हिंदी कविता कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

में और मेरे अहसास - 55
द्वारा Darshita Babubhai Shah

मैं नारी हूँ , अपराजिता हूँ l न झुकुंगी, न रुकूंगी, न रोउंगी, न डरूँगी l  हौसलों के साथ आगे कदम बढाउंगी l कोई जंजीरें मेरे पाँव बाँध नहीं ...

शायरी
द्वारा Tru...

*************************************************खुदा तेरी रहमतो के किस्से केसे बयां करु।बेहिसाब दिया तुने,इसका क्या हिसाब करु।किसी की नजर से मुझको क्या वास्ता ऐ खुदा।बस तेरी नज़र में रहूं,ये अरज बार बार करु।***********************************************

में और मेरे अहसास - 54
द्वारा Darshita Babubhai Shah

आश टूट रहीं हैं ख्वाइशों की lसाजिश हैं आझमाईशो की ll बड़ी मुद्दतों के बाद मिले है तो lलंबी सूची है फ़रमाइशों की ll रेत सा तपिश हो गया ...

संवाद खुद का खुद से
द्वारा Alok Mishra

लिखता हुं मैलिखता नहीं वाह के लिए ।लिखता नहीं गुनाह के लिए।हूक उठती है दिल में ऐसी ,लिखता हुँ मै आह के लिए ।।लिखता नहीं सलाह के लिए ।लिखता ...

में और मेरे अहसास - 53
द्वारा Darshita Babubhai Shah

जवान दिखने के जिंदा शौक़ रख lदुनियावालो के सामने रौब रख ll सब के साथ मिलझुल कर रह lदिल मे ख़ुदा का तू खौफ़ रख ll       ...

कविता
द्वारा Jitin Tyagi

छुआ था। जब तुमने रूमानी होकर मुझे पहली बारसहम सी गई थी मैं, सिमट सी गई थी मैंछलक सी गई थी मैं, और एक जगह जड़ सी हो गई ...

में और मेरे अहसास - 52
द्वारा Darshita Babubhai Shah

जलन आफताब की सुहानी लगी lजलन माहताब की रूहानी लगी ll एक दूसरे पर जान न्यौछावर lप्यार की कहानी पुरानी लगी ll   **************************** दिल की धड़कन मदहोश हो ...

अधूरे प्यार की कहानी
द्वारा Jay Khavada

एक लड़की फेसबुक पर मिली थीकमेंट्स के जरिए बातें चली थी।वह मुझे पोस्ट पर कमेंट्स करतीऔर मैं उसकी पोस्ट कमेंट्स देता था ।एक दिन कमेंट्स मैसेज में बदल गएमैसेज ...

में और मेरे अहसास - 51
द्वारा Darshita Babubhai Shah

तुम तो मेरी जान हो lममता का मेरी मान हो ll आशीर्वाद मे खुदा का lमुझे दिया वरदान हो ll जिंदगी की पतझड़ मे lबगिया का हरा पान हो ...

सुकून है मेरी मां
द्वारा Sangeeta Choudhary

Man tu Hi tu khwab hai... tu Hi tu himmat Meri...मां तू ही तो रब है ...मैं तू ही तो जान है... मां तू ही तो जहान है...मां तू ...

Life Cycle ( दस्तूर जिंदगी का )
द्वारा bhumesh kamdi

बचपन खो चूका है कही, किसी पुराने मोड़ पर जवानी भी हे जा रही अपने लड़कपन के छाप छोड़ कर आएगा ...

में और मेरे अहसास - 50
द्वारा Darshita Babubhai Shah

इश्क की पाती आई है lआंख मे पानी लाई है ll सालों से अनकही हुईं lबात दिल की समाई है ll मिरी दिल बहलाने के लिए lख़ुद की तस्वीर ...

नवगीत - नए अनुबंध ( पांच नवगीत)
द्वारा Dr Jaya Shankar Shukla

१-नई पौधनई पौधकी बदचलनी को बरगद झेल रहे, ऊँची-नीची पगडंडी पर पाँव फिसलते हैं , एक-दूसरे से मिलजुल कर कब ये चलते हैं .गुस्से ...

में और मेरे अहसास - 49
द्वारा Darshita Babubhai Shah

चलो एक बार फिर से बचपन में चले जाते हैं lहर पल हर लम्हा चैन ओ सुकून की साँस पाते हैं ll   ******************************** जिंदगी रुक गई साँसें चलतीं ...

TOUCH THOSE KITES
द्वारा KHEMENDRA SINGH

when the sky covered with joy,when the children smile at the sky,the land of festival brings many,many festival with sun's rays.a festival mood fills up by the air,the kites ...

कुछ बंधन ऐसे भी हुआ करते है।।
द्वारा Aziz

कुछ बंधन ऐसे भी हुआ करते है।।जो प्यारे से जज़्बात से जुड़े,ओर महोब्बत तक का सफर तय करते है।कुछ बंधन ऐसे भी हुआ करते है।।जो उम्मीद बने तब जब ...

Collection of short poems
द्वारा Chandani Shah

Collection of short poems:तेरे नाम लिख दूंलिखने को तो चांदनी रात लिख दूं,श्याम प्रिये, तारों की बारात लिख दूं,तु जो दामन थामे तो, में राधा तेरी हर श्रृंगार तेरे ...

मेरे शब्द मेरी पहचान - 15
द्वारा Shruti Sharma

आज की कविताएं :-)1.) अँधेरा ।2.) तपना ज़रूरी है ।देखा जाए तो रौशनी आँखो को धूमिल करती है और अंधेरा आँखो में पडी धूल को हटाने में मददगार ...