My Soul Lady - 1 Iffat fatma द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

My Soul Lady - 1

सुबह के 8:00 बजे थे और सना अब भी सोई हुई थी कि तभी Sara ने उसे आवाज दिया,सना कब तक सोएगी अब तो उठ जा सुबह के 8:00 बज चुके हैं और तू अब तक घोड़े बेच कर सो रही है और आज तुझे कॉलेज जाना है यह भूल गई जल्दी उठ वरना कॉलेज के लिए लेट हो जाएगी।

लेकिन जैसे सना को तो कोई फर्क ही नहीं पड़ रहा था वह तो उठने के लिए तैयार भी नहीं थी तभी सारा खुद से कहती है "मुझे कुछ और करना पड़ेगा"

तभी सना को चिल्लाते हुए कहती है "सना में तुझे आखिरी वार्निंग दे रही हूं, उठ जा वरना तेरे साथ क्या होगा सोच ले"

लेकिन सना फिर भी नहीं उठती तो सारा उसके बाथरूम में जाती है और एक बकेट पानी लाकर सना के ऊपर डाल देती है लेकिन उससे भी उसकी नींद नहीं खुलती तो सारा खुद ही से कहती है "मैं कैसे भूल जाती हूं इसकी नींद,दुनिया में कोई तोड़ नहीं सकता है लेकिन फिर भी मुझे उसे उठाना तो होगा"

तभी अचानक सना का फोन बजा और सारा ने फोन उठाया, "हां स्वाति बोलो क्या हुआ?"

आगे से स्दीवाति बोली, "Sana कब कॉलेज पहुंचेगी मैं कब से उसका इंतजार कर रही हूं कॉलेज में।"

तो सारा ने कहा, "वह लड़की अब तक उठी नहीं है तो कॉलेज कब पहुंचेगी मैं उसे कब से उठाने की कोशिश कर रही हूं लेकिन वह उठने के लिए तैयार ही नहीं है"

तभी स्वाति ने कहा, "लेकिन दी आज उसका कॉलेज आना बहुत जरूरी है उसने डांस कंपटीशन के लिए अपना नाम दिया है और कुछ ही देर में डांस कंपटीशन स्टार्ट होने वाला है और उसका यहां होना बहुत जरूरी है वरना प्रिंसिपल सर मुझे छोड़ेंगे नहीं इसलिए आप please जल्दी से उसे भेज दीजिए।"

तभी सारा ने कहा, "ठीक है स्वाति मैं उसे उठाने की कोशिश करती हूं लेकिन मुझे नहीं पता कि यह कुंभकरण उठेगी कि नहीं इतना बोल कर सारा ने फोन रख दिया और सना को उठाने लगी"

Sara "सना जल्दी उठ तुम्हें कॉलेज नहीं जाना तुझे तुमने खुद ही ना डांस कंपटीशन में पार्टिसिपेट किया है तो अब तुम उठ क्यों नहीं रही हो"

लेकिन फिर भी सना उठती नहीं तो सारा परेशान होकर वहां से जाने लगती है लेकिन तभी सना एक चीख के साथ उठती है तो सारा दौड़ कर उसके पास जाती है और उससे पूछी "क्या हुआ सना तुम इतनी जोर से क्यों चीखी?"

तभी सनम मन में कुछ सोचती है और फिर सारा को गले लगा लेती है और खुश होते हुए कहने लगी "दी मुझे अचानक से एक बात याद आई"

तो सारा ने आश्चर्य होते हुए पूछा "क्या बात याद आई अब तुम्हें नींद में"

तो सना ने खुश होते हुए कहा, "Happy Raksha Bandhan to you and I love you a lot Di"

सारा ने अपने सर पर हाथ रखते हुए सना से कहा, ''लेकिन रक्षाबंधन तो भाइयों के लिए होता है तुम मुझे क्यों विश कर रही हो।"

सना ने खुश होते हुए कहा, "क्योंकि आप ही मेरी भाई हो बहन हो मां हो बाप हो फ्रेंड हो मतलब आप मेरी सब कुछ हो इसलिए यह रक्षाबंधन आपके लिए भी है क्योंकि बचपन से लेकर अब तक आपने ही मेरी रक्षा की है एक भाई बन के और रक्षाबंधन का त्यौहार तो यही कहता है ना एक भाई हमेशा अपनी बहन की रक्षा करेगा तो आप भी तो बचपन से मेरी रक्षा कर रही है तो यह रक्षाबंधन का त्यौहार आपके लिए क्यों नहीं हो सकता।"

सना और सारा दोनों बहने हैं लेकिन दोनों की पर्सनैलिटी एक दूसरे की विपरीत है जहां सना जिसका पूरा नाम सना खान जो एक 21 saal ki चुलबुली सी प्यारी सी लड़की लेकिन जिसे गुस्सा बहुत जल्दी आता है और दिखने में उतनी ही खूबसूरत है काले सीधे बाल भूरी आंखें और ओंठ के किनारे एक प्यारा सा तिल जिससे उसकी खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं लेकिन सारा खान भी कम नहीं है वह तो सना से दो साल की बड़ी और उस से दुगनी खूबसूरत है लेकिन थोड़ी शांत स्वभाव की लोगों से ज्यादा बातें नहीं करती लेकिन अपनी बहन सना से बेहद प्यार करती है।

सुनहरे बाल ब्लू आईज दिखने में काफी खूबसूरत लेकिन दोनों बहने एक दूसरे की विपरीत होने के बावजूद तब भी एक दूसरे से बहुत प्यार करती है और हमेशा एक दूसरे के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहती है लेकिन इन दोनों के पास एक दूसरे के इलावा अपना कहने के लिए कोई नहीं क्योंकि बचपन से ही सारा ने सना का ध्यान रखा है अभी भी रख रही है।

सना ने खुद को देखते हुए कहा, "दी मैं कितनी गीली कैसे हो गई? क्या आपने आज फिर मुझ पर पानी डाला? आप यह क्यों करती हो दी? हर बार यही ट्रिक यूज करती हो मुझे उठाने के लिए लेकिन मैं तो आज तक नहीं उठी तो आप इस trick को भूल क्यों नहीं जाती अब आप एक काम करो यहां खड़े होकर उस स्ट्रीट को भूलने की कोशिश करो और अब मैं जल्दी से तैयार होकर कॉलेज जाती हूं क्योंकि पता चला मेरे नहीं आने की वजह से स्वाति वहीं कॉलेज में बेहोश हो गई क्योंकि वैसे भी वह प्रिंसिपल के नाम से ही डरती है।"

सारा ने फिर कहा, "हां जल्दी से तैयार होकर नीचे आजा क्योंकि नाश्ता पहले से तैयार है और तुम्हारे वजह से मैंने भी अभी तक नाश्ता नहीं किया है तो जल्दी तैयार होकर आना।"

इतना कहकर फिर सारा वहां से चली जाती है उसके जाते ही सना खुद से कहती है "आज फिर मुझे दीदी से झूठ कहना पड़ा लेकिन मैं क्या करूं मैं आपको कुछ नहीं बता सकती क्योंकि मेरी सच्चाई जानने के बाद आप मुझे कभी भी अपना नहीं पाओगी और मैं आपसे दूर नहीं जाना चाहती सॉरी दी बट आई हैव टू डू इट क्योंकि मेरे लिए आपकी सुरक्षा ज्यादा मायने रखती है और इसी भेस में मैं जो यहां करने आई हूं वह कर सकती हूं।"

डाइनिंग टेबल के पास,

Sana "दी अब मैं इससे ज्यादा नहीं खा सकती अब मैं जा रही हूं क्योंकि कंपटीशन के लिए मैं लेट हो रही हूं"

सारा ने थोड़ा गुस्सा दिखाते हुए कहा, "तो क्या मैंने कहा था तुम्हें लेट से उठने के लिए मैं तो कब से तुम्हें उठा रही थी लेकिन तुम कुंभकरण के जैसा उठने का नाम ही नहीं ले रही थी।"

सना ने कान पकड़ते हुए कहा, "सॉरी दी अगली बार से ऐसा नहीं होगा अब में चलती हूं बाय बाय"

इतना बोल कर सना घर से निकल जाती है और अपने स्कूटी ड्राइव करते हुए कॉलेज जाने लगती है तभी रास्ते में उसका फोन बचता है और सना फोन उठाती है हा Swati में थोड़ी देर में पहुंच जाऊंगी कॉलेज अभी कितना टाइम बचा है कंपटीशन स्टार्ट होने में तो स्वाति कहती है "बस 20 मिनट बचा है तो तुम जितनी जल्दी हो सके यहां पहुंचो जल्दी"

और इसी वजह से सना अपनी स्कूटी तेजी से चलाने लगती है और मिस बैलेंस होकर एक कार से टकरा जाती है लेकिन सही समय पर उस कार वाले ने कार रोक दी थी जिसकी वजह से सना को ज्यादा चोट नहीं लगती वह बस गाड़ी से नीचे गिर जाती है।