Pyar ek anokha rishta - 2 books and stories free download online pdf in Hindi

प्यार का अनोखा रिश्ता - भाग २

हिना कमरे में जाकर बैठ गई और फिर बोली ओह माई गॉड, कहां फस गई मैं?
फिर बार बार फोन मिलाने लगी और फिर बोली राज तुमने अच्छा नहीं किया, देखना इसलिए तुम बहुत पछताओगे।।
फिर फोन की घंटी बजने लगीं और फिर हिना ने फोन उठाया और फिर बोली हां अब क्या है?
उधर से आवाज आई, तुम शादी कर ली हो तो मेरा पीछा छोड़ दो? please delete my contact number..
हिना ने कहा हां, ठीक है तुम फोन रखो!
फिर हिना ने फोन पटक दिया और रोने लगी और फिर बोली आई लव यू।।
हमारा रिलेशनशिप तुम युही नहीं तोड़ सकते हो।
फिर हिना अपने अतीत में खो गई।।
वकालत पढ़ने के लिए सबसे बेस्ट कालेज में दाखिला लिया था और आज पहला दिन था।
और फिर गेट पर ही दोनों अजनबी एक दूसरे से टकराते हुए गिर गए।
हिना ने कहा हिम्मत कैसे हुई मुझे छूने की?
राज ने कहा अरे, बाबा ये तो बहुत बोलती है!
मैंने तो सिर्फ जान बचाया वो भी अपनी जान को!
हिना ने कहा हां, ठीक है।।
फिर हिना क्लास में पहुंच गई जहां पर देखा कि सब लोग उस लड़के को घेर कर कुछ बातें कल शायद सबको syllabus दे रहा था। फिर मेरे हाथ में एक syllabus थमा दिया और फिर बोला ये मैडम आपका।
हिना ने कहा ओह! क्या है जान कर मुझे छूने की कोशिश करते हो?
राज ने कहा अरे बाबा ये क्या हो गया?
मुझे छूने के लिए हजारों लड़कियां मरती रहती है और ये देखिए!
हिना बिना कुछ कहे ही निकल गई।
फिर सारे लेक्चर सुनने के बाद हिना लाईब्रेरी पहुंच गई तो देखा कि राज वहां पर बैठ कर पढ़ाई कर रहा था।
हिना ने मन में सोचा अरे अब फिर से ये?
हिना कुछ लाॅ की किताब लेने गई तो पता चला कि पहले से ही कोई ले लिया और फिर पता चला कि राज ने लिए है।
और फिर हिना जब जाने लगी तो राज ने कहा हिना ये लो।
हिना ने राज की आंखों में देखा और फिर बोली अरे तुम रखो।
राज ने कहा प्लीज़!
हिना ने कहा ओह माई गॉड ओके!
फिर राज सारी किताबें हिना को दिया और फिर बोला अच्छी तरह से पढ़ो।
हिना भी वहां से घर वापस आ गई।
घर आते ही मम्मी के सवालों पर सवाल चलने लगा तो हिना ने कहा ओह मम्मी अब बस करो,सब अच्छा था आज!
फिर हिना अपने कमरे में चली गई और फिर फ्रेश हो कर आ गई।।
और अपने बेड पर लेट कर किताबों को देखने लगीं। देखते देखते उसकी नजर एक नोट पर पड़ गई।
हिना ने वो नोट को पढ़ा।
लिखा था कि हिना तुम्हारी सादगी मुझे भा गई है और ये सब प्यार ही है जिंदगी भर का साथ चाहिए क्या ख्याल है?
राज।
हिना ने कहा उसकी इतनी हिम्मत!
ऐसे ही प्यार हो जाता है क्या?
फिर फोन बजने लगा तो हिना ने call recieve किया तो जीनत थी।
हिना सुन एक कोचिंग क्लास होने वाला है आएगी?
हिना ने कहा हां, क्यों नहीं?
ज़ीनत ने कहा ठीक है सात बजे मिलते हैं।

हिना ने उस नोट को बैग में रख दिया और फिर वहां से बाहर निकल आई।
मम्मा कुछ नाश्ता दोगी?
आशा ने कहा हां ये लो बेड पकौड़े।
हिना ने कहा ओह थैंक यू।।
रमेश ने कहा बेटा कैसा रहा?
हिना ने कहा हां, अच्छा ‌
फिर हिना ने कहा मुझे अभी कोचिंग क्लास के लिए जाना है।
आशा ने कहा अब कोचिंग?

हिना ने कहा हां ठीक है मैं चलती हूं।
हिना बाहर निकल कर ज़ीनत को फोन किया और फिर ज़ीनत आ गई।
फिर सब एक घर में पहुंच गए।
हिना ने कहा ये किसका घर है?
ज़ीनत ने कहा अरे बाबा चलो तो।
फिर जब अन्दर पहुंच गई तो हिना ने देखा कि राज बैठा था।
हिना तुरन्त वहां से जाने लगी तो राज ने कहा अरे मैं शेर हूं क्या जो तुम्हें खा जाऊंगा।
हिना ने कहा हां, हो तुम।
सब हंसने लगे।
फिर सब पढ़ाई करने लगे।
राज सबको help कर रहा था।
फिर राज धीरे से हिना के कान में कुछ बोला।
हिना कुछ नहीं बोली।
राज गुस्से से देखा और फिर बोला कि हां ठीक है सब घर जाओ।
राज का मुड खराब हो गया है।।
सब शोर मचाने लगे।
फिर सब जाने लगें और फिर हिना भी जाने लगी तो राज ने उसका हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खींचा।
हिना की आंखें और बड़ी हो गई थी और फिर बोली अरे तुम!
राज ने कहा हां, मुझे जबाव चाहिए?
हिना ने कहा हाथ छोड़ो मेरा!
राज ने कहा पहले जबाव दो।
हिना ने कहा अच्छी जबरदस्ती है।।
मुझे कुछ नहीं मालूम।
राज ने कहा ओह ठीक है आज ही तुम्हारे घर चलता हूं।।
हिना ने कहा फनटूस ।
कह कर जाने लगी और फिर राज भी पीछे आने लगा।
हिना ने कहा पीछा कर रहे हो मेरा।।
राज ने कहा हां और क्या इतनी रात हो गई है।
मैं कैसे अकेले छोड़ सकता था।।
हिना ने कहा ओह माई गॉड।कब से जानते हो मुझे?
राज ने कहा सदियों से डियर।

हिना ने कहा, अब जाओ तुम मेरा घर आ गया।
राज ने कहा हां, हां चला जाता हूं।।
फिर राज हिना को देखें बिना चला गया।

वर्तमान में----------------------

हिना रोने लगी और फिर बोली राज ऐसा क्यों किया तुमने?
ये सब क्या नाटक था तुम्हारा।।
मैं समझ नहीं पाई तुम्हें!
क्यों किया ऐसा! इतना सपना दिखाया और फिर छोड़ दिया ना।।
अब जीने का कोई मतलब नहीं है मुझे।
मैं खुद को ही खत्म कर देती हुं,सारा किस्सा ही खत्म।।
हिना ने कुछ करने का सोचा कि उसके कमरे में किसी के आने की आहट सुनाई दी।
हिना खुद को सम्हाल कर अपने बालों को संवारने लगी।
हिना बेटा, तैयार हो गई क्या?
हिना ने कहा आइए आंटी।।
अमर की मां आ गई और फिर बोली बेटा घर की याद आ रही है?
हिना ने कहा हां,बस थोड़ा सा।।
आभा से कहा बेटा तुम आंटी मत बोलो मुझे मां कहो।
क्योंकि मुझे कोई बेटी नहीं है तो मेरा सपना था कि जब बहु आएगी तो वो मां बोलेंगी।
हिना ने कहा ओह, ओके। मम्मी जी।
आभा ने हंसते हुए कहा बेटा तैयार हो जा हमें कुल देवी की पूजा करनी है।
इस खानदान का रिवाज है!
हिना ने कहा हां ठीक है मैं अभी आती हूं।
आभा ने कहा हां, ठीक है।
ये कह कर आभा चली गई।
हिना ने अपने पैर पटकते हुए कहा ओह अब ये सब करना होगा।।
फिर बेमन से ही हिना तैयार हो गई और फिर नीचे पहुंच गई।
आभा ने कहा आओ,हिना ये देखो कुल देवी मंदिर जहां तुम और अमर बैठ जाओ।
अमर फोन पर बात करते हुए कहा अरे मां अब यह क्या नाटक है?
आभा ने कहा अरे बाबा ऐसा मत बोलो आओ तो।
हिना पहले ही जाकर बैठ गई थी।
हिना ने मन में सोचा जब मन से उसको ही अपना सब कुछ मान चुकी हुं तो अब ये सब क्या?
ये सोचते हुए अपने गले में लटकते हुए लाकेट को छू कर आंख बंद कर लिया।
अमर बगल में बैठ गए पर हिना तो अपने दुनिया में खो गई थी।
फिर कुछ देर बाद दोनों उठ गए।
अमर ने हिना को देखते हुए कहा अरे आपके काजल फैल गए हैं।
हिना ने कहा ओके थैंक यू।
अमर को ये सोचने में ज्यादा समय नहीं लगा कि ये शादी हिना के मर्जी से नहीं हूआ।
फिर अमर भी अपने दोस्तों से बात करने लगा।।

हिना ने कहा मम्मी हम ऊपर जाए?
आभा ने कहा हां, ठीक है।
हिना सीढ़ी से ऊपर चली गई।

साड़ी change करने के बाद बेड पर लेट गई और फिर गले में हार में लगे लाकेट को देखते हुए फिर अतीत में खो गई।

हम दोनों में कुछ तो था वरना हम हर बार टकराते नहीं।।
इस तरह से पहला साल निकल गया।
हिना फर्स्ट क्लास फर्स्ट आईं थीं और राज तो टापर्स लिस्ट में पहला स्थान प्राप्त किया था।
सब उसको लेकर हंसी मज़ाक कर रहे थे।
शायद मुझे एहसास हो गया था कि ये प्यार ही तो है।

एक अजनबी सा एहसास दिल को सताएं शायद यही तो प्यार है।।

फिर हिना वहां से निकल गई और फिर किसी तरह से घर आकर अपने कमरे में जाकर दरवाजा बंद कर दिया और फिर खुब रोने लगी और फिर बोली क्या मुझे राज से प्यार हो गया है।
नहीं, नहीं ऐसा नहीं हो सकता है मुझे तो प्यार नहीं हो सकता।।
मुझे किसी भी तरह राज से दूर रहना होगा।
वरना राज को पता चल जाएगा।।


फिर हिना वर्तमान में आ गई और फिर बोली कि अब मुझे खुद को सम्हाल लेना चाहिए वरना यहां पर सबको पता चल गया तो डैड की बदनामी होगी।।

फिर शाम को सारे रिश्तेदार आ गए थे हिना को देखने।
बहु बहुत ही खूबसूरत है।
सब यह ही बोल रहे थे।
क्रमशः

अन्य रसप्रद विकल्प

शेयर करे

NEW REALESED