कुछ चित्र मन के कैनवास से - 3 - मिलेनियम पार्क Sudha Adesh द्वारा यात्रा विशेष में हिंदी पीडीएफ

कुछ चित्र मन के कैनवास से - 3 - मिलेनियम पार्क

मिलेनियम पार्क

माल में घूमकर हम मिलेनियम पार्क गए जो मिशीगन लेक के पास स्थित है । यह सार्वजनिक पार्क है । लूप समुदाय क्षेत्र के इलिनोइस स्टेट के शिकागो में स्थित इस पार्क को शिकागो के सांस्कृतिक मामलों के विभाग द्वारा संचालित और एम.बी . रियल एस्टेट द्वारा मैनेज किया जाता है । यह शिकागो मिशिगन लेक के किनारे स्थित मुख्य पर्यटक स्थल है । उत्तर-पश्चिमी ग्रांट पार्क के 24.5-एकड़ में बना यह पार्क मिशिगन एवेन्यू से घिरा है । 2009 तक केवल नेवी पियर को शिकागो के पर्यटकों के आकर्षण के रूप में जाना जाता था ।

हमें बताया गया कि 24.5 एकड़ में फैले इस मिलेनियम पार्क में स्थित क्लाउड गेट का कांसेप्ट एक भारतीय अनीश कपूर का है । इस पार्क का मुख्य आकर्षण एक 33 फीट लंबा, 66 फीट चौड़ा, 42 फीट ऊंचा तथा 100 टन वजन का,168 स्टेनलेस स्टील की प्लेटों को जोड़कर बनाई संरचना बीन है जिसका नाम इसकी बीन के आकार की आकृति के कारण पड़ा । इसकी बाहरी सतह पर इस तरह पॉलिश की गई है कि इसके जोड़ दिखाई नहीं देते हैं । इसकी बाहरी सतह पारे (मरकरी ) की तरह चमकती है । इतनी चमकदार सतह के कारण ही इसकी धनुषाकार आकृति के सामने खड़े होने पर इंसान को अपनी आकृति भी नजर आती है । बहुत से लोग इसके सामने खड़े होकर फोटो खिंचा रहे थे । इसकी इस विशेषता को देखकर हम आश्चर्य चकित हुए तथा हमने भी अपनी फ़ोटो यादगार स्वरूप खिंचवाई ।

मिलेनियम पार्क का केंद्रबिंदु जे प्रित्जकर पैवेलियन है । जो फ्रैंक गेहरी द्वारा डिज़ाइन किया गया एक बैंडशेल है । मंडप में 4,000 सीटें हैं, साथ ही 7,000 लोगों के लॉन में बैठने की व्यवस्था है । मंच को स्टेनलेस स्टील की प्लेटों को मोड़कर तैयार किया गया है जो गेहरी की विशेषता है। इसका नाम जे प्रित्जकर के नाम पर रखा गया था, जिनके परिवार को हयात होटल्स के मालिक के लिए जाना जाता है और वह एक प्रमुख दानदाता थे । प्रिट्ज़कर पैवेलियन ग्रांट पार्क के छोटे बड़े नृत्य और संगीत के कार्यक्रमों के लिए जाना जाता है । पहले यहां कार्यक्रम देखने की कोई टिकिट नहीं थी लेकिन अब टिकिट लगती है । जब हम गए तो इस स्थान पर म्यूजिकल कॉन्सर्ट ( संगीत का कार्यक्रम ) चल रहा था । वहां भारी संख्या में लोग मौजूद थे ।

इसके अतिरिक्त इस पार्क में एक जोड़ा (पेयर ) क्राउन फाउंटेन भी है जिसके दोनों टावर 50 फीट ऊंचे हैं । क्राउन फाउंटेन सामान्य और वीडियो मूर्तिकला ,अनुपम उदाहरण है । कैटलन वैचारिक कलाकार जेउमे प्लेनसा और द्वारा निष्पादित Krueck और सेक्सटन आर्किटेक्ट्स द्वारा डिजाइन इस फाउंटेन को क्राउन परिवार द्वारा जनता के लिए जुलाई 2004 में खोला गया । यह एक काले ग्रेनाइट से बना है जो पारदर्शी कांच की ईंटों के टॉवर के बीच रखा गया है । टावरों की लंबाई 50 फीट (15 मीटर) है । ईंटों के पीछे प्रकाश-उत्सर्जक डायोड का उपयोग करके चेहरों का डिजिटल वीडियो प्रदर्शित करते हैं। क्राउन फाउंटेन का निर्माण और डिजाइन और बनाने में $ 17 मिलियन लगे ।
यह फब्बारा मई से अक्टूबर तक संचालित होता है क्यों कि यहां इन दिनों मौसम अच्छा होता है । दो मीनारों के बीच रुक-रुक कर और प्रत्येक टॉवर के सामने वाले चेहरे पर पानी एक नोजल के माध्यम से घूमता है । पानी और प्रकाश के माध्यम से फाउंटेन के टावर पर विभिन्न चेहरे बनते रहते हैं जिनके मुंह से कभी पानी का फव्वारा निकलता है, कभी यह चेहरे मुस्कुराते हैं तो कभी रोते हैं । कभी आँख झपकाते हैं तो कभी सोते प्रतीत होते हैं । इनसे निकलते पानी में बच्चे बड़े भींगकर मस्ती कर रहे थे । चलती ठंडी हवा बहुत ही खुशनुमा एहसास करा रही थी । लगता था शाम वहीं गुजारी जाए पर ऐसा संभव नहीं था क्योंकि इसके तुरंत बाद हमें वोट शो के लिए निकलना था ।

सुधा आदेश
क्रमशः

रेट व् टिपण्णी करें

navita

navita मातृभारती सत्यापित 1 साल पहले

Gor Dimpal Manish

Gor Dimpal Manish 1 साल पहले

शेयर करे