लास की ओर जाने लगी क्लास की ओर जाते वक्त उसने रास्ते में कैंटीन से आरव को क्लास की ओर जाते हुए देखा। तो उसने जल्दी से भागकर आरब के पास पहुंची और आरव को गुड मॉर्निंग विश किया और आरव भी उसको स्माइल के साथ गुड मॉर्निंग विश किया फिर दोनों मिलकर वहां से एग्जाम देने चले गए। आज उनका पहला एग्जाम था जो कि केमिस्ट्री का था। वह लोग क्लास पर जाकर अपने अपने टेबल पर बैठ गए और जो जो पढ़ा था उसको रिवाइज करने लगे। वही उसके थोड़ी देर बाद एक-एक करके सारे स्टूडेंट्स अंदर आने लगे और जाकर अपने अपने डेस्क पर बैठ गए। और थोड़ी देर बाद टीचर भी क्लास में आ गए। और फिर सबको अपना आंसर शीट दिया और उनको क्वेश्चन पेपर भी दे दिया। फिर सब को देखते हुए बोले कोई भी चीटिंग मत करना अगर कोई भी चीटिंग करते हुए पकड़ा गया तो उसको इस कॉलेज से हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया जाएगा। यह सुनने के बाद जो लोग चीटिंग करने के लिए कुछ लेकर आए थे वह लोग काफी ज्यादा डर गए। और सब कुछ ले कर बाहर रख कर चले आए और आकर अपना एग्जाम देने लगे वही सारे के सारे स्टूडेंट क्वेश्चन पेपर को देखें तो इस बार उनको क्वेश्चन कुछ हार्ड मिला था। जिस वजह से उनका चेहरा उतरा हुआ हो गया फिर सब लोग एक-एक करके आंसर करने की कोशिश किए वहीं समय भी एक-एक करके अपना आंसर करने लगी। वह आंसर कर ही रही थी कि तभी वह देखती है कि उसका सारे के सारे आंसर हो गए थे लेकिन उसका आखिरी वाला आंसर का जवाब नहीं आ रहा था। यह देखकर वह थोड़ा सोचने लगी फिर फिर से उसको आंसर को करने लगी। लेकिन जितनी बार भी हो करती रही उतनी बार ही हो वह फेल होती रही। उसने उसको आंसर ही नहीं कर पाया जिस वजह से काफी फर्स्ट एड हो गई थी। और तभी बेल भी बच गई जिस वजह से प्रोफेसर भी एक-एक करके सारे के सारे स्टूडेंट से उनका पेपर लेने लगे। और उन सब को क्लास से बाहर जाने के लिए बोल दिए। वही सनाया जब बाहर आए तो देखा कि आरव हमेशा की तरह अपना एक्सप्रेस लेस फेस के साथ बाहर जा रहा था। तो वह जल्दी से उसके पास भाग कर गई। और उससे बोली आरव प्लीज मुझे तुम्हारी हेल्प चाहिए। तो और अब उसकी ओर देखता है और बोलता है क्या हेल्प चाहिए तुम्हें तो सनाया उससे बोलती है कि मुझे वह केमिस्ट्री का लास्ट वाला क्वेश्चन नहीं आ रहा था और मैंने साल्ट नहीं किया यार पाया क्या तुम मुझे इसका सलूशन बता सकते हो। तो आरव भी मान जाता है और उसको उसका सलूशन बताने लगता है। सनाया ने जब पूरे का पूरा सलूशन कर लिया तो वह आरंभ को थैंक यू बोली और वहां से चली गई और आरव भी अपना हॉस्टल की ओर चला गया। फिर वह लोग अपने घर जाकर वहां पर कल के एग्जाम के लिए पढ़ने लगे वैसे करके उन लोगों ने एक-एक करके अपने सारे के सारे एग्जाम कंप्लीट कर दिए।
आज उन सबका फर्स्ट सेमेस्टर का फाइनल पेपर था। जो की था mathmetics तो सारे बच्चे एक दम प्रिपेयर हो कर गए थे। लेकिन जब उन लोगों ने पेपर को देखा तो उनकी हालत पूरी तरह से खराब हो गई थी क्यूं की इस बार की पेपर काफी ज्यादा हार्ड आया था। कुछ यहीं हाल सनाया और आरव का था। लेकिन वो दोनों आपने पेपर पर ध्यान देकर एक एक क्वेश्चन को सॉल्व करने लगे। लेकिन फिर भी उनको काफी डिफिकल्ट लगा लेकिन फिर भी दोनों ने मिलकर अपना अपना का पेपर कंप्लीट किया और सबमिट कर के बाहर आ गए। और बाहर आने के बाद दोनों कैंटीन की ओर बढ़ने लगे कैंटीन की ओर जाते हुए सनाया आरव से पूछती है कि क्या तुम्हारे इस एग्जाम के बाद कोई प्लान है। तो आरव बोलता है क्या हुआ तुम्हें कोई प्रॉब्लम है क्या। तो सनाया उसको जवाब देते हुए बोलती हैं नहीं मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है बस इसलिए पूछ रही थी कि इस एग्जाम के बाद में हम 1 week का छूटी मिलने वाला हे। मैं एक ट्रिप पर जाना चाहती हूं जो की विक्रम भैया प्लान कर रहे हे। में भी प्लान कर रही थी तो उन होने मुझे बताया जो की आज कैंटीन ने अभी बताने वाले हैं। तो आरव पूरी तरह से शॉक हो गया और फिर उसी शॉक एक्सप्रेशन के साथ सनाया की और देखने लगता है। और उससे बोलता क्या ट्रिप तो सनाया उसको हां बोलती है। तो आरव भी उसको ओके बोल देता है। फिर दोनों मिल कर कैंटीन में चले जाते हैं। वहां पर थोड़ी देर वेट करने के बाद विक्रम और उसके साथ बाकी सारे लोग भी आ जाते हैं। वह लोग वहां पर आने के बाद सब लोग बैठ कर एक साथ नाश्ता करने लगते हैं। नाश्ता करते हुए एक दूसरे से हंसी मजाक कर रहे थे कि तभी विक्रम सबसे बोलता है गाइस मैंने एक ट्रिप प्लान किया है जिसमें कि हम लोग जा रहे हैं वह भी बाइक राइड में क्या बोलते हो तो सब लोग मान गए। तो फिर सब लोग मिलकर एक ट्रिप प्लान किए जहां कि वह लोग दिल्ली से जयपुर का ट्रिप प्लान किया जो कि 4 दिन का ट्रिप था।
फिर सब लोग वहां से अपने ट्रिप के लिए शॉपिंग करने या फिर क्या-क्या चाहिए उसे खरीदने के लिए चले जाते हैं। और आरव भी आप ना हॉस्टल में चला जाता है। फिर वह और विक्रम और सूरज मिलकर प्लान करते हैं कि एक साथ जाकर शॉपिंग करेंगे। तो फिर सब लोग शाम को एक साथ 5.00 बजे निकलते का प्लान बनाते हे।
शाम को तकरीबन 5:00 बजे सूरज अपना कार लेकर आया और कार को अरब के हॉस्टल के सामने आकर रोक दिया फिर उसने आरव को कॉल लगाने लगा। और आरव की कॉल उठाने की वेट करने लगा। लेकिन उसको ज्यादा देर वेट करना नही पड़ा। क्यूं की आरव ने भी एक हीं रिंग में फोन उठा दिया और उसको बोला की 2 मिनट में आ रहा हूं। वो इतना बोल कर जल्दी से अपने रूम को लॉक कर के नीचे आ गया। फिर सब लोग मिलकर शॉपिंग के लिए मल चले गए। पूरे के पूरे मल में वह तीनों एक साथ घूम घूम कर शॉपिंग कर रहे थे। कि तभी उन्हें वहां पर फिर से मेघा दिख जाती है। वही मेघा जब विक्रम और इसके दोस्तों को देखती है तो जल्दी से उन लोगों के पास जाती है। और उन लोगों को बोलती है। हेलो गाइस। तो सब लोग उसको देखकर पहचान जाते हैं कि यह मेघा कौन है और जब उसने विक्रम को देखा तो उसके आंखें चमकने लगी और जल्दी से जाकर उसके गले में हाथ डाल कर के उसके होठों पर एक छोटी सी किस कर देती हे। जो दिखने में काफी छोटा था लेकिन उन सब लोगों के बीच में शोक का माहौल बनाने के लिए काफी था। विक्रम खुद भी काफी ज्यादा शॉक हो जाता है। और फिर वो मेघा को घूर घूर कर देखने लगा क्योंकि वह उसको उनके सामने ही किस कर रही थी। वही विक्रम का तो बुरा हाल था। लेकिन मेघा के किस करने के वजह से काफी खुश था। लेकिन सबके सामने करने की वजह से काफी गुस्सा हो गया था मेघा के ऊपर हो अभी मेघा के ऊपर चिल्लाने वाला था। कि तभी वहां पर नैना आ जाती है और नैना आकर मेघा से बोलती है मेघा जल्दी चलो यार यहां से हमें और भी कुछ शॉपिंग करना है। यह बोलने के बाद जब वह सामने देखती है तो पूरी तरह से दंग रह जाती है क्योंकि उसके सामने उसके सारे के सारे दोस्त खड़े हुए थे। जो कि आंखें फाड़ फाड़ कर उन दोनों को ही देख रहे थे। वहीं उन लोगों को भी काफी तगड़ा शौक लगा था। क्यूं की वो लोग कभी भी उम्मीद नहीं की थी की मेघा नैना को जानती थी। लेकिन फिर भी सूरज अपने होश में वापस आकर नैना से पूछता है कि नैना तुम यह कैसे तो नैना बताती है कि मैं अपने कजन सिस्टर मेघा के साथ यहां पर आई थी। और हां मैंने तुम्हें इंट्रोड्यूस करवाना भूल गई यह हे मेघा मेरा कजन सिस्टर है। ये सुन ने के बाद वो लोग काफी शॉक हो गए थे। खास करके बिक्रम। वहीं यह बोलने के बाद उन सब की ओर देखने लगे उन सब की मुंह एकदम खुला हुआ था और वही मेघा का फेस पूरी तरह से लाल हो गया था। और वह अपना सर नीचे किए हुए उन लोगों को देखे जा रही थी। यह सिचुएशन जब नैना ने देखा तो उसको कुछ गड़बड़ लगी। तो उसने सूरज से पूछा सूरज क्या हुआ जल्दी बताओ। तो सूरज उसको कुछ नहीं बताता। लेकिन इस बार नैना ने थोड़ी सख्ती के साथ बोल दिया तो सूरज उसको बता देता है। यह बात सुनने के बाद खुद नैना भी काफी ज्यादा शौक थी क्योंकि उसके लिए विश्वास करना ही मुश्किल था कि उसके कजन सिस्टर जो किसी को भी घास तक नहीं डालती थी। और किसी से प्यार करती है। वहां आकर सीधे विक्रम के गले में हाथ डालकर उसको किस कर लेगी। तो वो थोड़ी गुस्से के साथ मेघा को देखकर पूछती है कि क्या यह जो बोल रहे हैं वह सच है। तो मेघा ऐसे ही अपना सर नीचे किए हुए हां में अपना सिर हिला देती है। तो नैना इस पर थोड़ी गुस्से से उससे पूछ कि तुमने उसको किस क्यों किया क्या तुम्हारा बॉयफ्रेंड है। तो मेघा ना में जवाब देते हुए अपना सर हिला देती है। और ये देख कर नैना और भी ज्यादा शौक हो जाते हैं। और ज्यादा गुस्सा हो जाती है तो उस से पूछती है तो तुमने उसे क्यों किया तो और भी ज्यादा घबराने लगती है। और घबराते हुए गलती से मुंह से निकल गए हम दोनों का पहली बार नहीं था। उसकी मुंह से ये बात सुन ने के बाद सब लोग और भी ज्यादा शॉक हो जाते हे। वहीं बिक्रम उसके ऊपर और भी ज्यादा गुस्सा हो जाता है। क्योंकि उसको उम्मीद नहीं थी कि मेघा सबके सामने बता देगी। उसको अब थोड़ा गुस्सा आने लगा था। और वह उसको देखने लगा था। वहीं जब मेघा को अंदाजा हुआ कि वह क्या बोल दी हे तो उसने अपना सर और भी ज्यादा नीचे झुका दिया और कुछ नहीं बोली। तो नैना उससे थोड़ी सख्ती के साथ पूछती है कि यह सब कैसे कहां और कब हुआ। तो विक्रम जल्दी से अपना बात बदलते हुए बोलता है कि चलो यहां से हमें बहुत सारे शॉपिंग करनी जल्दी करो वरना हम लोगों को टाइम नहीं होगा। लेकिन कोई भी उसके बातों पर 1% भी ध्यान नहीं देता और बस मेघा की और घूरने लगते हैं। वह लोग आज उस सच्चाई को जाने बिना वहां से नहीं जाने वाले थे वही सब मेघा ने देखा कि वह चारों ओर से घिरी हुई है। तो उसने मन ही मन में सबको सच्चाई बताने का प्लान किया और सब को सब कुछ सच सच बता दिया सच बात सुनने के बाद सब लोग और भी ज्यादा शॉक होगी। क्योंकि वह लोग आज तक कभी भी विक्रम को किसी भी लड़की को किस करते हुए ना देखे थे। और ना ही कभी सुने थे। तो वह लोगों को इस बात पर विश्वास करना थोड़ा मुश्किल हो रहा था लेकिन फिर भी वह लोग उस बात को विश्वास कर लेते हैं। लेकिन फिर नैना बोलती है धीरे से तो नैना धीरे से अपने आप में बुद बुदा आते हुए बोलती है तो वह बंधु यही है क्या नाम दिया हे यार सच में तूने आज मेरा दिल खुश कर दिया। यह सोचकर नैना को मेघा को कुछ शाबाशी देने वाली थी कि तभी उसे याद आया कि वह उन दोनों से काफी गुस्सा है। तो उसने जल्दी से खुद को संभाला और वहां से मेघा को खींचते हुए लेकर चली गई। विक्रम का तब पूरा पूरा पूरा मूड spoil हो गया था। और वह अब नैना और मेघा के ऊपर गुस्से से उबल रहा था लेकिन फिर भी कुछ नहीं कह पाता बस आपका मन मसोसकर वहीं रह जाता है।
तो आगे क्या होता है ट्रिप में। क्या ये दोनो कपल बन सकते हे। क्या होता हे आगे जानने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी इंतजार प्यार का..........
To be continued.............
Written by
Unknown writer


रेट व् टिपण्णी करें

Monika

Monika 6 महीना पहले

i have an opportunity for you.. would you like to write long content novel then plz mail me on reenadas209@gmail.com