साउंडलेस लव - 11 Sarvesh Saxena द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

साउंडलेस लव - 11

आकाश ने नशे में नमन से कहा “ क्या यार... तूने बीच में आकर सब खराब कर दिया, मैं उसके दस बारह झापड जरूर लगाता, समझता क्या है अपने आपको, पता नहीं कहां से गले पड़ जाता है” |

यह सुनकर नमन जोर जोर से हंसने लगा और बोला “ सच में किसी ने सच ही कहा है शराब पीकर आदमी सुपरमैन बन जाता है, तेरे साथ भी वही हाल है, ऐसा कर तू अब मत पीना और इंजॉय कर, मै यहीं पूजा के साथ हूं” |



यह कहकर वो पूजा के पास जाकर डांस करने लगा लेकिन आकाश की नजर पार्टी में उस लड़के को ढूंढ रही थी जो अब कहीं नहीं दिख रहा था | आकाश ने एक और ड्रिंक अपने गले से उतारा और अंगड़ाई लेते हुए फिर डांस करने लगा तभी एक फैंसी ड्रेस पहने हुए मॉडर्न सी लड़की आई और आकाश की बाहों में बाँहें डालकर डांस करने लगी, आकाश उसकी बांहें बार-बार अपने कंधों से हटाता लेकिन वह बार-बार अपनी बाहें उसके कंधे पर रखकर घूमने लगती और उससे लिपटने की कोशिश करती |



कुछ देर तक ऐसा करने के बात जब लड़की आकाश को चूमने के लिए उतावली हो गई तो आकाश उसको बड़ी जोर से धक्का देते हुए वहां से भाग कर दूसरी तरफ आया लेकिन उसके कदम डगमगा गये और वो लड़खड़ाकर फिर जाकर किसी से टकरा गया जिससे टकराने वाला जमीन पर गिर गया और लोग उसे उठाने लगे, उसने पीछे मुड़कर अपना हाँथ बढ़ाते हुए कहा “ सॉरी प्लीज.....आई एम सो सॉरी, कहीं आपको चोट तो नहीं आई” |



यह कहते हुए उसने उस शख्स को उठाया और जैसे ही उसने उसके चेहरे पर नजर डाली उसे कुछ अजीब लगा, नशे और डिस्को लाइट के कारण पार्टी मे किसी को जल्दी से पहचान पाना मुश्किल था तभी आकाश ने उस शक्स को नजर अन्दाज करते हुये बिना देखे ही फिर सॉरी बोला, नशे में उसने ना जाने कितनी बार सॉरी बोला जिससे वो टकराया था |



इसके बाद वो नाचने लगा कि तभी सामने से आवाज आई "अरे तुम..? मतलब हद हो गई, तुमने मुझे परेशान करने का ठेका ले रखा है क्या, पहले तो तुमने मेरा ड्रिंक गिरा कर मेरी शर्ट खराब करी और फिर ठोकर मार दी मुझे गिरा दिया और अब सॉरी, ये क्या बात हुई? मैं आपको ठोकर मार दूं और सॉरी बोलूं? हद हो गई, अरे जब डांस करना नहीं आता तो पार्टी में क्यों आते हो और जब पचती नहीं तो पीते क्यों हो, पता नहीं आजकल कैसे-कैसे लोगों से पाला पड़ जाता है, मुझे तो ऐसा लग रहा है तुम अपने पैसों की नहीं पी रहे हो, किसी दोस्त के साथ आए होगे वही पिला रहा होगा” |



इस पर आकाश चिढ़ते हुए कहा “ क्या बकवास किए जा रहा है कितनी मिडिल क्लास लैंग्वेज है, गांव से आया है क्या और सुन मेरे पास खुद के अलावा तेरे जैसे चार लोगों को पिलाने के लिए पैसे हैं, खबरदार जो अब आगे एक लफ्ज़ भी कहा” |



इस पर उस लड़के ने फिर कहा अच्छे से जानता हूं तुमको और तुम्हारा टेस्ट भी, स्मार्ट लड़का देखा नहीं कि बस हो गए शुरू, साफ-साफ बोलो चाहते क्या हो वरना मुझसे पंगा लेना बहुत भारी पड़ेगा तुम्हें" |



यह कहकर वह लड़का चुप हो गया, उसकी इतनी बोल्ड बातें सुनकर आकाश शर्म से पानी हो गया, वो तो शुक्र है कि म्युजिक इतना तेज़ था तो किसी ने कुछ सुना नही वरना वो तो किसी का सामना भी नही कर पाता, वो मन में यही सोचने लगा कि कैसा लडका है ये, कलेजा चीरती हुई बात कह देता है वो बिना हया शर्म के |



वो न चाहते हुए भी दबे होंठों से मुस्कुराने लगा और बोला," तुम अपने आप को समझते क्या हो? मैं तुम्हें लाइन क्यों मारूंगा? तुम कोई लड़की हो क्या, या खुद को ऐश्वर्या राय समझते हो"?



यह सुनकर वो लड़का तपाक से बोला," अच्छा.... मैं लड़की होता तो तुम लाइन मारते क्या ब्ल्डी ईडियट, ये ना अपनी ओवर एक्टिंग अपने घर में करना जाकर मैं सब समझता हूं, सब जानता हूं"??

आकाश उसकी बात सुनकर चुप हो गया लेकिन उसकी यह बात उसके कानों में बार-बार गूंजने लगी और उसने मन ही मन कहा “ ठीक ही तो कह रहा है ये लेकिन इसे.... इसे कैसे पता लगा, खैर छोड़ो बहुत चालाक लड़का लगता है, इससे दूर रहने में ही भलाई है, हे भगवान बचाना इस बला से, यह तो पार्टी में चिल्ला चिल्ला कर पता नहीं क्या-क्या बोल डालेगा, इससे बेहतर यही है कि इसके पास से हट जाओ” |



यही सब सोचकर आकाश ने उससे कहा “ अरे यार प्लीज आई एम सो सॉरी मुझे माफ कर दो और उसके सामने हाथ जोड़कर वह फटाफट इधर-उधर हो गया” |



आकाश दूसरी तरफ आकर वहां पड़े सोफे पर बैठ कर सिगरेट पीने लगा और अपने आसपास के लोगों को देखने लगा तो वह उसको देख कर मुस्कुरा रहे थे | आकाश फिर शर्म से झुक गया और सबकी नजरों से बचने के लिए दोबारा डांस करने लगा | अब वो डांस करते हुए बार-बार उस लड़के की तरफ देख रहा था और वह लड़का भी मौका पाते ही आकाश को देखने लगता, उन्हें देखकर ऐसा लगता जैसे दोनों इशारों इशारों में जैसे कुछ बात कर रहे हो, जब दोनों एक दूसरे को देख लेते कि दोनों ही एक दूसरे को देख रहे हैं तो दोनों नजर झुका कर दूसरी तरफ देखने लगते |



दोनों के पैर पार्टी में बजते हुए गानों पर थिरक रहे थे और नजरों की बातों का सिलसिला धीरे धीरे चल रहा था | दोनों को देखकर अब लग रहा था कि दोनों की नाराजगी भी दूर हो गई हो | नमन और पूजा भी अपने दोस्तों के साथ अलग पार्टी इंजॉय कर रहे थे |



पूजा हाई सोसाइटी के आए हुए लड़कों और लड़कियों को देखकर बार-बार कहती “ वाओ यार काश मेरे पास ऐसी ड्रेस होती है, काश मेरे पास सब कुछ होता, तुम उस लडके की तरह लुक रखो, या उसकी तरह कपडे पहना करो बहुत रॉयल लगोगे” और न जाने वो क्या क्या कहती |

इस पर नमन उसे चिढ़ाने के लिए कह देता “ जान.... सब कुछ हो जाएगा बस यह मत कहना कि काश इनके जैसा बॉयफ्रेंड तुम्हारे पास होता तो.... क्युंकि बॉयफ्रेंड तुम्हारा मैं ही बेस्ट हूं, यू नो आई एम द बेस्ट” |

ये सुनकर पूजा हंसने लगती और दोनों एक दूसरे के गले लगके डांस करने लगते | नशे के कारण आकाश की आंखें अब बन्द होने लगी थी लेकिन फिर भी वह उनको खोले हुए था और गानों पर बराबर झूम रहा था शायद उस लड़के को एकटक देखने के लिए जो अभी भी आकाश को निहार रहा था और फिर पलक झपकते ही न जाने कहां गायब हो गया, आकाश बार-बार इधर-उधर उसे देखता रहा लेकिन वह उसे कहीं नजर ना आया |