श्रावण‌ में जरूर लगाए यह पौधे Renu द्वारा ज्योतिष शास्त्र में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

श्रावण‌ में जरूर लगाए यह पौधे

श्रावण का पवित्र माह शुरू हो चुका है। भगवान भोलेनाथ की कृपा पाने का यह सर्वश्रेष्ठ महीना है। वास्तु शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार श्रावण माह में कुछ विशेष पौधे लगाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं, बल्कि महालक्ष्मी की भी कृपा आप पर बनी रहती है। यदि इस माह में भगवान शिव के प्रिय पौधे घर में लगाए जाए तो आपका भाग्य उदय हो सकता है। तो आइए जानते हैं कि सावन में कौन से पौधे लगाने से भाग्य को और मजबूत किया जा सकता है।

तुलसी का पौधा
श्रावण में तुलसी का पौधा लगाने से आपके घर में सुख समृद्धि बढ़ती है। तुलसी के पौधे को श्रावण के महीने या कार्तिक के महीने में लगाना सबसे ज्यादा सर्वोत्तम होता है। तुलसी का पौधा घर के बीचो-बीच आंगन में लगाना चाहिए, या फिर बालकनी में भी लगाना शुभ होता है। विवाहित जीवन की बेहतरी, सुख समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए तुलसी का पौधा लगाना शुभ होता है। तुलसी के नीचे घी का दीपक लगाकर परिक्रमा करने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर में धन की आवक बढ़ती है। रोज सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते और बीज खाने से संतान उत्पत्ति की समस्याएं खत्म होती हैं।


बेलपत्र का पौधा
वास्तु शास्त्र के अनुसार बेलपत्र का पौधा घर में लगाने से वायु दोष समाप्त होता है। जिस घर के सामने बेलपत्र का पौधा होता है, वहां कभी भी पैसों की तंगी नहीं रहती है। शिव महापुराण के अनुसार बेलपत्र के पौधे में माँ लक्ष्मी का वास होता है। घर में बेलपत्र का पौधा लगाने से सुख समृद्धि बढ़ती है और माँ लक्ष्मी का आगमन होता है। बेलपत्र के पौधे की छांव में शिवलिंग को स्थापित करके जलाअभिषेक करने से भगवान शिव की कृपा आप पर बनी रहती है। बेलपत्र के पौधे में सुबह दीपक लगाने से आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है।

शमी का पौधा
शमी का पौधा भगवान शिव को बहुत ज्यादा प्रिय है। श्रावण में किसी भी शनिवार के दिन शमी का पौधा लगाया जा सकता है। शमी के पौधे को घर के मुख्य द्वार के बाएं तरफ लगाना शुभ होता है। शमी के पौधे के नीचे नियमित रूप से सरसों के तेल का दीपक जलाने से भगवान शनि संबंधित पीड़ा कम होती है। विजयदशमी के दिन शमी के पौधे की पूजा करने से धन का अभाव नहीं होता है। शमी का पौधा लगाने से आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार शमी का पौधा लगाने के लिए उत्तर और उत्तर पूर्व दिशा सबसे ज्यादा शुभ मानी गई है।


केले का पेड़
श्रावण में इस बार केले का पेड़ लगाना बहुत ही ज्यादा शुभ है, क्योंकि इस बार श्रावण के महीने में पुरुषोत्तम माह भी पड़ रहा है। केले का पेड़ भगवान विष्णु को सबसे ज्यादा प्रिय होता है, इसलिए श्रावण के महीने में केले का पेड़ भी लगाना बहुत ज्यादा फलदाई है। केले का पेड़ लगाने से घर में बरकत होती है और धन की समस्याएं दूर होती है। श्रावण की किसी भी एकादशी या फिर गुरुवार को घर के पीछे या छत के पीछे की ओर केले के पेड़ को लगाना चाहिए। केले के पौधे को कभी भी घर के सामने की ओर नहीं लगाया जाता है। वैवाहिक जीवन की समस्या को दूर करने के लिए नियमित रूप से केले के पेड़ को जल अर्पित करना चाहिए। केले की जड़ को पीले धागे में बांधकर धारण करने से विवाह के योग भी जल्द बनते हैं। इसके अलावा इससे कुंडली का बृहस्पति भी मजबूत होता हैं।

पीपल का पौधा
पीपल का पौधा किसी भी दिन लगाया जा सकता है, लेकिन श्रावण का गुरुवार इसके लिए उत्तम होता है। घर में कभी भी पीपल का पौधा नहीं लगाना चाहिए। पीपल का पौधा पार्क या फिर सड़क के किनारे ही लगाना चाहिए। सूर्य उदय के समय पीपल की जड़ में जल देने और परिक्रमा करने से संतान संबंधित दोष खत्म होते है। पीपल का पौधा दान करने से संतान प्राप्ति आसान होती है। शनिवार के दिन शाम के समय पीपल के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाने से व्यक्ति के साथ दुर्घटनाओं के योग कम बनते हैं।