छल - Story of love and betrayal - 6 Sarvesh Saxena द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

छल - Story of love and betrayal - 6

प्रेरित पागलों की तरह रोते हुए बोला - "मुझे तुम पर भरोसा है और इसलिए मैं तुमको छोड़ रहा हूं लेकिन एक बार सच कह दो कि यह बच्चा मेरा नहीं है तो तुम बच सकती हो, वरना मैं तुम्हे भी मार दूंगा, बोल ...जल्दी बोल की ये बच्चा मेरा नही है, इस कुत्ते का है" |

प्रेरणा ने सिसकते हुए कहा - "हाँ ये बच्चा आपका नहीं है" |

यह सुनते ही प्रेरित ने प्रेरणा के सीने पर बंदूक रखी और कमरे में चारों और फिर से गोली चलने की आवाज गूंज उठी, प्रेरित दोनों की लाशों के पास बैठकर हंसने लगा तभी उसके सर पर एक जोरदार प्रहार हुआ और वह बेहोश हो गया |



दो दिन बाद जब प्रेरित को होश आया......
" अरे अरे, आप कहां भागे जा रहे हैं, लेटे रहिए आपके सिर पर गहरी चोट है"

नर्स ने प्रेरित को बेड पर लिटाते हुए कहा |

"मेरी पत्नी…", प्रेरित ने नफरत भरी आवाज और चेहरे पर हल्की मुस्कान में नर्स की ओर देखते हुए कहा |
नर्स उसे देखकर घबरा गई और बाहर की ओर भाग गई, नर्स ने बाहर बैठे पुलिस वालों को प्रेरित के होश में आने की खबर दी और पुलिस वाले भागते हुए प्रेरित के पास आए |

पुलिस वाले ने प्रेरित का एक हाथ बेड में हथकड़ी से बांध दिया और कहा,

"आपने अपने दोस्त और पत्नी को क्यों मारा? आपको पता भी है कि आपका दोस्त मर चुका है और आपकी पत्नी अच्छी हालत में नहीं, वह कभी भी हमें छोड़ कर जा सकती है" |

प्रेरित (होठों पे उंगली रखते हुए बोला) - "श.. श.. श.. श.."

और धीरे से पुलिस इंस्पेक्टर के कान मे कहा,

"मजे लेने हैं तुमको"?

“क्या बकवास कर रहे हो“, इंस्पेक्टर ने तेज आवाज में कहा |

प्रेरित - " डरो मत वो तो पैसे भी नहीं लेगी "|

" कौन-कौन पैसा नहीं लेगी", पुलिस वाले ने हिचकिचाते हुए कहा |

प्रेरित - "वो वैश्या है, हा हा हा हा हा… मेरी बीवी वैश्या है" ,

वह जोर-जोर हंसकर बार-बार यही बात दोहराने लगा और बोला,

"जाकर देखो, वो आखिरी सांसे नहीं गिन रही होगी बल्कि किसी डॉक्टर के साथ अपनी हवस पूरी कर रही होगी"|

यह कहकर वह फिर जोर जोर से हंसने लगा, पुलिस वाले हैरान थे अब उनको पूरा यकीन हो गया था कि सर पर चोट लगने से वह पगला गया है, कुछ देर बाद प्रेरित फिर बेहोश हो गया|

अगली सुबह जब प्रेरित को होश आया तो उसने बिल्कुल सामान्य व्यवहार किया तभी एक नर्स ने उसे दवाई देते हुए पूछा,

"अब कैसे हैं आप? क्या आपको मालूम है, कल रात आपकी पत्नी की मौत हो गई" |

"ओह बुरा हुआ…" कहकर प्रेरित चुपचाप लेट गया ।

कुछ घंटे बाद इंस्पेक्टर फिर आया और बोला –

"मिस्टर प्रेरित आपको आपकी पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए चलना होगा, क्योंकि यह क्राइम सीन है इसलिए हमें आपको वहां ले जाने की जिम्मेदारी दी गई है" |

प्रेरित (रहस्यमई मुस्कुराहट में) -

"ओहो... अंतिम संस्कार!!! लेकिन उसका पति तो पहले ही मर चुका है, बेचारी विधवा..... हा हा हा हा हा.... बेचारी वैश्या विधवा" |


रेट व् टिपण्णी करें

Anurag Basu

Anurag Basu मातृभारती सत्यापित 4 महीना पहले

Parash Dhulia

Parash Dhulia 4 महीना पहले

Jamna Bhansali

Jamna Bhansali 5 महीना पहले

Indu Talati

Indu Talati 5 महीना पहले

कैप्टन धरणीधर

कैप्टन धरणीधर मातृभारती सत्यापित 6 महीना पहले