अनोखी मित्रता - 6 Payal Sakariya द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

अनोखी मित्रता - 6

हमने देखा था कि ( दिशा कहती है advise accepted ... ) अब आगे .......

दिशा आरुष के घर जाती है , आंटी आप से तो कट्टी कर लेनी है , वैसे तो आप कहते है , कि में आपकी बेटी से कम नहीं हूं । और आपने आज तो मुझे पराया ही कर दिया । नहीं बेटा क्यूं ऐसी बाते , सोच रही है , ये तो बस final checkup था । अब मैं बिल्कुल ठीक हूं । पक्का ना आंटी ...? हां मेरी मौसी ... 😄। अब देख रात बहुत हो गई है , आज यही पर रहेजा । नहीं-नहीं आंटी श्रेया अकेली है तो मुझे जाना होगा ...! ठीक है , आरुष जाओ इसे छोड़ आओ । आरुष दिशा को रुम तक छोड़ जाता है ।
दिशा सुबह में stadium पर जाती है । आरुष ये चख कर देखो । ये क्या बनाया तुने ...? ये मैनै बालुशाही बनाई है , तुम चखकर तो देखो । तभी दुसरे दोस्त कहते है -
" अरे ..... 😕 क्या दिशा तुम आरुष की बचपन की दोस्त हो तो सिर्फ उसी के लिए sweets. दिशा इतरा कर कहती है - वैसे लाई तो में सबके लिए थी पर कोई बात नहीं , अगर आप लोग मुझे अपनी दोस्त नहीं मानते तो कोई बात नहीं ..... तभी तो सभी उस डिब्बे को दिशा के पास से छीन लेते है ।
वाह दिशा superb one , delicious 👌🏻 next time तेरे birthday के दिन तुझसे तेरे घर पर ही party लेनी है ।
चलो आरुष मुझे बहुत लेट हो गया है में निकलती हूं ।
आरुष अपने पापा - मम्मी से कहता है मुझे आपसे एक request है ..! हां बोल बेटा ...। मम्मी क्यूं ना हम दिशा को एक activa (scooty ) ले दे । उसे आने- जाने में problem हो रही है । ये तो अच्छी बात है बेटा - ठीक है जैसी उसे पसंद हो उसे ले देना . Thanks papa - mumma.
' दिशा '। श्रेया कहती है - सुनना मां के पैर में मोच आ गई है । तो मुझे थोड़े दिन के लिए घर जाना पड़ेगा । चल ना हम टिकट बुक करवाने जाते है । ठीक है ।

श्रेया की सुबह ६ बजे की बस होती है । दिशा अभी तक सो रही थी । तभी आकाश का फोन आता है ... हेलो ... क्या कर रही है ..? फिलहाल तो सो रही हूं । अभी तक .....😮 ,,, मैंने तो सुना था तु 5 बजे उठ जाती है । आज Sunday हे Yarrr ... चल ठीक है सो जा । दिशा फोन कटे बिना सो रही थी । तभी श्रेया कहती है , दिशा में जा रही हूं ,और अपना ख्याल रखना । Oyeee. सुन पहुंचते ही मुझे फ़ोन करना , और आरुष को कह देना कि वो मुझे 10 बजे उठा दे । आकाश यह सब सुन लेता है ।



10 बजे आकाश दिशा को फोन करता है । हेलो ..... उठ गई ..? हां ,,,, अभी थोड़ी देर पहले ही आरुष ने जगाया । आज तुम free हो ...? हां ... हररोज की तरह कोई busy schedule तो नहीं है ना ....? आपको क्या काम है... ..? मुझे gift लेनी है, वंशिका के लिए । तुम कुछ मदद कर सको तो ...... ठीक है कब जाना है ....? I will come to pickup you at 11 o ' clock ......ok.
दिशा आकाश के साथ gift लेने जाती है । आकाश क्या मैं song play कर सकती हूं ..? Yaa sure ... Why not .. but please slowly .. it's ohk... Thanks .., ☺️। CD 'S. कहा है ..? आकाश box देते हुए कहता है , इसमें है । दिशा उसमें अच्छे song वाली CD देखती है । तभी आरूष का फोन आया _ हेलो दिशा क्या कर रही है .? कुछ नहीं ... हमम एक मिनट तु कही बाहर है ? तुझे कैसे पता ..? अगर तु घर पर होती तो सीधा मुझे डांटती की "" आज के दिन तो मुझे परेशान मत कर "" एकदम सही , काश.... में आज भी यह कह पाती ...! में आकाश के साथ हुं, उसे वंशिका के लिए gift लेनी थी । उसने मेरी मदद की थी तो में मना नहीं कर सकती । हां ... वरना तु तेरा आज का special day किसी के साथ share नहीं करती । चल bby. Byee
आकाश यह सब कुछ सुन रहा था । * दिशा में आरुष कौन से special day के बारे में बात कर रहा था ? ये तो मेरे सारे दोस्तों को पता है । इसका मतलब , मे तुम्हारा दोस्त नहीं हूं ..? जैसा तुम सोचो ।

वो दोनो मोल के अंदर जाकर दिशा के लिए एक अच्छा सा party wear लेते है । आगे चलकर दिशा एक जगह रुक गई । वो वहां रखी dress को देखती है । और फिर ऐसे ही चली जाती है। आकाश यह देख लेता है।
दिशा को घर छोड़ कर आकाश कहता है Thanks ... दिशा - हमम Byee ... ये सुनो .... अब क्या हुआ ...? ये तुम्हारे लिए .. मेरे लिए..? पर कयू ..? Friends बनने के लिए gift की जरूरत नहीं है । कोई बात नहीं रख लो ना .....
वैसे भी हम तो अमीर पापा के बेटे है । कुछ भी खरीद सकते है। दोनों हंसते है। दिशा उपर जाकर देखती है , यह तो वही dress है ।‌ वो आकाश को thanks का message करती है ।
आज शाम को दिशा अकेला ही चलने के लिए जाती है। तभी वहां आकाश और हेत आते है । हेत आकाश के बड़े भाई का बेटा है । वो लोग दिशा से मिलकर बातें करते है । आकाश पूछता है , क्या अब हम आपके दोस्त बनने के लायक है ..? हां ..... तो चलो आपको आपका return gift दिया जाएं । एक मिनट चलो मेरे साथ " दिशा कहती है । उसे एक panipuri की stall के पास लेकर जाती है । चचा ... एक हमारी special panipuri दिजिए तो ।लो आकाश यह पूरी खाओ ।‌ आकाश वह खाता है , लेकिन वह तो बहुत ही कड़वी थी । कच्चे आम की । आकाश का मुंह जलने लगा था । क्या दिशा ऐसा भी कोई करता है ...! वो बहुत हसती है और कहती है चचा ..... दो Dairy milk दिजिए , hey junior जा ले कर आ । एक चोकलेट हेत को देती है और दूसरी आकाश को । क्या दिशा ऐसा भी कोई return gift देता है । सोरी....🙁 वो सब बैठ कर बातें कर रहे थे । तभी वंशिका का फोन आया । चलो junior हम चलने जाते है , किसी को disturb नहीं करना चाहिए ।
थोड़ी देर बाद वो दोनों वापस आते है । आकाश I have to go .. byee ... junior ...
तभी हेत कहता है , चाचू आप हररोज एक कच्चे आम की पुरी खा लेना ,😜 ता कि मुझे चोकलेट तो खाने को मिले ....…😉 ।

रेट व् टिपण्णी करें

Janki

Janki 2 साल पहले

Parul Rathore

Parul Rathore 2 साल पहले

Kavita Regar

Kavita Regar 2 साल पहले