porn addiction is rape education books and stories free download online pdf in Hindi

रेप एज्युकेशन

रात के दस बज रहे थे। सड़क के किनारे बैठे तीन-चार दोस्त एक साथ पोर्न वीडियो देख रहे थे.

वीडियो में तीन-चार आदमी सड़क पर चल रही एक महिला को रोकते हैं और उसे अपने साथ सेक्स करने के लिए कहते हैं। वो लड़की शुरुआत में थोड़ी आनाकानी करती है, लेकिन बाद में बारी बारी से सब लडको के साथ सेक्स करने के लिए राज़ी हो जाती है।

'क्या वास्तव में लड़किया ऐसा करने के लिए तुरंत राजी हो जाती हैं?' अमित ने वीडियो पोज करके पूछा।

'तो और नही तो क्या! ये लोग वीडियो में थोड़ी ना गलत दिखाते है। महिलाओं को इस तरह से सेक्स के लिए कहा जाना पसंद है.' विशाल ने जवाब दिया।

'हाँ, विशाल सही कह रहा है। अब महिलाओ को एक से ज्यादा मर्दों के साथ ज्यादा मजा आता हैं.' राजेश ने कहा।

'बाते बाद में करना, पहले वीडियो देखो।' नयन ने कहा।

'ये वीडियो बदल दूसरा कर।'

आदित्य ने वीडियो बदल दिया। वीडियो में कुछ पुरुष एक महिला के साथ रेप कर रहे थे, लेकिन वीडियो में दिख रही महिला रेप के मजे ले रही थी।

'क्या महिलाओं के साथ ऐसे ही व्यवहार करते है?'

'हां, महिलाओं को इस तरह ज्यादा मजा आता है।' जब आदित्य वीडियो बदलने गया तो उसने एक युवती को सड़क पर से गुजरते हुए देखा।

'सामने देख।' आदित्य ने कहा।

'लड़की!'

'वो भी जवान लड़की!'

'सेम उसी एज की है जैसी वीडियो में है।' आदित्य ने कहा।

चल जाके पूछते हैं। जैसे इस वीडियो की लड़की की तरह शायद वो भी हमारा इंतजार कर रही हो।

'हाँ चलो चलते हैं।' सबने एक साथ कहा।

चारों उठ खड़े हुए और लड़की के पास जाने लगे।

इन चारों को देखकर लड़की थोड़ी डर गई।

'क्या तुम हमारे साथ सेक्स करोगी?' आदित्य ने पूछा।

'बेशर्म।' यह कहकर लड़की ने आदित्य के गाल पर जोर से थप्पड़ मार दिया।

'वीडियो में ऐसा नहीं हुआ था।' पीछे से शुभम ने कहा।

'लगता है ये लड़की उस दूसरे वीडियो में जो लड़की थी उसकी तरह जबरदस्ती करना चाहती हो।' नयन बोला।

'ऐसा है तो फिर इसे उठाओ।' इतना कहकर आदित्य ने उस लड़की को उठाया और अपनी कार के अंदर ले आया।

इन चारों ने उस लड़की के पूरे कपड़े उतार दिए और उस पोर्न वीडियो की तरह लड़की के साथ जबरदस्ती करने लगे।

चार आदमियों के बीच ये अकेली लड़की अपनी इज्जत बचाने के लिए अपने हाथ पैर मारती रही, लेकिन ये चारों हैवान नहीं रुके।

वीडियो में तो उस लड़की को मजा आ रहा था, लेकिन इस लड़की को मजा क्यू नही आ रहा है ? नयन ने पूछा।

'मुझे लगता है ये लड़की इसलिए ऐसा कर रही है क्योंकि हम ज्यादा बेहतर तरीके से करे।' इतना कहकर आदित्य उस लड़की से और भी ज्यादा सख्ती करने लगा।

थोड़ी देर बाद चारों ने उस लड़की को कार से बाहर निकाला और सड़क पर ले आए।

'इसे तो कुछ आता ही नहीं है।' आदित्य ने ये कहा और उस लड़की को अपनी कार के सामने फेंक दिया। उसने कार स्टार्ट की और कार को उस लड़की के ऊपर चढ़ा दिया।

'फिर क्या हुआ संतोष अंकल? मुझे पूरी कहानी सुननी है।' भीड़ में बैठे सब बच्चों में से एक ने लोगों ने पूछा।

'वो लड़की वहीं मर गई। बाद में पुलिस ने उन चारों लोगो का पता लगाया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बाद में कोर्ट ने उन चारों को फांसी की सजा दी।'

'ओह, सही हुआ। उनके साथ तो यही होना चाहिए था, किसी की जिंदगी इस तरह बर्बाद करनेवाले के साथ ऐसा ही होना चाहिए।' रोहित ने कहा।

'लेकिन संतोष अंकल, मुझे एक बात समझ नहीं आई। आप हमें इस कहानी से क्या सिखाना चाहते हैं?'

'हाँ, मुझे जिस सवाल की आशा थी वो आखिर तुमने पूछ ही लिया। तुम सब ने अपने यूट्यूब में आखिरी बार क्या सर्च किया था? पॉर्न ही ना?' सबके चेहरे देखकर संतोष अंकलने आगे कहा। 'मैं जानता था।' थोड़ी देर रुक कर संतोष अंकल ने आगे कहा। 'पोर्न सिर्फ एक वीडियो नहीं है, यह एक लत है। लोग पोर्न की दुनिया को असली समझने लगते हैं और फिर असल जिंदगी में पोर्न वीडियो के प्रयोग करने की कोशिश करते हैं। तुम सबको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में 70% लोग सर्च इंजन पर पॉर्न सर्च करते हैं। ये कोई अच्छी उपलब्धि नहीं है, हमे इस चीज को बदलने की जरूरत है।

कुछ देर रुकने के बाद संतोष अंकल ने आगे कहा। 'दुनिया में 80 फीसदी रेप पोर्न की वजह से होते हैं। जब उन रेपिस्ट से पूछा जाता है तब 80 फीसदी रेपिस्ट पोर्न वीडियो से उत्तेजित हुए होते है।'

'लेकिन अंकल पोर्न वीडियो से तो सेक्स एजुकेशन मिलता है ना।' भीड़ में से एक बच्चे ने पूछा।
पोर्न वीडियो सेक्स एजुकेशन नहीं है, पोर्न वीडियो रेप एजुकेशन है। पोर्न लोगो को रैप करना सिखाते है। और इसी हैवानियत के कारण मेरी लड़की भी...' अलगा वाक्य संतोष अंकल की रोती आँखों ने समाप्त किया।

'मैं शपथ लेता हु कि मैं आज के बाद कभी पोर्न वीडियो नहीं देखूँगा।' कहकर रोहित ने उसके मोबाइल में रहे पोर्न वीडियो के टेब को दूर किया।

रोहित की तरह सभी ने ऐसा ही किया। और आज संतोष अंकल ने अपने मोहल्ले के लड़कों को पॉर्न की लत से बाहर निकाला।

- प्रविण राजपूत 'कन्हई'


अन्य रसप्रद विकल्प

शेयर करे

NEW REALESED