मेरी प्यारी जिंदगी आरोही" देसाई द्वारा प्रेरक कथा में हिंदी पीडीएफ

मेरी प्यारी जिंदगी

हैलो दोस्तों कैसे हैं आप हम दुआ करते हैं की आप सब सही सलामत होंगे।और हम भगवान जी से आपके लिए प्रार्थना करेंगे आप हमेशा खुश खुशाल रहे।

तो चलो आज बात करते हैं हमारे इस जीवन की दोस्तों तो ये हमारा जो जीवन हैं । सब कहते हैं की पहले से ही हमारे जीवन में नियती ने सब लिखा होगा वैसा ही होगा।
तो चलो ये भी मान लेते हैं।

मगर मेरा मानना ये हैं की सिर्फ नियती पे भरोसा रखना भी तो गलत बात होगी। नियती के भरोसे रहने से अच्छा हैं, नियती हम खुद लिखे, हम अपना भविष्य खुद बनाएं, वो भी अपने दम पर, हम अपना भाग्य खुद नक्की करे।

क्या पता उसमे यह भी लिखा हो की तुम जो लिखोगे वही होगा या फिर ये भी हो सकता हैं की हर रोज भगवान से प्रार्थना और आपकी मेहनत से ही सब कुछ आपकी जीवन में सही होगा।

हमारी जिंदगी में बहुत सारी बाते ऐसी होगी जो हमे पसंद ना होगी और आधी बाते ऐसी भी होगी जो हमे बहुत पसंद होगी।

कहने का मतलब यह हैं की अब जमाना बदल गया हैं लोग बदल गए, लोगो ने रीति रिवाजों को बदल दिया , उसमे हम क्या करे हमे तो वैसे ही चलना पड़ेगा नए जमाने के हिसाब से इसमें हम कुछ नहीं कर सकते हैं।

इसलिए हमे अपने नसीब को लेके रोना नहीं चाहिए कभी भी जैसे की मेरा नसीब खराब हैं, मेरे नसीब में ही मुसीबत की पोटली भगवान ने डाल दी हैं, मेरी नियती अच्छी नहीं हैं, मेरे भाग्य में कुछ भी नहीं लिखा, ऐसा वैसा सोचना बंद कीजिए दोस्तो!!देखो जिंदगी है और हमे मिली हैं क्यू की हम लोग नसीबवाले हैं । लोग कहते की पिछले जन्म में अच्छे पुण्य किए होगे तब जाके मनुष्य बने होंगे हम । जिंदगी हसाती भी हैं और रुलाती भी हैं।

मगर दोस्तो हमे जिंदगी एक ही बार मिलती हैं ,तो गम किस बात का हस्ते रहिए और मस्त रहिए और लाइफ एंजॉय कीजिए और रोना धोना छोड़िए दोस्तो।

और जिंदगी हैं, तो जिंदगी में तो हार जीत होती रहती हैं। कभी हम अपनी खुद की लड़ाई में जीत जाते हैं कभी हम अपनी इस जिंदगी से भी हार जाते हैं। पर क्या आपको लगता हैं ,की हर बार आपकी जीत ही हो, कभी कभी हार मिलने से भी हमे अपने आप को मजबूत रखना चाहिए।

जैसे सुख और दुःख एक सिक्के के दो पेहलू हैं। फिर भी सबको सुख ही पसंद होता हैं, किसी को दुख नहीं पसंद कोई ऐसा नहीं चाहता की हमारी जिंदगी में कभी दुःख आए। मगर सुख आता हैं , वैसे हमारी जिंदगी में दुःख का भी बहुत महत्व रखता हैं, और सुख दुःख से हमे सीखना चाहिए, जिंदगी इसी ही खट्टी मीठी हैं।

"जिंदगी हैं तो हम हैं ,और हम हैं तो जिंदगी हैं" बस ये बात हमेशा याद रखिए और जीते रहिए।

लाइफ तो ऐसी ही हैं, कभी मीठी और कभी खट्टी , कभी खुशी कभी गम और गम और खुशी के बीच फंसे हम😊😌।

यहां पे बस इतना ही हम दोबारा मिलेंगे अच्छी कहानी के साथ फिर मिलेंगे , बाय बाय दोस्तो।

"जय श्री साई राम"





रेट व् टिपण्णी करें

आरोही" देसाई

आरोही" देसाई 7 महीना पहले

Rizwan Multani

Rizwan Multani 7 महीना पहले

Rahul Vyas ¬ चमकार ¬

Rahul Vyas ¬ चमकार ¬ मातृभारती सत्यापित 7 महीना पहले

Waaaah... 👌👌👌👌👌👌👌

शेयर करे