In The Tall Grass Sarvesh Saxena द्वारा फिल्म समीक्षा में हिंदी पीडीएफ

In The Tall Grass

अभी हाल ही में मैंने एक मूवी देखी जिसका नाम था, इन द टाल ग्रास मतलब लंबी घास के बीच में | मुझे हमेशा से ही हॉरर फिल्में पसंद आती है इसीलिए जब मैंने इसका ट्रेलर देखा तभी सोच लिया था कि इस मूवी को देखूंगा और वैसे भी इसकी कहानी मुझे एकदम नई कहानी लगी, ज्यादातर डरावनी फिल्मों में भूत चुड़ैल आज दिखाया जाते हैं पर इस फिल्म में ऐसा कुछ भी नहीं है इस फिल्म को देखने के दो और भी कारण है, पहला यह फिल्म स्टीफन किंग की लिखी एक कहानी पर आधारित है उनका तो मैं बहुत बड़ा फैन हूं लाजवाब लिखते हैं, दूसरा कारण इस फिल्म में पैट्रिक विल्सन भी है, अरे वही कॉन्ज्यूरिंग और इनसीडियस वाले, जो भूत प्रेत भगाते हैं |

फिल्म की कहानी की बात करें तो कहानी एकदम बढ़िया है एक भाई बहन, बैकी और कैल, बैकी जो गर्भवती होती है और उसके बॉयफ्रेंड यानी बच्चे के पिता ट्रेवीस से झगड़ कर दूसरे शहर जा रही होती है | शहर से बाहर एक सुनसान जगह पर एक चर्च होता है, वो गाड़ी वहां रोकते हैं | चर्च रोड के एक तरफ और दूसरी तरफ बहुत बड़ी-बड़ी घास होती है, जैसे गन्ने के खेत लंबे लंबे होते हैं वैसे ही, तभी उन्हें एक बच्चे की आवाज सुनाई पड़ती है जो मदद मांगता है, बैकी और केल घास के अंदर बच्चे को बचाने के लिए चले जाते हैं, वह लगातार बच्चे की आवाज का पीछा करते हैं और एक दूसरे से अलग हो जाते हैं | इस फिल्म में बैकग्राउंड म्यूजिक बहुत अच्छा डाला गया है, दिन और रात होते दिखाया गया है, घास को हंसते हुए दिखाया गया है जो बेहद डरावना है, कई दिन हो जाते हैं, केल को बच्चा मिलता है और बैकी को एक आदमी जो उस बच्चे का बाप होता है यानी पैट्रिक विल्सन, दोनों एक दूसरे के साथ अलग-अलग चलने लगते हैं और दूर से आपस में बात करते रहते हैं लेकिन मिल नहीं पाते |कई दिन हो जाते हैं लेकिन वह घास से निकल भी नहीं पाते इसी बीच बैकी का बॉयफ्रेंड ट्रेवीस उसे ढूंढते ढूंढते घास में आ जाता है और कहानी में यह भी दिखाया जाता है कि घास लोगों को मार देती है कई लोगों की डेड बॉडी, कुत्ते की डेड बॉडी दिखाई जाती है, ये सब घास को अच्छा लगता है, इसी दौरान बच्चे की मां मिलती है और दिखाया जाता है कि उनका परिवार कैसे यहां फस गया था | इस फिल्म को देखकर कई बार लगता है जैसे ये लोग समय चक्र में फस गए हों, बार-बार कुछ चीज़ें दोहराई जाती हैं, घास हर बार उन्हें भ्रमित करती है, अंत में यह फिल्म बहुत डरावनी है, पता चलता है कि खेतों के बीच एक काला पत्थर रखा होता है जिसमें कुछ काली शक्तियां होती हैं और उन पर कुछ आदिवासी टाइप के निशान बने होते हैं जो कि एक बच्चे की बली मांगते हैं, ऐसा दर्शाते हैं और उसे छूने से व्यक्ति की आत्मा उस काली शक्ति की गुलाम हो जाती है और उसे सब कुछ पता चल जाता है घास के बारे में, और उसके बाद वह व्यक्ति वहाँ से कभी निकलना नहीं चाहते | पैट्रिक विल्सन ने कमाल की एक्टिंग करी है, वैसे सभी ने बहुत अच्छी करी है, जब वह सब को बहलाकर काले पत्थर के पास ले आता है तो पता चलता है कि वह सब को मार देगा, पैट्रिक विल्सन इसमें नेगेटिव रोल कर रहे हैं, काफी देर तक सबके बीच में लड़ाई चलती है और पैट्रिक विल्सन सभी को मार देता है, कैली बेहोश हो जाती है उसका बच्चा पैदा होता है पर मार दिया जाता है | इसी बीच कई डरावने दृश्य दिखाए जाते हैं जो कि काफी अच्छे लगते हैं, खासकर वह काले पत्थर के नीचे वाले सीन जिसमें बहुत सारे हाथ और सर जड़ों मे फंसे जमीन के अंदर दिखाए जाते हैं, और वो सीन भी बहुत अच्छा लगा जिसमें बैकी के गर्भ के अंदर का बच्चा दिखाया जाता है जिसमें घास गर्भ के अंदर बच्चे को जकड़ रही होती है | बेटी का बॉयफ्रेंड और वह बच्चा बच जाता है ट्रेविस पत्थर को छू लेता है और काली शक्तियों का राज उसे समझ में जाता है, वो उस बच्चे को बाहर निकालने में सफल हो जाता है, उसे सब कुछ पता चल जाता है कि इस बड़ी घास के बाहर कैसे निकला जाए और इस घास को क्या चाहिए इसीलिए वो बच्चे को समझाकर बाहर निकाल देता है | बच्चा बाहर आके देखता है बैकी और केल आकर गाड़ी रोकते हैं उन्हें घास के अंदर से बच्चे की आवाज आती है, वो उसे बचाने के लिए घास के अंदर जाने लगते हैं पर जो बच्चा बाहर खड़ा होता है उन्हें बहुत रोकता है और रोता है कि इसके अंदर मत जाओ यहां से भाग चलो | बैकी और केल बच्चे की बात मान कर वापस घर चले जाते हैं | यह सुनकर बॉयफ्रेंड ट्रेविस को अच्छा लगता है और वह घास के बीचो-बीच आंखें बंद किए लेटा दिखाया जाता है, घास हंसती है और फिल्म खत्म हो जाती है |
दरअसल अगर आपको साइको थ्रिलर समझ में आती हैं तो यह फिल्म भी समझ में आ जाएगी, बस थोड़ा सा ज्यादा दिमाग लगाना पड़ेगा क्योंकि इसमें समय चक्र को भी दिखाया गया है कि कैसे चीज़ें बार-बार रिपीट होती हैं और गड़बड़ हो जाती हैं | इस मूवी में फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक बहुत अच्छा है एक्टिंग भी कमाल की की गई है, मुझे फिल्म अच्छी लगी और आपको कैसी लगी कहानी जरूर बताइएगा इस फिल्म को मैं पांच मे से साढ़े चार पॉइंट दूंगा |

रेट व् टिपण्णी करें

Megha

Megha 10 महीना पहले

wonderful review

राजनारायण बोहरे
Aman

Aman 1 साल पहले

Fagun Pancholi

Fagun Pancholi 2 साल पहले

શિતલ માલાણી

શિતલ માલાણી मातृभारती सत्यापित 2 साल पहले

beautiful...