वो अनकही बातें - भाग - 8 RACHNA ROY द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

वो अनकही बातें - भाग - 8

दोनों ही घर से निकल गए और अब आगे।


शालू आफिस पहुंच कर ही अपने काम में लग गई। समीर भी उत्साहित था डायरी पढ़ने के लिए और जब वह खाली हुआ तो लिली को बोले कि डिस्टर्ब ना करें और समीर ने आगे पढ़ना शुरू किया।

शालू और सोमू की प्रेम कहानी पुरे कालेज में फ़ैल चुका था लेकिन मिलन इससे खुश नहीं थी शायद वो भी समीर को चाहती थी।।

इतना पढ़ कर समीर सोचने लगा मिनल तो एक अच्छी दोस्त थी पर प्यार तो जतिन से ही करती थीं उसी के साथ शादी भी की है।

अब फिर पढ़ने लगा लिखा था ।

एक दिन जब समीर दिल्ली गए हुए थे तो मेरा मन नहीं लग था तो मैं कालेज गई थी और मिनल मुझसे मिली और बोली तुमने समीर को छिन लिया है देखना समीर तुझे कभी नहीं मिलेगा।
शालू बोली अरे क्या बोल रही हो मिनल ,सोमू मुझे चाहते हैं।
मिनल बोली अरे नहीं ऐसा कुछ नहीं है तुम उसके लिए नहीं बनी हो।

फिर आगे पढ़ने लगे।

समीर से मैं कुछ भी नहीं कह पाई और अचानक वो बैंगलोर चला गया रिश्तेदार में कोई गुजर गया था। वैसे भी समीर का मेरे सिवा इस दुनिया में कोई भी नहीं है। मैं उसका हाथ कैसे छोड़ दूं।

उसी रात मिनल ने फोन किया कि कुछ जरूरी बात बतानी है तो ये सुनकर शालू जाने के लिए तैयार हो गई,
समीर का फोन भी आया था तो शालू ने कुछ नहीं बताया।मिनल ने एक रेस्तरां में बुलाया और शालू पहुंच गई तो मिनल ने बताया कि समीर के साथ तुम सही नहीं हो, तुम दूर चली जाओ।

शालू बोली अरे ये क्या बोल रही हो?मिनल बोली इतना भगवान मानती हो और शगुन अपशगुन नहीं मानती हो।

शालू बोली मैं कुछ समझी नहीं।मिनल बोली देखो मैंने तुम्हारे फार्म में से तुम्हारा जन्म सन् और समय लिया था और एक महन्त को दिखाया था पता है क्या बोले अगर तुम समीर से शादी करोगी तो समीर की मौत हो जायेगी। क्या चाहोगी ऐसा।

ये सुनकर ही शालू बेसुध हो कर वहां से घर आ गई और कुछ दिनों तक कालेज नहीं आई।

समीर इतना पढ़ते ही गुस्सा हो गया और वहां से निकल गए सीधे घर आ गए फिर मिनल को फोन किया तो किसी ने उठाया नहीं।

घर में ही सब सामान इधर-उधर फेंकने लगा और बोलने लगा मिनल हाउ डेयर यूं।

विनय काका बोले अरे क्या हुआ बेटा। अब और राह नहीं जाता मिनल ने क्यों किया ऐसा, मुझे फिर फोन करना होगा।
तभी फोन आ गया और समीर ने फोन उठाया हेलो मैं जतिन बोल रहा हूं। समीर ने कहा मुझे मिनल से बात करना है।

जतिन बोल पड़ा मिनल ने कितना कोशिश किया तुमलोगो से बात करने का पर कनेक्ट नहीं हुआ और अभी मिनल ईज सिरियस कंडिशन उसे केंसर हो गया और लास्ट स्टेज पर है। समीर ओह माई गॉड।ये सब कब और कैसे हुआ।

जतिन ने बताया कि वह एक मेंटली टोमा में थी उसने सब बताया था उसने तुम दोनों को अलग करने के लिए क्या-क्या किया और भगवान ने उसको उसकी गलती की सजा दे दी। जतिन बोल कर रूक गए और फिर बोले क्या तुम यूएस आ सकते हो।

समीर बोला हां मैं आता हूं।
फिर उसने जल्दी से टिकट बुक कराया और पैकिंग भी कर लिया।

फिर एयरपोर्ट के लिए निकल पड़ा और रास्ते में शालू को फोन किया और बोला कि किसी काम से बाहर जा रहा हूं आकर मिलता हूं।
शालू ने कुछ नहीं कहा और फोन रख दिया।

समीर मन में सोचा शालू मैं इस बार जरूर तुझे अपनी दुल्हन बना लुंगा।

फिर सीधे हवाई जहाज पर सवार होकर गए। समीर किसी भी कीमत पर मिनल से एक बार बात करना चाहता था।

कुछ ही घंटों बाद समीर यूएस पहुंच गए और फिर जतिन से फोन पर अस्पताल का पता पुछा और वो सीधे वहां पहुंच गए फिर जतिन नीचे ही खड़े मिलें।


समीर बोला मिनल कैसी है? जतिन बोला अरे जल्दी चलो।

फिर लिफ्ट से ऊपर पहुंच गए मिनल को आई सी यू में रखा गया है।


जतिन ने पहले ही डॉ से बोला दिया था और अब समीर सीधे अन्दर गया और बोला मिनल।

मिनल को आक्सीजन मास्क लगाकर रखा था। तभी मिनल आंख खोल कर देखी तो समीर खड़ा था तो मिनल ने बोलना शुरू किया। समीर ने अपना फोन का रेकॉर्ड आन कर दिया।

मिनल बोली समीर तुम और शालू मुझे माफ़ कर देना मैंने तुम्हारी जिंदगी में जहर घोल दिया था सिर्फ एक नादानी थी मैं तुम्हें प्यार नहीं करती थी पर जब शालू के साथ देखती तो मेरा खुन खौल उठता था।मैंने गुनाह किया है उसकी सजा मिल गई।

समीर बोला वो जो बताया था कि मेरी और शालू की अगर शादी हुई तो मैं मर जाऊंगा क्या ये सच है?

मिनल ने कहा नहीं-नहीं ऐसा कुछ नहीं होगा वो तो मैंने झूठ बोला था ताकि तुम लोग एक ना हो पाओ।

समीर ने कहा ओह माई गॉड।बस फिर मिनल सदा के लिए चुप हो गई।

समीर ने मिनल की आंखें बंद कर दिया और बाहर निकल आया और फिर डॉ अन्दर जाकर कर चेक किया और डेडबाडी को बाहर निकल कर लें गए।

जतिन को समीर ने हिम्मत रखने को कहा। जतिन बोल पड़ा शायद इसीलिए ही अब तक जिन्दा थी।


समीर ने कहा हां शायद पर बहुत देर कर दिया उसने ये कहने में।


जतिन बोल पड़ा नहीं -नहीं ऐसा नहीं है शादी के बाद से ही वो परेशान सी रहती थी और एक बार उसने मुझे सब कुछ बता दिया और फिर वो मेल से या फोन पर कोशिश करती रहती थी फिर उसने कई तरह के दवाई की आदत लगा लिया।उसे भ्रम होने लगा पागलों जैसा बर्ताव करने लगी थी और बस कब केंसर पकड़ लिया पता नहीं चला जब पता चला तो देर हो गई।


समीर ने कहा हां मैं समझ सकता हूं तुम्हारी हालत।। खैर अभी मैं तुम्हारे साथ हुं सब कुछ हो जाए तो मैं वापस चला जाऊंगा।

फिर कुछ देर बाद मिनल का पार्थिव शरीर मिल गया और फिर जतिन और समीर वहां से सीधे मिनल की अन्तिम यात्रा पर निकले।सब कुछ हो जाने के बाद जतिन समीर को अपने घर ले गया।

दूसरे दिन समीर ने शालू को फोन किया पर शालू ने फोन नहीं उठाया।
समीर मन में सोचा शालू कहा हो तुम?

उधर शालू ने पता लगाया तो पता चला कि समीर यूएस गया है और फिर शालू ने सोच लिया कि समीर ने उसे धोखा दिया ऐसा क्यों किया उसने जो मुझे बताकर भी नहीं।

क्रमशः

रेट व् टिपण्णी करें

Vishwa

Vishwa 2 महीना पहले

Parash Dhulia

Parash Dhulia 3 महीना पहले

S Nagpal

S Nagpal 7 महीना पहले

S J

S J 11 महीना पहले

Kitu

Kitu 11 महीना पहले