My Soul Lady - 4 Iffat fatma द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

My Soul Lady - 4


फिर वह सभी लोग वहां से जाने लगे तभी अचानक अखिल ने कहा , , इतनी रात हो गई है एक काम करता हूं मैं आप सब को आपके घर छोड़ देता हूं तो सना चिढ़ते हुए कहती है , , इसकी जरूरत नहीं है हमारे पास पैर हैं हम चले जाएंगे अभी तुरंत से अखिल कहता है मुझे पता है कि आपके पास पैर है लेकिन आप अपने घर तक तो पैर से जा नहीं सकती थी इसलिए मैंने कहा कि मैं आप सभी को ड्रॉप कर देता हूं


तभी सारा कहती है इसकी कोई जरूरत नहीं है सर हम चले जाएंगे फिर भी आखिर मना कर उन सभी को ले जाता है उनके घर ड्राप करता है कार से निकलते ही सारा अखिल को थैंक्स कहती है , , लेकिन तभी अखिल सारा का हाथ पकड़ लेता है और यह देखकर सना को बहुत गुस्सा आता है और वह गुस्से से अखिल पर चिल्लाती है छोड़ो मेरी बहन का हाथ और है बॉस हो बॉस की तरह रहो फैमिली मेंबर्स बनने की जरूरत नहीं है और हां दूर रहो मेेरी बहन से ।

तभी अखिल सारा का हाथ छोड़ देता है और कहते हैं सॉरी सारा जी लगता है आपकी बहन को यह पसंद नहीं है कि कोई उसके बहन को छुए तो सारा कहती है सॉरी सर यह ऐसी है उसे बिल्कुल भी पसंद नहीं कि कोई मुझे टच करें





फिर सारा सना को कहती है शांत हो जाओ सना तभी सना प्यार से कहती हैं सॉरी दी और फिर सभी अंदर चले जाते हैं लेकिन आखिर वही खड़े होकर सोचता है मिस सना आपने तो खुद ही अपनी कमजोरी मुझे बता दी ऐसे ही किसी राह चलते को अपनी कमजोरी नहीं बताई जाती अब तुम देखो कि मैं तुम्हारी कमजोरी से क्या-क्या करता हूं इतना बोल कर अखिल मुस्कुराने लगता है तभी अचानक सामने से एक आवाज आती है और जब अखिल उस तरफ देखता है तो सामने सना खड़ी होती है और वह अखिल के करीब आकर कहती है मुझे पता है कि तुम क्या सोच रहे हो लेकिन एक बात मेरी ध्यान में रखना कि तुम यह जरूर सोच रहे होगे कि मेरी दी मेरी कमजोरी है यह बात बिल्कुल सही है लेकिन उसके साथ साथ वह मेरी ताकत भी है तो आइंदा उनके आसपास घूमने की जरूरत नहीं है और मुझे यह भी पता है कि मिस्टर ओबरॉय आप मुझसे बदला लेने के लिए कुछ भी कर सकते हैं लेकिन एक बात ध्यान में रखियेंगा बदला आपको मुझसे लेना है इस बीच मेरी बहन को लाने की कोई जरूरत नहीं है और अगर आपने मेरी बहन से बदला लेने की कोशिश की तो समझ लीजिएगा की उस दिन से Oberoi company का बैड लक शुरू इतना बोल कर सना घर के अंदर चली जाती है पर आखिर वही खड़े उसे जाते देखता रहता है


फिर अखिल कहता है इतना घमंड बहुत गलत किया तुमने सना अखिल ओबरॉय को भड़का कर अब देखो तुम्हारी बहन के साथ क्या-क्या होता है जस्ट वेट एंड वॉच इतना बोल कर अपने सेक्रेटरी रोहन को फोन करता है और कहता है यह दोनों बहनों की पूरी की पूरी हिस्ट्री निकालो एक भी बात छूटने नहीं चाहिए मुझे कल के कल इनकी पूरी हिस्ट्री जाननी है इतना बोल कर वह फोन रख देता है और वहां से चला जाता है

थोड़ी देर बाद अखिल की कार एक बड़े से विला के सामने आकर रुकी और उसके पीछे से आ रहे बॉडीगार्ड्स अपनी गाड़ी से उतर कर विला के सामने लाइन से खड़े हो गए फिर अखिल अपनी कार से उतर कर विला के अंदर चला गया अंदर जाते ही उसे एक आवाज सुनाई दी अखिल भाई आप आ गए लेकिन आज आप इतना लेट क्यों हो गए

यह थी दिया ओबरॉय अखिल ओबरॉय की छोटी बहन और उसकी जान , और एक जिद्दी करैक्टर इसे जो चाहिए रहता है वो उसे पाकर ही रहती है ।

तभी पीछे से एक आवाज आती है अब तो यह रोज लेट आएगा एक लड़की के पीछे जो पडा है अपने insult का बदला लेने के लिए इतना बोल कर वह हंसने लगता है जिससे गुस्सा होकर अखिल कहता हैं तुझे बड़ा पता है कि मैं कहां जाता हूं पहले तू यह बता कि तुझे यह सब जानकारियां देता कौन है तो हंसते हुए आयुष कहता है और कौन तुम्हारा वह चमचा रोहित जिसे ब्लैकमेल करके मैं हर बार तुम्हारी जानकारी निकाल ही लेता हूं ।

तो अखिलहंसते हुए कहता है तू कभी नहीं सुधर सकता आयुष अगर तू मेरा दोस्त और जीजा नहीं होता ना तो यही मैं तुझे जान से मार देता आयुष हंसते हुए कहता है इसीलिए तो मैं तेरा दोस्त हूं वह भी ऐसा वैसा नहीं पक्का वाला और तू जिस लड़की के पीछे अभी पड़ा है ना दिखने में तो काफी खूबसूरत है तो बदला उदला छोड़कर अपनी बोरिंग से जिंदगी में थोड़ा प्यार ले आ मेरे भाई तो अखिल गुस्से से कहता है ऐसी पागल वाली बातें मत कर Ayush मैं प्यार करूंगा उस बंदरिया से बिल्कुल नहीं अगर वह सिंगल लड़की भी होगी ना अर्थ पर तो भी मैं उससे शादी ना करूं क्योंकि उसकी औकात ही नहीं है अखिल ओबरॉय के सामने खड़ी होने की तो उसे समझाते हुए आयुष कहता है तुझे प्यार होगा ना तब तू भी औकात पर ध्यान नहीं देगा यह मेरा वादा है तुझसे ।

चलिए हम आपको बताते हैं इस करैक्टर के बारे में यह आयुष खन्ना दीया ओबरॉय का हस्बैंड और अखिल ओबरॉय का दोस्त मैंने आपको दिया के बारे में इंट्रोड्यूस करवाया था कि वह एक जिद्दी किस्म की लड़की है क्योंकि दिया जब 19 साल की थी तभी उसने जिद करके आयुष से शादी की क्योंकि वह आयुष से बहुत प्यार करती थी और आखिल का दोस्त होने की वजह से आयुष को शादी के लिए हां करनी पड़ी लेकिन अब वह भी दिया से प्यार करता है और वह दोनों इस रिश्ते में खुश हैं ।

तभी अखिल कहता है तो यह सब बकवास छोड़ और बोल अंश कहां है तभी एक बच्चे की चिल्लाने की आवाज आती है मामू आप आ गए हम कब से आपका इंतजार कर रहे थे आप का वादा याद है ना तो अखिल उसके करीब जाता है और उसके सामने घुटनों के बल बैठ कर कहते हैं ऐसा हो सकता है कि अंश की कहीं बात मामू ना माने तुमने जो मुझे कहा था मैंने वह सारे काम काम कर दिए हैं तो अंश खुश होते हुए कहता है आप दुनिया के बेस्ट मामू में इतना कहकर अंश अखिल के गले लग जाता है ।