में और मेरे अहसास - 39 Darshita Babubhai Shah द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

में और मेरे अहसास - 39

दर्द भले ही साँसे हों l
अब इस को होंसला जीने का बनाओ ll

  **********************************

ददँ हमारी सांसे है, अब तुम ही बताओ मैं केसे भुलुं?
कौन कमबख्त कहता है भूल जाओ, पर दुखी न हों ll

  **********************************

दर्द को दोस्त बनाया है तो दोस्ती निभाओ सनम l
कभी कभी दोस्त दर्द दे जाते हैं, पर दुखी न हों ll

वादा करो याद करो तो मुस्कराते हुऐ करोगे  l
भूल न पाओ तो कोई बात नहीं, पर दुखी न हों ll

याद हमारी तरह किया करो बिना उदासी के l
भूल ने को कहां कह्ते है बस, पर दुखी न हों ll

पल दो पल की बात नहीं उम्रभर का गम पाला है l
आखिरी साँस तक साथ देगा, पर दुखी न हों ll

मानते हैं बड़ा ज़ालिम दर्द दे गया है देनेवाला l
वक़्त ही मरहम है मान लो, पर दुखी न हों ll

जिस ने दर्द दिया है वहीं इलाज भी करेगा l
होंसला बनाये रखना तुम, पर दुखी न हों ll

  **********************************

कभी मेरे अश्क की बुंदो मे देखना,
तुम्हारी तसवीर तुम्हे नजर आयेगी।

कभी मेरी आँखों के नूर को देखना l
तुम्हारी तकदीर तुम्हें नज़र आयेगी ll

  **********************************

कोई ददँ हो तो हमे बता दो,चुप ना रहो।
चाहे दर्द से दामन भर जाये , चुप ना रहो।l

सुनो दर्द से सालो पुराना रिश्ता है मेरा l
अपनी सारी परेशानी देदो, चुप ना रहो।l

जीतना चाहे आजमा लेना कभी भी हमे l
दर्द को गले से लगा दूंगी, चुप ना रहो ll

तुम्हारा दिया दर्द भी सर आँखों पे l
मुहब्बत का तोहफ़ा देदो, चुप ना रहो।l

पुरानी शराब की तरह मजेदार होगा l
जी जान से चाहेंगे उसे,  चुप ना रहो।l

  **********************************

हर तरफ गम है और गमो मे हम l
हर नज़र हम है और पलों मे हम ll

  **********************************

बादलों मे छुपा बैठा है चांद l
चाँदनी से रूठा हुआ है चांद ll

तुम्हें तो आदत है इंतजार की l
इतना फाजिल नहीं है चांद ll

सितारों से दोस्ती करने की l
तैयारी मे जुटा है चांद ll

  **********************************

खुद से और खुदा से बढ़कर चाहो उसे l
क्यूँकी ख़ुदा का नायाब तोहफ़ा है

"माँ" ll

  **********************************

आज जी भर के देख लेने दो
मुजे मेरा चांद नजर आया है ll

देखो एक मुद्दत के बाद वो l
चांदनी को साथ लाया है ll

उनको एक जलक देखते ही l
अब चैन दिल ने पाया है ll

मुसलसल इंतजार के बाद l
आज गहरा घना साया है ll

सिद्दत से किए हुए प्यार का l
उजला उजाला छाया है ll

  **********************************

इश्क़ न करना कभी भी कोई l
हर शख्स ये कयुं कहेता है ll

ता-उम्र वफ़ा करने के बाद l
दर्द जुदाई का कयुं सहेता है ll

हर ख्वाब अधुरा कयुं रहेता है l
हर कशीश दिल कयुं सहेता है ll

आजकल राबता रखने मे भी l
खींचा खींचा सा कयुं रहेता हैl

प्यार से कहने वाली बाते वो l
ढिंढोरा पीटकर कयुं कहेता  है ll

  **********************************

याद गुमसुम आती है l
पिया के पास ले जाती है ll

होश ओ हवास के साथ l
दिल का सुकूं उड़ाती है ll

  **********************************

इल्ज़ाम पे इल्ज़ाम लगाये जा रहे हो l
जरा खता भी बता दो दिल - ए - नादाँ ll

क्या बात दिल पे लगाये फ़िर रहे हो l
जरा सज़ा भी बता दो दिल - ए - नादाँ ll

बड़ा गहरा ज़ख्म देके जो जा रहे हो l
जरा दवा भी बता दो दिल - ए - नादाँ ll

  **********************************

रूह चली जाये गी जिस्म रह जायेगा l
हम चले जायेगे प्यार रह जायेगा ll

  **********************************

सुरमई यादो के सहारे जी रहे हैं l
प्यारे वादों के सहारे जी रहे हैं ll

  **********************************

आँख मे मजिल रख दे l
पैरो मे सफ़र रख दे ll

खुदा के बंदे पर ll
मीठी नज़र रख दे ll

कोशिश करे उसकी l
उजली सहर रख दे ll

  **********************************

बारिशों का मौसम है l
चाहतों का मौसम है ll

  **********************************

 

रेट व् टिपण्णी करें

Apurv Adarsh

Apurv Adarsh 11 महीना पहले

Ajay Bhatti

Ajay Bhatti 11 महीना पहले

Jignesh Shah

Jignesh Shah मातृभारती सत्यापित 11 महीना पहले

Gaurang Doshi

Gaurang Doshi 11 महीना पहले