में और मेरे अहसास - 28 Darshita Babubhai Shah द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

में और मेरे अहसास - 28

 

वफ़ा पे मेरी गर एतमाद हो तो इंतजार करना l

कभी मेरी वफ़ाओ का शायरी मे ज़िक्र करना ll

 

*************************************

 

हस्ते हुए चहरे को देख धोखा खा गए l

अंदर तो धगधगता लावा उबल रहा था ll

 

*************************************

 

एकाएक उनसे मुलाकात हो गई l

फ़िर आखों से शुरू बारिश हो गई ll

 

*************************************

 

 

इतनी भी क्या बाते होती है रोज रोज?

आज क्यों घर लौटते ही शाम हो गई?

 

*************************************

 

जान कहते हुए प्यारी जान हो गई l

तेरे आने से जिंदगी रोशन हो गई ll

 

*************************************

 

प्रेम संबंध को जीना पड़ता है l

सच्चे मन से निभाना पड़ता है ll

 

*************************************

 

जन्मों जन्म का होता है साथ  l

रिरतो मे दिल बोना पड़ता है ll

 

*************************************

 

उम्रभर सुकून से जीने के लिए l

एतमाद सीखना सीखना पड़ता है ll

 

*************************************

 

साथ तेरे गुजरे थे वहीं पल सच्चे थे l

बचपन के वो दिन माँ के संग अच्छे थे ll

 

 

*************************************

 

एक ही दिन मे दिखा देगे दुनिया बदलकर l

आज लोगो को देखेगें हम चश्मा बदलकर ll

 

*************************************

 

दुसरों की खूब उड़ाई हँसी महफिलों मे जाके l

बात खुद की हो, बोलते हैं लहजा बदलकर ll

 

*************************************

 

ता-उम्र नकाबपोश ओढ़ के घूमते थे हर कहीं l

अब खुद को देखते रंगीन आईना बदलकर ll

 

*************************************

 

जानते हैं जूठा दिलासा देकर दिल जीतने को l

खुश करने आये हैं वो नक्श-ए-पा बदलकर ll

 

*************************************

 

टिप टीप बारिस बरसती है प्यारी निगाहों से क्यों?

दीदार - ए यार से धड़कने बेलगाम होती है क्यों?

 

*************************************

 

हुक्के के धुएँ के साथ उड़ा ना देना मेरे प्यार को l

मुजे तो भुला दिया पर, भुला देना मेरे प्यार को ll

 

*************************************

 

महफ़िल मे गैरों के साथ बैठ के पी रहे हो जाम l

मेरी नज़रों से पिया था, रुला दिया मेरे प्यार को ll

 

*************************************

 

 

महकती है साँसे क्यों?

हाथ ना पकड़ो तो ना सही साथ तो चलो l

बात ना करो तो ना सही साथ तो चलो ll

 

*************************************

 

 

 

इस बदलते दौर में तुम भी बदल जाओगे l

याद ना करो तो ना सही साथ तो चलो ll

 

*************************************

 

ख्वाब मुकम्मल हो जाए बस दुआ करो l

दीदार- ए-यार हो जाए बस दुआ करो ll

 

*************************************

 

रेत सी सरकी जा रही है हाथो से देखो l

जिंदगी से प्यार हो जाए बस दुआ करो ll

 

*************************************

 

बड़ी कठिन गुजरी है जो भी गुजारी है l

मुसलसल आसान हो जाए बस दुआ करो ll

 

*************************************

 

पलकों पे बिठाया है l

नजरों मे समाया है ll

 

*************************************

 

प्यारी नूरे जहां को l

दिल मे बसाया है ll

 

*************************************

 

शहीदो को श्रध्धांजलि देने वालो l

अपनो के लिए जीकर दिखाओ ll

 

*************************************

 

वतन के लिए शहीद होने वाला l

अपना घर शहीद कर जाता है ll

 

*************************************

 

ना जाने क्या हरपाल सोचता रहता है दिल l

ना चाहते हुए इंतजार करता रहता है दिल ll

 

*************************************

 

 

साथ रहते हैं फिर भी लगता है मुद्दते हो गई l 

किसके ख्यालो मे खोया खोया रहता है दिल ll

 

*************************************

 

जिसे पास बिठाकर घटों बाते किया करते थे l

ज़माने भर में वो सुकून ढूढ़ता रहता है दिल ll

 

*************************************

 

 दिल सुनहरी यादों से भरा सा लगता है l

खुशी से जीने का आसरा सा लगता है ll

 

*************************************

 

क्यों ना ख्वाहिश रखूँ खूबसूरत पलो की?

साथ जो भी बीता लम्हा जरा सा लगता है ll

 

*************************************

 

मोबाइल मे प्यारी तस्वीरें देखकर आया हुआ l

होठो पे जूठा तबस्सुम बावरा सा लगता है ll

 

*************************************

 

फ़ासले चाहे जितने भी बना लो l

दिल से नहीं निकाल पाओगे हमे ll

 

*************************************

 

इस तरह समा गया है वो दिल-ओ-जान मे मेरी l

दिल वहां धड़कता है साँसे मेरी चल रही है ll

 

*************************************

 

ज़ख्म भरने मे वक़्त लगता है l

नाम भूलने मे वक़्त लगता है ll

 

*************************************

 

तेज हवाओ के साथ पतंग को l

आसमा छूने मे वक़्त लगता है l

 

*************************************

 

 

रात मुरादों वाली बीत रही है आहिस्ता आहिस्ता l

आसमाँ मे चांदनी खिल रही है आहिस्ता आहिस्ता ll

 

*************************************

 

बादलों के साथ चांद सितारे आँख मिचोली खेले l

घूंघट मे दुल्हन शर्मा रही है आहिस्ता आहिस्ता ll

 

*************************************

 

नीला ,पीला, रंगों का सुन्दर है मेघधनुष दिखता l

शाम सुहानी ढल रही है आहिस्ता आहिस्ता ll

 

*************************************

 

आँख मे काजल है ll

हाथ मे कतार है l

 

*************************************

 

ह्दय मे प्यार है l

बात मे करतार है ll

 

*************************************

 

न किसी की आदत न जरूरत बनो l

आदत बदल जाती है l

जरूरते बढ़ती रहती है ll

 

*************************************

 

हाल-ए-दिल लिखती हूँ l

याद तुम्हें ही करती हूँ ll

 

*************************************

 

ढूंढ़ने थोड़ी सी खुशियां l

ज़माने भर में फिरती हूँ ll

 

*************************************

 

दर्द को लाड़ करने से क्या हासिल होगा?

दिल मे आग भरने से क्या हासिल होगा?

 

*************************************

 

चाहत की इन्तहा होने तक प्यार किया है l

बारबार उनपे मरने से क्या हासिल होगा?

 

*************************************

 

जिन्हें बाते बनानी है वो तो बाते बनाएंगे l

यू ज़माने से डरने से क्या हासिल होगा?

 

*************************************

 

छोटी छोटी बातों मे दिल मत दुखाया कीजिए l

हर बार जान को तुम यू मत जलाया कीजिए ll

 

*************************************

 

सलीक़ा होता है पीने का महफ़िल मे दोस्तों सुनो l

दिल बहलाने के लिए कुछ जाम बचाया कीजिए ll

रेट व् टिपण्णी करें

Parul

Parul मातृभारती सत्यापित 1 साल पहले

Neha Sharma

Neha Sharma मातृभारती सत्यापित 1 साल पहले

Jignesh Shah

Jignesh Shah मातृभारती सत्यापित 1 साल पहले