वो अनकही बातें - 35 RACHNA ROY द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

वो अनकही बातें - 35

समीर के अस्पताल जाने के बाद शालू दानी को एक गाड़ी में बैठा दिया और इधर उधर घुमने लगी। साथ ही नर्सरी सांग भी चला दिया ताकि दानी को एक आदत बन जाएं।
फिर इसी तरह दोपहर हो गया शालू ने पहले दानी को चावल दाल खिला दिया। दानी बहुत चाव से खाने लगी थी। फिर शालू भी जल्दी से खाना खाने लगी और फिर दानी को लेकर ऊपर बेडरूम में पहुंच गई और फिर दानी को सुला दिया और खुद भी सो गई।बस इसी तरह दिन निकलने लगें।
एक साल कैसे निकल गए पता नहीं चल पाया। आज दानी का पहला बर्थ डे है। घर में एक पुजा रखी गई थी। दानी अब चलने लगी थी तो इधर उधर भाग दौड़ कर रही थी। समीर ने एक बहुत बड़े होटल पर पार्टी रखी थी। और सभी बच्चों के लिए सारी इन्जाय करने की चीजें रखा था।
शालू भी बहुत व्यस्त थी । पुजा में समीर और शालू दानी को लेकर बैठें थे उसकी लम्बी उम्र के लिए पुजा रखी थी। साथ ही समीर ने दानी की जन्म कुंडली भी बनवा लिया था। पुजा होने के बाद ही सभी को कचौड़ी सब्जी जलेबी खिलाया गया। समीर ने सबसे बड़ा केक दानी के लिए आर्डर किया गया । समीर और शालू दानी को लेकर एक अनाथालय गए जहां पर सभी बच्चों को केक,नये कपड़े, जूते, और सब ज़रूरी सामान बांट दिया गया।
वहां से घर वापस आ गए। फिर दानी को तैयार करके नीचे खाने के टेबल पर बैठ गए। दानी एक दम एक गुड़िया जैसी लग रही थी।। उसके बाद ही समीर ने एक चम्मच खीर खिलाई। फिर सभी खाना खाने लगे।
उसके बाद सभी अपने अपने घर चलें गए।

शालू भी दानी को सुला दिया और फिर खुद भी सो गई। उसके बाद समीर और विकास ताज होटल पहुंचे और सब तैयारी देखने लगें।
वहां से वापस घर लौट आए। पार्टी का समय सात बजे का था।
शाम को सभी तैयार होने लगें। विनय काका को समीर ने कहा जल्दी से तैयार हो जाइए। शालू ने कहा काका ये आपके लिए कुर्ता पायजामा लाएं हैं ये पहनिए। विनय काका रोने लगे और बोले तुम जो इतना मान दे रही हो मैं इसको कभी चुका नहीं सकता।
शालू ने कहा अच्छा ठीक है रूलाओगे क्या।। फिर सब समय से तैयार हो कर गाड़ी में बैठ गए। विनय काका भी आगे बैठ गए थे। शालू ने नायरा को फोन करके पूछा तो पता चला कि नायरा वहां पहुंच जाएगी।
फिर दो घंटे बाद ताज होटल पहुंचे। वहां पर बाहर ही दानी के फोटो के साथ उसके बर्थ डे सेलिब्रेशन कार्ड भी बनाया गया था।
फिर सभी अन्दर पहुंच गए। शालू सारा इंतजाम देख कर बहुत ही खुश हो गई।
फिर बड़े से हॉल में सब पहुंच गए। वहां पर प्रोजेक्ट पर दानी के जन्म से पहले शालू की शरारतें और दानी के जन्म के बाद का सारे फोटो एक एक करके दिखाया जा रहा था। शालू ने देखते ही कहा वाह सोमू ये सब कब लिया? तुम तो सबसे ज्यादा शरारती हो। और फिर धीरे धीरे मेहमान आने लगें। फिर दानी का बर्थ डे केक बार्बी डॉल वाला ।। फिर शालू और समीर दानी को लेकर केक काटने लगें। फिर सभी ने बर्थ डे सांग गाया। शालू और समीर ने एक साथ दानी को किस किया। और फिर केक खिलाया। वेटर को कहा गया कि केक सबको खिला दें।
फिर इसी तरह से बच्चों में तरह-तरह के गेम्स भी करवाया गया।सब बहुत ही इन्जाय करने लगे। फिर थीम डांस होने लगा। सभी लोग बहुत ही उछल उछल कर डांस कर रहे थे।
फिर सभी मेहमानों को खाना खाने के लिए कहा गया।
नायरा भी बहुत मस्ती कर रही थी दानी को लेकर। शायद ऐसा बर्थ डे किसी का भी नहीं हुआ होगा।
फिर काफी देर तक खाने पीने का सिलसिला चलता रहा। उसके बाद विकास और उसकी पत्नी बच्चे सब खाना खा कर जाने लगें। सभी बच्चों को रिटर्न गिफ्ट में डिजिटल घड़ी दिया गया था जो समीर और विकास ने जाकर खरीदा था।
फिर दानी सो गई थी क्योंकि वो बहुत थक गई थी। फिर शालू समीर,नायलान, विनय काका, आकाश सब खाना खाने लगे।
उसके बाद पार्टी खत्म हो गई तो सभी घर वापस आ गए।।
शालू सबसे पहले दानी को सुला दिया और फिर उसके बाद दोनों ने मिलकर दानी के पहले बर्थ डे का गिफ्ट्स खोल कर देखने लगे। सभी ने काफी अच्छा दिया था। कोई गुड़िया तो कोई सुन्दर सा लंच बॉक्स, कोई स्कूल बैग, बोतल और भी बहुत कुछ।सब सामान को एक जगह सजा कर रक्खा क्योंकि सुबह उठकर दानी सबसे पहले देखेगी।
समीर ने कहा कहो कैसा लगा? शालू ने कहा हां आई विस की हर साल तुम दानी का बर्थ डे सेलिब्रेशन ऐसे ही करो। समीर ने कहा हां ज़रूर और पता है मैंने दानी के नाम प्रोपर्टी खरीदी है जब वो अठारह साल की हो जाएगी तब उसको मिलेगी उससे पहले वो जो भी पढ़ना चाहेंगी वो पढ़ेगी।हम उसको हमेशा एक बात सिखाएंगे की कोई भी बात हो उसे कह देना दिल में दबा कर मत रखना। वरना हमारी तरह अनकही बातें रह जाएंगी। शालू ने कहा ओह सोमू तुम भी ना।
फिर दोनों सो गए।
सुबह जल्दी उठकर तैयार हो गया सोमू और फिर दानी भी उठ गई और फिर तुतला कर पपा बोलने लगी।सोमू तो ये सुनकर दानी को गोद ले कर प्यार करने लगा। फिर दानी ने अपने सारे गिफ्ट्स को देखने लगी। समीर ने तुरंत विडियो बनाने लगा।
फिर समीर अस्पताल निकल गए। शालू दानी को लेकर नीचे पहुंच गई। रोज की तरह आज भी दानी को सेब और फिर जूस ये सब खेल खेल खिलाने लगी।
कमश:

रेट व् टिपण्णी करें

Vishwa

Vishwa 2 महीना पहले

Deboshree Majumdar

Deboshree Majumdar 3 महीना पहले