इंतजार प्यार का - भाग - 24 Unknown Writer द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

इंतजार प्यार का - भाग - 24

वही वो सनाया को बीच रास्ते में से एक सुनसान कोने से अपने कुछ दोस्तों के साथ पकड़ कर उसको गाड़ी में लेटा कर ले जाते है। थोड़ी देर बाद तक जब सनाया वहां नहीं आई। तो रावी को कुछ गड़बड़ लगा। तो वह जाकर वॉशरूम चेक किया तो उसको सनाया नहीं मिली। तो उसने वहां के आस पास एरिया में सनाया को ढूंढी लेकिन जब उसको सनाया नहीं मिली तो उसने पूरे के पूरे हॉल में और गार्डन में देखने लगी लेकिन जब उसको सनाया नहीं मिली। तो उसने जल्दी से जाकर आरव के दोस्तों को यह बात बताई यह बात सुनने के बाद आरव और उसके दोस्त सारे के सारे टेंशन में आ गए। और वह कहां जा सकती है सोचने लगे। फिर सब लोग मिलकर पूरे के पूरे कॉलेज में ढूंढने लगे हैं। ढूंढ ढूंढ कर जब वह लोगों को नहीं मिली तो तो वह लोग वहां पर निराश होकर बैठ गए। और सोचने लगे कि सनाया कहां जा सकती है। तो किसी को कोई भी चीज नही सूझता तो सब सनाया को ढूंढने के लिए एक प्लान सोचने लगे। तभी आरव सबको प्लान बताते हुए बोलता हे की मेरे पास एक आईडिया इसके जरिए हम लोग उसको पकड़ सकते हैं उसके पास भी जा सकते हैं यह सुनने के बाद सबकी आंखों में चमक आ जाती है। और सब लोग आरव की और देखने लगते हे।
वहीं दूसरी और आदित्य और उसके दोस्तों ने सनाया को अपने कार के सीट के पीछे बेहोश करके रखा हुआ था। और वह लोग उस कार को लेकर कहीं जा रहे थे। जाते वक्त को लोग एक दूसरे के साथ हंसी मजाक और बात कर रहे थे। कि तभी आदित्य के एक दोस्त ने उससे बोला कि अरे यार आदित्य हमने सुना था कि इसका जो पार्टनर था आरव वह काफी फेमस है दिल्ली में उसके काफी एक गैंगस्टर या फिर बड़े बड़े ऑफिसर के साथ भी कांटेक्ट है। और वही उसके दोस्त भी दोस्तों के बारे में भी कुछ पता नहीं है और सब बोल रहे हैं कि वह अमीर परिवार से ताल्लुक रखते है। आदित्य अब आगे कुछ बोलता हे की तभी श्रुति उससे बोलती हे की ये लड़की भी कोई कम ही क्या ये भी तो राजावत खंडन की बेटी हे तो वो लड़का हां बोलता हे। तभी आदित्य श्रुति से बोलता है कि यार तूने तो बहुत बढ़िया प्लान बताया। पूरा 100 परसेंट सक्सेस फुल हो गया। जिस वजह से सनाया अब मेरे पास है। और उसको आज पूरी तरह से अपना बना लूंगा। तो श्रुति उससे बोलती ही की अरे यार ये तो बस चोटी सी प्लान हे। में बस उसको मजा चखाना कहती हूं इसकी हिम्मत भी केसे हुई की वो मेरे आरव की पार्टनर बन सके। आरव सिर्फ मेरा हे। सिर्फ श्रुति का इतना बोल कर वो डेविल स्माइल करने लगती हे। उसकी ये स्माइल देख कर वहां पर बैठे हर कोई दर गया था।
वहीं दूसरी ओर अरब पहले सब की और देखता हे। फिर आर्यन से बोलता हे की आरव तू तो एक हैकर हे। तू जल्दी से सनाया की लोकेशन ट्रेस करके हम लोगों को बता की वो कहां हे। तो सब लोग शॉक हो कर आर्यन की और देखने लगे क्योंकि वह नहीं जानते थे कि आर्य ने कहा कर है और लोगों का एड्रेस करता रहता है सब लोगों को अपनी और ऐसे घूरते हुए देखकर आर्यन थोड़ा सा सबका जाता है और धीरे से बोलता है हां फिर वह अपना लैपटॉप निकालता है और सना की फोन की लोकेशन ट्रैक करने की कोशिश करने लगता है तकरीबन 2 से 3 मिनट बाद वह बोलता है कि इसका लोकेशन तो हाईवे आ रहा है यह सुनने के बाद सब लोग शौक हो जाते हैं और शराबी की ओर देखकर पूछते हैं कि समय का राज हाईवे पर क्यों जा रही क्या उसने कुछ बताया तो मैं यह सुनकर अभी भी शौक होती है लेकिन फिर भी वह खुद को संभालते हुए बोलती है नहीं भैया मैं नहीं जानती वो कहां गए सब लोग बोलते हैं आपसे बोलता है कि चलो यहां से जल्दी से निकलो ढूंढने के लिए जाना है और तू भी जल्दी जल्दी कहां जा रहा है तो आर्यन भी हां बोल देता है फिर वह अपने काम में लग जाता है वही बाकी सारे दोस्त लोग निकल कर कार में बैठकर आने लगते हैं।
वहीं दूसरी और आदित्य की कार हाईवे में तेजी से भाग रही थी। और वो लोग बियर पीकर एक दूसरे से बात कर रहे थे। बीयर पीने के बाद उनको थोड़ा थोड़ा नशा होने लगता हे। लेकिन उनकी कार की स्पीड बिल्कुल भी कम नहीं होता हे। ऐसे ही तकरीबन 10 मिनट तक और जाने के बाद उन लोगों की कार बड़े बंगले के सामने रुक जाती है। और सब लोग कार से उतरते हैं आदित्य सीधा जाकर गेट कीपर को बुलाता है। और उसको गेट खोलने को बोलता है। तो वो गेट कीपर गेट खोल देता है। और वो सब उसके अंदर चले जाते हैं। लेकिन अभी तक सनाया को होश नहीं आया था। तो उसको आदित्य अपने बाहों में उठा कर लेकर जाने लगता हे। उसको ऐसे लेकर जाते हुए उसको उसके दोस्त बोलते हे की वा यार अभी से हीं मजा लेना शुरू तो आदित्य उसको कुछ नहीं बोलता और सनाया को लेकर अपने बेड रूम में चला गया। फिर उसको धक्का दे कर बेड पर गिरा दिया और फिर वह बाथरूम के अंदर सावर लेने चला गया। तकरीबन 15 मिनट बाद वह वहां से बाहर आता है तो देखता है कि सनाया को अभी तक होश नहीं आया है। तो वह जल्दी से जाकर अपना कपड़ा पहनकर सनाया के पास जाकर लेट जाता है। और उसके चेहरे से बालों को हटाकर उससे धीरे से बोलता है, “ मैंने तुम्हें कितनी बार प्रपोज किया कि हर बार तुमने मुझे रिजेक्ट किया । अगर तुम मेरा प्रपोज एसेप्ट कर देते तो मुझे ये सब करना नही पड़ता लेकिन इस बार तुम पूरी तरह से मेरी हो जाओगी और हमारे बीच कोई भी नहीं आ सकता इतना कहकर वह हंसने लगा। वह हंसी रहा था कि तभी उसको बाहर से कुछ आवाज आती है तो वह वहां पर जा कर देखता है। तो वहां पर आरव और उसके सारे के सारे दोस्त खड़े हुए वह उन लोगों को वहां पर देखकर बुरी तरह से शॉक हो गया। और शॉक के मारे उसका मुंह खुला का खुला रह गया। लेकिन आरव और उनके दोस्तों की नजर आदित्य के ऊपर नहीं पड़ी। तो वह एक राहत की सांस लेकर एक साइड में छुप जाता है और वह छुप कर देखता है कि उसके दोस्तों से और आरव के दोस्तों के बीच जोरदार लड़ाई मची हुई है और इसके दोस्त नशे में होने के वजह से जल्दी हीं नीचे गिर कर करहाने लगे। वहीं आरव उन सबको इग्नोर करते हुए बेहद गुस्से के साथ ऊपर की तरफ ही आ रहा था। आरव को इतने गुस्से में देख कर आदित्य पूरी तरह से डर जाता है। और उसको आरव का उसको मुक्का मारना याद आ जाती है। और वह डर के मारे थर थर कांपने लगता है। और वो जल्दी से उस जगह से साइड हो कर एक और साइड में छुप जाता है। जहां पर उसको आरव देख हीं न सके। आरव एक एक करके सारे के सारे रूम में ढूंढने लगता हे। लेकिन उसको सनाया कहीं में मिली तो वो आखिरी में जाकर उस बेड रूम में घुसता है। आरव को अपने बेड रूम में घुसते हुए देख कर आदित्य और भी ज्यादा डर जाता है।वहीं जब अरब अंदर जाता है। तो देखता हे की सनाया बेसुद सी बेड पे गिरी हुई थी। तो आरव उसको अपने बाहों में पकड़ कर नीचे लता है। सनाया को सब लोग कितनी बार उठाने की कोशिश किए लेकिन वो होश नहीं आई है। तो वह लोग पास में रखा पानी का जग उठाते हैं और उसके मुंह पर थोड़ा पानी छिड़कने लगता है। जैसे ही उसके चेहरे पर पानी पड़ा उसके थोड़ी देर बाद वह अपने होश में आ गई। और चारों तरफ देखने लगी और जब वह अपने आप को आरव के बाहों में पाया तो वह बुरी तरह से शॉक हो गई। और उसका चेहरा टमाटर की तरह लाल होकर जलने लगा। और उसके दिल में बहुत खुशी मेहसूस हुई। वही जब सब ने देखा कि सनाया को होश आ गया है। और उसका फैस लाल हो गया है। तो सूरज उससे पूछता है क्या हुआ है। क्या हुआ है तुम्हारा फेस इतना लाल क्यों हुआ हे। तो सनाया कुछ नहीं बोल पाती और अपना सर नीचे झुका लेती है। उसको देख कर सब समझ गए कि सनाया का फेस क्यूं पूरी तरह से लाल हो गया। सनाया आरव से दूर हटना चाहती है। तो आरव उसको छोड़ देता है। और सनाया जैसे ही एक कदम आगे बढ़ती है तो उसको कमजोरी महसूस होती हे। और वो नीचे गिरने लगती है तो फिर से अरब ने उसके कमर को पकड़ कर अपनी और खींच देता है। जिस वजह से सनाया जाकर आरव के सीने से टकरा जाती है। जिससे उसके नाक में थोड़ी सी लग जाति हे। जिस वजह से उसके आंखों में अंशु अजाते हे। और वो अपने सर को उठा कर बिल्कुल किसी मासूम सी बच्ची की तरह उसके आंखों में देखने लगती है। और आरव भी सनाया की आंखों में देखने लगता है। उसको पता नही क्यों सनाया के आंखों में आंसू बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है। आरव धीरे से उसके आंखों से आंसू पोंछ देता है। फिर दोनों एक दूसरे के आंखों में बस देखे हीं जा रहे थे कि तभी वहां पर बिक्रम की खांसने की आवाज आती है। जिस वजह से दोनों वापस होश में आए और एक दूसरे से अलग होकर खड़े होगे। और बिक्रम उसको पूछते हुए बोलता है कि क्या तुम ठीक हो और तुम यहां कैसे। तो सनाया विक्रम से बोलती है हां भाई मैं ठीक हूं वह मुझे पता नहीं किसी ने मुझे यहां पर आकर लेकर आ गया था। और आते वक्त में बेहोश थी जिस वजह से मुझे पता नहीं चला। और मैं यहां कैसे आ गई। तो यह सुनने के बाद सब लोग शौक हो जाते हैं और बोलते हैं कॉलेज से तुम्हें कौन ऐसे किडनैप कर सकता है। तो सनाया बोलती हे। भाई मुझे नहीं पता। तो सब लोग शांत होकर सब एक दूसरे की ओर देखने लगते हैं तभी सूरज सबसे बोलता है कि चलो यहां से अब यहां पर रहकर कोई काम नहीं है। उनको तो हमने सबक सिखा लिया अब जल्दी से यहां से निकलो बरना कुछ प्रॉब्लम हो गया। तो हम फंस जाएंगे यह सुनने के बाद सब लोग अपना सर हां में हिला देते हैं फिर वहां से चले जाते हैं।
उन लोगों को वहां से जाता हुआ देखकर आदित्य एक राहत का सांस लेता है और वो एक कोने से बाहर अता हे। तो वो देखता है उसके सारे के सारे दोस्त नीचे गिरे पड़े हुए थे और दर्द से करा रहे थे। लेकिन उसने देखा कि वहां पर श्रुति कहीं भी नहीं दिखती है जिस वजह से उसको लगता है कि जरूर श्रुति उन लोगों को देख कर भाग गई होगी जिस वजह से लोगों को इतना मार खाना पड़ा यह सोच कर उसको गुस्सा आने लगता लेकिन तभी उस वह देखता है कि साइड वाले रूम से ही श्रुति बाहर निकली है। यह देख कर आदित्य पूरी तरह शॉक हो जाता है। और वो उससे पूछता हे की तुम यहां क्या कर रही हो तो बोलता है। वह मैं छुप गई थी वरना आज हमारा फंडा फूट जाता यह सुनने के बाद आदित्य बोल रहा तुमने सही बोला फिर दोनों वहां से जल्दी जल्दी अपना अपना ड्रेस चेंज करके निकल जाते हैं।
दूसरी और कॉलेज पहुंचने के बाद वह लोग कैंटीन जाते हैं जहां पर आर्यन उन लोगों का ही वेट कर रहा था। सब लोग आर्यन के पास जाकर बैठ जाते हैं और उसको कुछ खाने को लाने के लिए बोलते हैं। तो आर्यन जाकर सबके लिए कुछ कुछ खाने को लेकर आता है और सबको दे देता है। जिस वजह से सब लोग वहां पर बैठकर खाना खाने लगते हैं। और खाना खाते हैं खाते ही एक दूसरे से बातचीत कर रहे थे। तभी नैना सनाया से सब कुछ बताने को बोलती हे। तो सनाया सब सच सच बोलती है कि वह में रावी के साथ बात कर रही थी कि तभी मुझे एक वेटर ने आकर ड्रिंक दिया। और मैने उसको पि लिया जिस वजह से मुझे कुछ अन इसी फील होता है। तो मैं वॉशरूम की और जाने लगी लेकिन बीच रास्ते में ही किसी ने मुझे कुछ सूंघा दिया। और मैं उसके बाद उसको कुछ याद नहीं। सब लोग शॉक हो जाते हैं। और एक दूसरे को देखने लगते हैं। वही सूरज जल्दी से कहता है किसने किया था यह तुम जानती हो क्या। तो उसने उसे बोली नहीं भैया। तो तभी विक्रम थोड़ी गुस्से से बोलता है आर्यन जरा पता लगा वह लड़का कौन है जिसने सनाया के साथ ही ये सब की थी उसको तो मैं नहीं छोड़ने वाला। यह सुनकर सब लोग विक्रम की और देखते हैं वही विक्रम किसी को कुछ जवाब नहीं देता वह उसकी और देखने लगता है तो आर्यन उस को समझाते हुए बोलता है आस पास वाले एरिया में कैमरा नहीं लगा है जिससे हम नहीं जान सकते हैं कि किसने यह काम किया था। यह सुनने के बाद विक्रम को और भी ज्यादा गुस्सा आता है और गुस्से में अपना हाथ टेबल पर पटक ते हुए बोलता है। कॉलेज वाले केसा सिक्योरिटी देते हैं। उनके कॉलेज के अंदर से ही किसी को अगवा करके ले जाते है। और किसी को भी कुछ पता नहीं चलता। तो सूरज विक्रम को शांत करवाते हुए बोलता है विक्रम तू शांत हो जा। कल हम इस बारे में प्रिंसिपल से बात कर लेंगे तो अब ज्यादा गुस्सा मत हो सूरज की बात सुनने के बाद विक्रम थोड़ी देर के लिए शांत हो जाता है। और फिर बोलता हां कल जाकर उस प्रिंसिपल से बात करनी ही पड़ेगी तो सब लोग हमें अपना सिर हिला देते हैं और अपना अपना खाना खाने लगते हैं। खाना खाने के बाद सब लोग एक साथ अपने घर के लिए निकल जाता है आज सनाया की तबीयत खराब होने की वजह से विक्रम उसको लेकर उसके घर छोड़ देता है और बाकी सब भी आप अपने अपने घर चले जाते हैं।
तो आगे क्या होता है। प्रिंसिपल क्या एक्शन लेने वाले हे। क्या वो लोग आदित्य का प्लान के बारे में जान पाएंगे? क्या नया प्लान बनाएंगे श्रुति और आदित्य जानने के लिए पढ़ते रहिए मेरा ये कहानी इंतजार प्यार का............
To be continued.............
Written by
Unknown writer

रेट व् टिपण्णी करें

Unknown Writer

Unknown Writer 6 महीना पहले

Usha Dattani

Usha Dattani 6 महीना पहले