जिंदगी एक लतीफा है Shamad Ansari द्वारा प्रेरक कथा में हिंदी पीडीएफ

जिंदगी एक लतीफा है

जीवन में कभी ख़ुशी है तो कभी ग़म परन्तु फिर भी उत्साह और लगन से हर मुसीबतों को पार करने को ही जिंदगी कहते है। हालंकि कुछ लोग जिंदगी को काटते हैं और कुछ लोग जिंदगी जीते हैं। लकिन हम सभी के जिंदगी में दो ऐसी चीज़ है जो हमें उत्साह से भर देते हैं या गम से वो चीज़ है हार या जीत।
हार और जीत मेरे लिए दोनों ही पहलु हमारी जिंदगी में बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। वो कैसे जीत तो महत्वपूर्ण है लेकिन हार कैसे महत्वपूर्ण हो सकता है ???
चलिए मैं आपको बताता हूँ , की वो कैसे हमारी जिंदगी में महत्व रखते है। हम सभी हारने के बाद ही कुछ सीखते है कुछ नया और पहले से बेहतर हो जाते हैं।
और यदि हम पहले किसी कारण हार जाते हैं और फिर दूसरी बार प्रयत्न ( कोशिश ) करने के बाद हम जीत जाते है तो वह जीत हम्मे बहुत ज्यादा उत्साह भर जाते हैं। आज की इस आधुनिक काल में या दुनिया में आप सब ने कितनी कितनी सारी टेक्नोलॉजी वाले यंत्र देखे हैं।
उनमे से सबसे ज्यादा प्रयोग में लाने जाने वाला यंत्र स्मार्ट फ़ोन या कंप्यूटर है। हम सब इससे कितनी सारी जानकारिया प्राप्त कर सकते हैं। आप सब सोच रहे होंगे की मैं यूँ अचानक ये सब क्यों बता रहा ?
कियोंकि आप घर बैठे दुनियांभर की जानकारियों का अध्ययन कर सकते है। काबिल बन सकते हैं आप सभी। मेरे कहने का तत्प्रय यह है की केवल कामयाबी के लिए मत पढ़िए काबिल बनिए।चुनोतियाँ या बाधाएँ केह लीजिये दोनों ही चीजे हमारे लक्ष्य से हमें दूर करने का केवल प्रयत्न या कोशिश करते हैं , और उनका साथ हम खुद देते मतलब हम खुद सबसे बड़े रुकावट हैं अपने लक्ष्य के। कुछ इस प्रकार की जब हम किसी बाधा से रब - रूह ( मिलते ) होते हैं तो हम उस रुकावट के सामने डटे रहने के बजाये हम मैदान छोड़ देते हैं। और सही और गलत का फ़र्क केवल एक शिक्षित व्यक्ति ही समझ सकता हैं , और यकीन मानिये शिक्षा ही केवल हर समस्या का हल है। मैं ये नहीं कहता की ज्ञान सिर्फ आप विद्यालय से ग्रहण या प्राप्त कर सकते हैं। विद्या तो आप कहीं पर भी , किसी से भी ले सकते हैं। जीवन में यदि आप कुछ करना चाहते है विद्या ही वो सब आपको दिला सकती जो आप सपने में देखते हैं। धैर्य रखिये और जीवन में आगे बड़िये। किसी भी समस्या का आपको करना पड़ जाए तो आप उसका निर्णय शांत दिमाग से लीजियेगा यक़ीनन बाद में आपको आपके फैसले पर गर्व होगा। गुस्सा लोगों के दिमाग को भर्स्ट कर देता है , और उस समय लिया गया फैसला आपको उस वक्त तो सही लगता है लेकिन आपको उसका खामियाज़ा पूरे जिन्दगी झेलना पड़ता है। तो सदैव अच्छा सोचिये हमेशा कुछ न कुछ आपके साथ अच्छा ही होगा यकीन न हो तो आज़मा के देख लीजिये।

तो अब मैं अपनी बात समाप्त करना चाहूंगा चन्द लफ्जों से " जिंदगी एक लतीफा है इसे जीना सीखे "

रेट व् टिपण्णी करें

Heena

Heena 2 सप्ताह पहले

आरोही" देसाई

आरोही" देसाई 2 महीना पहले

Shamad Ansari

Shamad Ansari मातृभारती सत्यापित 5 महीना पहले

mere vichar kafi had tak saty vyakt karta hai .

ashit mehta

ashit mehta 5 महीना पहले