प्रसिद्ध हिंदी उपन्यास मुफ्त में PDF डाउनलोड करें

You are welcome to the world of inspiring, thrilling and motivating stories written in your own language by the young and aspiring authors on Matrubharti. You will get a life time experience of falling in love with stories.


श्रेणी
Featured Books

शोहरत का घमंड By shama parveen

आलिया का आज कॉलेज में आखिरी दिन है। इसलिए आज वो कॉलेज में पार्टी कर रही है सभी के साथ क्योंकि अब वो कॉलेज नही आयेगी। अब वो एग्जाम देगी और उसके बाद कॉलेज से छुट्टी।

पार्टी खत्म ह...

Read Free

लागा चुनरी में दाग By Saroj Verma

शहर का सबसे बड़ा वृद्धाश्रम जिसका नाम कुटुम्ब है,जहाँ बहुत से वृद्धजन रहते हैं,उनमें महिलाएंँ और पुरुष दोनों ही शामिल हैं,सभी हँसी खुशी उस आश्रम में रहते हैं,किसी वृद्ध महिला को उसक...

Read Free

पागल By Kamini Trivedi

पागल,, हां सही नाम से पुकारा करता था वो मुझे। (हंसते हुए) पागल ही तो हूं मैं उसके लिए , उसके पीछे , उसके प्यार में।"

रात के 1 बज चुके थे । आंखों से नींद कोसों दूर । आज उसे प...

Read Free

Shyambabu And SeX By Swatigrover

श्यामबाबू ने रात के आठ बजे दिल्ली के रेडलाइट एरिया में सड़क के किनारे, कोई कोना देखकर अपनी गाड़ी पार्क की और दस मिनट तक गाड़ी मेंही बैठा रहा और बैठे-बैठे यही सोचता रहा कि उसके जि...

Read Free

भयानक यात्रा By नंदी

उसका शरीर शिथिल हो चुका था, आंखो में डर और बोलने की ताकत भी नही रही थी।
सतीश ने जूली को देखा तो हक्काबक्का रह गया,बिंदास रहने वाली लड़की अचानक से ऐसी हालत में देख के इसके मन में ब...

Read Free

आत्मज्ञान की यात्रा By atul nalavade

प्रश्नों और उत्तरों की इस श्रृंखला में, हम आत्मज्ञान के मार्ग को समझने की यात्रा पर निकलते हैं, जो वास्तविकता और स्वयं की वास्तविक प्रकृति के प्रति गहन जागृति की स्थिति है। गुरु के...

Read Free

भुतिया एक्स्प्रेस अनलिमिटेड कहाणीया By Jaydeep Jhomte

रात का अँधेरा फैल गया. जंगल में रात के कीड़े
किर, किरर्ट एक विशिष्ट आवाज के साथ मृत्यु गीत गाते हैं। चमकीली पीली रोशनी साँप की पीली आँखों जैसी थी। कोंकण के जंगल में आज घना कोहरा फ...

Read Free

कंचन मृग By Dr. Suryapal Singh

स्कन्द पुराण में बुन्देलखण्ड का नाम राज्य के रूप में जुझौती उपलब्घ होता है। इसमें 42000 गाँव सम्मिलित थे। हेन सांग ने इसे चि-चि-टो कहा है। कनिंघम का मत है कि चि-चि-टो जुझौती ही है।...

Read Free

उजाले की ओर By Pranava Bharti

मित्रों ! प्रणाम जीवन की गति बहुत अदभुत है | कोई नहीं जानता कब? कहाँ?क्यों? हमारा जीवन अचानक ही बदल जाता है ,कुछ खो जाता है ,कुछ तिरोहित हो जाता है |हम एक आशा की प्रतीक्षा में खड़े...

Read Free

अर्धांगिनी-अपरिभाषित प्रेम.. By रितेश एम. भटनागर... शब्दकार

हर तरफ बस एंबुलेंस के सायरन का शोर सुनायी दे रहा था,लोग बदहवास से होकर इधर उधर अपने अपनों को बचाने के लिये भाग रहे थे, पूरी पूरी रात लाइनों मे लगने के बाद भी बहुत से ऐसे लोग रह जात...

Read Free

शोहरत का घमंड By shama parveen

आलिया का आज कॉलेज में आखिरी दिन है। इसलिए आज वो कॉलेज में पार्टी कर रही है सभी के साथ क्योंकि अब वो कॉलेज नही आयेगी। अब वो एग्जाम देगी और उसके बाद कॉलेज से छुट्टी।

पार्टी खत्म ह...

Read Free

लागा चुनरी में दाग By Saroj Verma

शहर का सबसे बड़ा वृद्धाश्रम जिसका नाम कुटुम्ब है,जहाँ बहुत से वृद्धजन रहते हैं,उनमें महिलाएंँ और पुरुष दोनों ही शामिल हैं,सभी हँसी खुशी उस आश्रम में रहते हैं,किसी वृद्ध महिला को उसक...

Read Free

पागल By Kamini Trivedi

पागल,, हां सही नाम से पुकारा करता था वो मुझे। (हंसते हुए) पागल ही तो हूं मैं उसके लिए , उसके पीछे , उसके प्यार में।"

रात के 1 बज चुके थे । आंखों से नींद कोसों दूर । आज उसे प...

Read Free

Shyambabu And SeX By Swatigrover

श्यामबाबू ने रात के आठ बजे दिल्ली के रेडलाइट एरिया में सड़क के किनारे, कोई कोना देखकर अपनी गाड़ी पार्क की और दस मिनट तक गाड़ी मेंही बैठा रहा और बैठे-बैठे यही सोचता रहा कि उसके जि...

Read Free

भयानक यात्रा By नंदी

उसका शरीर शिथिल हो चुका था, आंखो में डर और बोलने की ताकत भी नही रही थी।
सतीश ने जूली को देखा तो हक्काबक्का रह गया,बिंदास रहने वाली लड़की अचानक से ऐसी हालत में देख के इसके मन में ब...

Read Free

आत्मज्ञान की यात्रा By atul nalavade

प्रश्नों और उत्तरों की इस श्रृंखला में, हम आत्मज्ञान के मार्ग को समझने की यात्रा पर निकलते हैं, जो वास्तविकता और स्वयं की वास्तविक प्रकृति के प्रति गहन जागृति की स्थिति है। गुरु के...

Read Free

भुतिया एक्स्प्रेस अनलिमिटेड कहाणीया By Jaydeep Jhomte

रात का अँधेरा फैल गया. जंगल में रात के कीड़े
किर, किरर्ट एक विशिष्ट आवाज के साथ मृत्यु गीत गाते हैं। चमकीली पीली रोशनी साँप की पीली आँखों जैसी थी। कोंकण के जंगल में आज घना कोहरा फ...

Read Free

कंचन मृग By Dr. Suryapal Singh

स्कन्द पुराण में बुन्देलखण्ड का नाम राज्य के रूप में जुझौती उपलब्घ होता है। इसमें 42000 गाँव सम्मिलित थे। हेन सांग ने इसे चि-चि-टो कहा है। कनिंघम का मत है कि चि-चि-टो जुझौती ही है।...

Read Free

उजाले की ओर By Pranava Bharti

मित्रों ! प्रणाम जीवन की गति बहुत अदभुत है | कोई नहीं जानता कब? कहाँ?क्यों? हमारा जीवन अचानक ही बदल जाता है ,कुछ खो जाता है ,कुछ तिरोहित हो जाता है |हम एक आशा की प्रतीक्षा में खड़े...

Read Free

अर्धांगिनी-अपरिभाषित प्रेम.. By रितेश एम. भटनागर... शब्दकार

हर तरफ बस एंबुलेंस के सायरन का शोर सुनायी दे रहा था,लोग बदहवास से होकर इधर उधर अपने अपनों को बचाने के लिये भाग रहे थे, पूरी पूरी रात लाइनों मे लगने के बाद भी बहुत से ऐसे लोग रह जात...

Read Free