FIKAR - Tere Ishq ki - 3 books and stories free download online pdf in Hindi

FIKAR - तेरे इश्क़ की - 3

[ RECAPE ]
( आलोक के जन्मदिन पर सब मिल के आरती करते हैं , बातो ही बातो में सबको अपना बिता हुआ कल याद आ जाता हैं और उसके बाद आलोक उस बीते हुए कल को दोहरा ने की बात करता है जिससे आस्था मन ही मन दुःखी हो जाती हैं और वहा से चली जाती हैं। )
___________

अब आगे

संजय सर : आलोक की बात बिलकुल सही है , वक्त की इस भागा दौड़ी में आज फिर एक बार हम अपने बीते हुए लम्हों को याद कर सकते है।

आर्यन : हा...हा क्यूं नहीं! आज के दिन हम सब साथ है तो कुछ तो ऐसा मज़ेदार होना चाहिए

दीक्षा : YOU ARE RIGHT आर्यन, ओर वैसे भी इस बात से बेहतर हमारे जीवन की ओर कोई बात नहीं हो सकती ,कहने को एक पूरा दौर हम सब ने एक साथ बिताया है, वो यादें , वो लम्हे, वो मज़ेदार किस्से और SHIVOHUM UNIVERCITY का वो कैंपस 🤣🤣वो भी क्या दिन थे ना युग ।

शनाया : तो फाइनल, युग चलो शुरू करो

युग: अरे लेकिन ..

आलोक : लेकिन वेकिन कुछ नही आप शुरू करो

युग : शुरू कहा से करू वो तो बताओ

शनाया : शुरू करो उस दिन से जब हम सब पहली बार एक दूसरे से मिले , वो दिन जब हमने पहली बार यूनिवर्सिटी में क़दम रखा ।

दीक्षा : I KNOW THIS DATE
17 जुलाई, 2019🤣जब मेने पेहली बार युग को देखा
यशवी : काश ..में वहा होती ! तो में आप दोनो को एक दूसरे से मिलने ही ना देती

शनाया : don't worry बच्चा, वैसे भी तब मिलने की बात दूर युग दीक्षा को देख ना भी नई चाहता था 😂😂

( शनाया की बात सुन कर सब लोग हस पड़ते हैं। 😆😆😆🤣)

युग : अगर अब आप लोगो का हो गया हो तो में बात शुरू करू ।

आर्यन : जी बिलकुल

________________


युग : ok...so ... हमारा 12th का जैसे ही रिजल्ट आया वैसे ही हम सब बेस्ट कॉलेज में जाने की रेस में लग गए । ओर फाइनली हम सब को एडमिशन मिला SHIVOHUM UNIVERCITY में। मतलब वो सिर्फ यूनिवर्सिटी नही थी मगर एक पढ़ाई का महासागर था । जहा सब किताबी बातो से ही नही चलता था, वहा चलता था वो सिलेबस जो हम दुनिया में रह कर सीखते हैं। ओर हमारे लिए वो बोहोत गर्व की बात थी क्योंकि हम उस वक्त यूनिवर्सिटी का हिस्सा थे जब इस जगह का सबसे बड़ा बदलाव होने वाला था ।
सिर्फ उस जगह का नही लेकिन उससे जुड़े सभी इंसानों के जीवन का सबसे बड़ा बदलाव।

____________________________
BEFORE 25 YEAR'S AGO
____________________________


[ PLACE : SHIVOHUM UNIVERCITY कैंपस , वड़ोदरा
DATE : 17 जुलाई , 2019
TIME : 8 : 00 AM
FIRST DAY OF COLLEGE ]

{ Campus में सब स्टूडेंट बात कर रहे होते हैं }

मिहिर : ओ जनाब...कहा घूम रहे हो ।

नील : अरे यार मिहिर ..तू क्यूं आया , तेरी जरूरत क्या थी यहां पे ।

मिहिर : SHURT UP .. ओ MR , मेरे बिना ये यूनिवर्सिटी स्टार्ट ही नही हो सकती ।😎😎

रोहन : ओह माई गॉड...फिर तो अच्छा हुआ के आप ने हमे अपने दर्शन दे दिए

( सब हंसने लगते है )

शिवानी : राइट....अगर ये जनाब यहां ना हो तो प्रोफेसर पनिशमेंट किसे देंगे , बली के लिए बकरा भी तो होना चाहिए ना ।
😂🤣😆😆

( सब एक दूसरे के साथ पहचान बढ़ा रहे हैं । )

शिवानी : ओके...ये सब छोड़ो और ये बताओ कि शनाया कहा है??!

रोहन : सायद...वो अभी तक नही आए।

( थोड़ा वक्त बीतता है और एक 19 साल का लड़का , जिसके चेहरे पे नूर और जुनून दोनो थे , उसके आने में कोई आम सी बात नही थी, कुछ ख़ास था , सायद उसकी सादगी जो उसे और खास बनाती थी , उसने अपनी बाइक पार्क की ओर वो लड़का रोहन के पास जाता हैं । )

रोहन : युग..how are you bro ?

( युग ने काफी शांति से जवाब दिया )

युग : बस एक दम ठीक...अपने मज़े में

नील : अरे...hii युग में रोहन का दोस्त हूं, i think तुम शनाया के स्कूल फ्रेंड हो राइट??

युग : हा..

नील : तो अभी तक वो क्यों नहीं आई ?

युग : ये शनाया भी ना अभी तक वो कॉलेज में नहीं आयी! देखो कॉलेज स्टार्ट होने का भी वक्त हो गया।

शिवानी : लो शनाया भी आ गए ।
( सब शनाया को देखने के लिए पीछे मुड़ते है । )

( NEXT DAY )
[ काफ़ी लड़के शनाया को देख उससे बात करने की कोशिश करते हैं , सब लेक्चर अटेंड करने के बाद कैंटीन में होते हैं और वहां पे एक बड़ा ड्रामा हो जाता हैं । ]


BE BACK IN NEXT EPISODE ❤️

THANK YOU FOR READING 🙏🏻

अन्य रसप्रद विकल्प

शेयर करे

NEW REALESED