वो अनकही बातें - 30 RACHNA ROY द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

वो अनकही बातें - 30

समीर घर पहुंच कर ही विनय काका को कहा जल्दी से कुछ खाने को दो। विकास ने कहा हां यार भुख लगी है।
विनय काका ने कहा हां ठीक है खाना लगा दिया है। फिर दोनों बैठ कर खाने लगे। समीर ने कहा अरे काका शालू ने खा लिया? विनय काका ने कहा हां बेटा वो खा कर सो गई है। समीर ने कहा हां ठीक है। विकास ने कहा मुझे अब घर निकलना होगा कल मिलते हैं। यहां तो सजावट हो गई। समीर ने कहा हां बस थोड़ा बहुत बाकी है।
खाना खाने के बाद विकास निकल गए। समीर भी काफी थक चुके थे तो वो भी अपने कमरे में जाकर सोने लगे तो देखा कि शालू की अंगुली मुंह में थी। समीर ने धीरे से फोन लेकर विडियो बनाने लगे। समीर ने कहा ओह माई गॉड सो स्वीट।। एक छोटे से बच्चे की तरह ये क्या कर रही है। भगवान मेरी शालू को अच्छा रखें। फिर वो भी हो गया। फिर समीर का फोन बजने लगा और दोनों ही उठ गए।
शालू आंख मलते हुए बोली ओह कब आए? समीर ने कहा अरे कब का आया हुं और आप को सोता देख मैं भी सो गया। शालू ने कहा ओह सोमू तुम भी ना। समीर ने कहा हां मैं भी ना क्या? अच्छा एक चीज दिखाता हूं। शालू ने कहा अब क्या? समीर ने कहा अरे ये देखो तो कौन है? शालू ने कहा अब किसे दिखाना है। समीर ने कहा अच्छा देखो तो। फिर फोन शालू के हाथों में दिया और विडियो चालू हो गया। शालू देखते ही बोली सोमू तुम्हारी फिर से शरारत हां। समीर ने कहा अरे बाबा कितनी प्यारी लग रही हो देखो तो। शालू ने कहा हां पता है ना मुझे ज्यादा भुख लगती है तो ये इसलिए ही कर रही थी। समीर ने कहा हां ठीक है पर तुम कुछ खा लो ना। विनय काका जूस ला कर दिए। शालू ने कहा थैंक यू काका। विनय काका बोले बिटिया पी लो। समीर ने कहा हां सही कहा। शालू ने कहा हां ठीक है लेकिन कल का क्या होगा? समीर ने कहा हां तैयारी तो चल रही है। तुम्हारे कोई और दोस्त हैं तो बुला लो। शालू ने कहा ना बाबा ना। समीर ने कहा हां ठीक है। शालू ने कहा कल साड़ी पहनु पुजा में। समीर ने कहा नहीं बाबा तुम साड़ी नहीं सम्हाल पाती हो।सूट ही पहन लो ।वो पीला रंग वाला। शालू ने कहा अच्छा ठीक है। समीर ने कहा सोमवार को जाना है सोनोग्राफी करवाने। शालू ने कहा हां याद है। समीर ने कहा अरे हां एक सीडी लाया था देखो अभी लगा देता हूं। फिर समीर ने एक कोमेडी वाली सीडी चला दिया। शालू खुब हंसने लगी और इन्जाय करने लगी। शालू ने कहा सोमू मेरे पास आओ। समीर ने कहा अरे क्या बात है मारोगी। शालू ने कहा हां मारूंगी।। समीर जब करीब आता है तो शालू कहती हैं आंखें बन्द करो। समीर अपनी आंख बन्द करता है। शालू अपने सोमू को किस करती है पहले आंखों में फिर गाल और फिर नाक उसके बाद कपाल, फिर गले में और फिर उसके होंठों पर। समीर चौंक जाता है और फिर कहता है क्या बात है शालू साहिबा इरादा क्या है? शालू ने कहा हां इरादे ठीक है पर तुम ही बदल गए हो। समीर ने कहा अच्छा जी मै बदल गया। एक महीने की बात है यार।। शालू ने कहा हां देखते हैं तुम कितना प्यार करते हो , बेबी आने के बाद। समीर ने कहा हां देख लेना। शालू ने कहा अच्छा ठीक है मुझे फिल्म देखने दो।
फिर रात के डिनर के बाद दोनों टहलने लगे। समीर ने कहा याद है कालेज टूर।। शालू ने कहा हां कैसे भुल सकती हुं।वो अनकही बातें तुम नहीं समझोगे।। समीर ने कहा हां ऐसा ही कुछ कहा था तुमने।। शालू ने कहा हां तुम से ही तो कहा था पर तुम तो समझें ही नहीं और फिर पकाऊ याद है। समीर ने कहा कौन गौतम । शालू ने कहा हां वो फटटु था कितना फेंकता था। समीर ने कहा हां पर शायद तुमसे प्यार करता था। शालू ने कहा हां एक दम बेवकूफ था यार।। शालू ने कहा याद है तुम्हारा नाटक वो एक्सिडेंट।। समीर ने कहा अरे बाबा नाटक नहीं था सच में चोट लगी थी गहरी वाली वो भी दिल पर। शालू ने कहा हां,जाने दो सब पता है तुम मुझे परेशान करने के लिए वो सब किए थे। समीर ने कहा अरे बाबा ना मेरे पैर में मोच आ गया था और ऊपर से तुम कितनी नाराज हो गई थी वो सब मुझे ही घेरे हुए थे और तुम मुझे नहीं देख पा रही थी है ना। शालू ने कहा हां और क्या तुम भी ना मुझे परेशान करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते थे।वो तो मैं वापस जाते समय तुम्हारे दोस्ती की बात सुन लिया वरना मैं मर जाती। समीर ने कहा अच्छा क्या सुना था? शालू ने कहा तुम भी मेरे सोना ही हो।। समीर ने कहा चलो अब ऊपर चलें ठंड पड़ रही है। शालू ने कहा हां चलो।
फिर दोनों ऊपर बेडरूम में आकर बैठ गए। फिर समीर ने घड़ी देखा तो अभी एक घंटा है। शालू ने कहा चलो मुझे तो नींद आ रही है।। फिर जैसे ही शालू सो गई। समीर जल्दी-जल्दी से पुरे रूम को लाइट से सजा दिया और फिर शालू को गुलाब बहुत पसंद हैं इसलिए पुरे फ्लोर पर गुलाब की पंखुड़ियों से सजा दी।जब शालू के पैर जमीन पर पड़ेगा तो उसे मेरे प्यार का एहसास हो जाएगा। फिर समीर ने विनय काका को कहा फि्ज से चाकलेट केक जो शालू का सबसे फेवरेट है वो ले आएं। फिर समीर ने एक टेबल पर केक को मोमबत्ती से सजा कर मोमबत्ती जलाकर धीरे से शालू को जगाने लगा। शालू ने जैसे ही आंख खोली तो विनय काका ने सारी लाइट जला दी। सभी ने हैप्पी बर्थडे विश किया और फिर शालू मुस्कुराई और जब धीरे से जमीन पर पैर रखा तो सोमू ने कहा अब यहां आकर केक काट लो। शालू ने कहा अरे वाह क्या बात है। फिर शालू ने केक काटा और फिर समीर ने खिलाया और शालू ने भी खिला दिया और फिर विनय काका को भी शालू ने खिला दिया। फिर विनय काका ने केक फि्ज में रख दिया।
शालू ने कहा अरे सोमू तुमने ये सब कब किया। समीर ने एक किस करते हुए कहा अरे बाबा जब सो गई थी तभी। समीर ने एक चेन गले में पहना दिया और कहा ये देखो। शालू ने देखा कि उसमें एक दिल बना है और एस, एस लिखा है। शालू ने कहा वाह क्या बात है। ये रंग बिरंगी लाईटें भी। ये गुलाब।। समीर ने कहा क्या खुशबू। गुलाब की तरह महकती रहो, इसी दुनिया में सदा टिमटिमाऐ ये लाईटें।।। शालू ने कहा बहुत ही बोरिंग था। समीर ने कहा हां मुझे शायरी करना नहीं आता है। शालू ने कहा हां ठीक है लेकिन कल जल्दी उठना होगा चलो सो जाते हैं।
फिर दोनों सो गए।
दूसरे दिन सुबह जल्दी उठकर तैयार हो गए। नीचे पहुंच गए और देखा कि विनय काका ने सब कुछ तैयारी कर लिया था।बस कुछ देर बाद पंडित जी आने वाले हैं। समीर ने एक पीले रंग का कुर्ता पहना था और शालू भी एक पीले रंग की साड़ी पहनी थी। दोनों ही एक-दूसरे के पूरक थे।
फिर दोनों को विनय काका ने नाश्ता करने को कहा। शालू ने कहा अरे वाह पुरी और आलू दम बना है। फिर दोनों खाना खाने लगे। कुछ देर बाद ही पंडित जी भी आ गए। विनय काका ने शालू के नाम से ही पुजा करने को कहा। शालू की आंखें भर आईं थीं। समीर भी मुस्करा रहा था। कुछ देर बाद विकास भी आ गया। समीर ने कहा अरे भाभी और बेटी को नहीं लाएं। विकास ने कहा हां कुछ देर बाद आएंगे।
फिर बहुत ही अच्छे से पुजा हो गई।सब को प्रसाद भी मिला। और फिर शालू को थोड़ी थकावट हो गई थी तो वो बेडरूम में जाकर चेन्ज कर के सो गई।
फिर समीर और विकास निकल गए।
समीर का घर पुरा सज चुका था। पीछे की तरफ खाना बन रहा था।पुरा गाडेन से चुका था। स्विमिंग पूल में भी लाइटें और गुलाब से से गया था।
समीर और विकास बाहर निकल गए और जो, जो काम बाकी था पुरा करने के बाद घर लौट आए। फिर सबने मिलकर दोपहर का खाना खाएं। खाना बहुत ही अच्छा बना था।
कुछ देर बाद ही शालू की एक शानदार गाउन आ गया जो सोमू ने मंगवाया था।
शालू ने कहा तुम भी ना सोमू कितने सारे नये कपड़े रखे हैं पर फिर भी तुम। समीर ने कहा अरे वाह आज बर्थडे है ना। शालू ने कहा थैंक यू डियर। समीर ने कहा सात बजे से शुरू हो जाएगी पार्टी।। समीर ने कहा हां मैं एक पार्लर वाली को भी बुलाया है। शालू ने कहा अरे क्या जरूरत थी। समीर ने कहा हां ठीक है।। फिर कुछ देर बाद ही पायल पार्लर वाली आ गई। कुछ देर बाद ही शालू को एक परी जैसा बना दिया। समीर तो देखता रह गया। ये गाऊन तो सिर्फ़ तुम्हारे लिए ही बना है।बियूटिफुल।
शालू एक दम से सोमू के गले लग गई। और फिर बोली थैंक्यू जान।।
सोमू ने कहा आई लव यू। दोनों ही ब्ल्यू कलर में जच रहे थे। फोटों गैलरी से भी एक मास्टर आया था वो तरह तरह के पोज़ करवा रहा था।
फिर दोनों कपल्स नीचे गार्डेन में पहुंच गए। शालू तो देखती रह गई। कितना अच्छा लग रहा है हमारा घर।। फिर एक लाइट धुन भी बज रहा था सब कुछ शालू के पसंद का था। शालू ने जरूर कुछ अच्छा किया होगा जो समीर जैसा जीवन साथी मिला है।

फिर कुछ देर बाद ही केक आ गया। और फिर शालू ने केक काटा।नायरा भी इन पलों को अपने कैमरे में कैद कर रही थी। समीर के अस्पताल से भी कुछ स्टाफ आ गए थे।सब शालू के लिए गिफ्ट दें कर अभिवादन कर रहे थे।

फिर सभी को केक खिलाया गया। स्नैक्स में स्टाटर,पनीर ,चिकन और फिर बहुत सारे डिश थे। सभी पार्टी का मजा ले रहे थे। विकास भी अपने पत्नी और बच्चे को लेकर इन्जाय कर रहे थे। फिर कुछ देर बाद कपल्स डांस होने लगा।
शालू भी थोड़ा बहुत डांस करने लगी। शालू के आफिस से भी सभी आ गए थे। फिर एक एक करके डिनर करने को कहा गया। आज सारा डिनर शालू के पसंद का बना है।
मंचुरियन, फाइंड राइज,पनीर टिक्का मसाला, फ्राइड चप, कोफ्ते,नान, रूमाली रोटी,छोले कुलचे, समोसे कचौड़ी, मिठाई में मलाई रबड़ी और हलवा।
नायरा ने कहा शालू तेरा बर्थडे क्या शानदार है। कोई कसर नहीं छोड़ी समीर ने। शालू ने कहा हां सोमू ऐसा ही है।


समीर ने एक जूस का गिलास देते हुए कहा ये पी लो।
शालू ने कहा हां ठीक है मैं पी लूंगी। फिर पार्टी बहुत ही जम गई थी सब लोग खा पी रहे थे।नायरा भी बहुत ही खुश थी अपने दोस्त के लिए। काफी देर तक सभी पार्टी इन्जाय कर रहे थे।नायरा ने खाना खाया और फिर बोली शालू मैं अब चलती हुं ग्यारह बज गए हैं। शालू ने कहा हां ठीक है पर आकाश जी तुमको छोड़ देंगे।

समीर ने कहा हां आकाश जाओ भाई। आकाश नायरा को छोड़ने चला गया। फिर विकास भी अपनी फैमिली को लेकर निकल गए। समीर के सभी आफिस के स्टाफ भी जाने लगें। शालू ने कहा सोमू अब मैं थक गई हूं यार। समीर ने कहा हां रुको पहले थोड़ा सा खा लो फिर सोने चले। फिर समीर ने एक प्लेट में ही सब कुछ परोस कर लें आया और फिर शालू को खिलाने लगा और खुद भी खाने लगा। शालू ने कहा बस मैं और नहीं खा पाऊंगी। समीर ने कहा अच्छा ठीक है। तुम चलो मैं आ रहा हूं। फिर समीर थोड़ा सा खा लिया और फिर बोला विनय काका आप खा लो फिर सब कुछ रखना भी होगा। विनय काका ने कहा हां ठीक है बेटा मैं सब कर लुंगा। तुम ये गिफ्ट्स लेकर चलो ,मैं आता हूं।
समीर ने कहा ओके काका। फिर कुछ गिफ्ट्स समीर लेकर स्डटी रूम में रखा और विनय काका भी और गिफ्ट्स लेकर रख दिया। इसी तरह से सारा गिफ्ट्स अन्दर रखने के बाद समीर ऊपर बेडरूम में पहुंचा तो शालू सो गई थी।
समीर ने कहा ओह माई गॉड बहुत थक गया।
फिर समीर भी फे्श होकर सो गया।
दूसरे दिन सुबह दोनों ने मिलकर सारा गिफ्ट खोलने लगा। बहुत ही अच्छा अच्छा गिफ्ट मिला था। शालू ने कहा सोमू तुमने मेरा बर्थ डे सेलिब्रेशन यादगार बना दिया।।

इसी तरह एक एक दिन निकलने लगा। समीर ने कहा आज चेक अप जाना है और एक टेस्ट करवाना होगा। शालू ने कहा हां चलेंगे। समीर ने कहा चलो नाश्ता करके जल्दी से तैयार हो जाओ। फिर दोनों नाश्ता करने के बाद निकल गए।

पहले अल्ट्रा साउंड करवाने के बाद रिपोर्ट लेकर डा नीरजा के चेंबर पहुंच गए। डाक्टर नीरजा ने रिपोर्ट देकर कहा कि सब कुछ ठीक है।अब फिर पन्द्रह दिन बाद आना होगा।
फिर दोनों घर पहुंच गए। शालू भी बहुत खुश थी कि अब सब कुछ ठीक जा रहा था। समीर ने कहा अब तुम थोड़ा अपना एन जी ओ किसी और को दे दो। शालू ने कहा नहीं सोमू एन जी ओ ने मुझे बहुत कुछ दिया है मैं नहीं छोड़ सकती । मैं अगर ठीक हुं तो ये एन जी ओ की वजह से।।
समीर ने कहा अच्छा ठीक है चलो मैं निकलता हूं आज मेरी नाईट ड्यूटी है डाक्टर लाल बाहर गए हैं। शालू ने कहा अरे पहले नहीं बताया मैं नायरा को बुला लेती। समीर ने कहा नाम लिया और साली साहिबा हाजिर है।नायरा ने कहा अरे यार ये तेरा पति तुझसे दो कदम आगे है। शालू ने कहा अरे नायरा तू।नायरा ने कहा हां बाबा जीजा जी ने पहले ही बताया था यार। शालू ने कहा ओह मेरे सोना।मिस यू।
समीर ने कहा ओके चलो गुड नाईट।
नायरा ने कहा चल मुवी देखते हैं। शालू ने कहा हां ठीक है।नायरा ने कहा क्या बात है गिफ्ट्स नहीं दिखाई? शालू ने कहा हां यार अलमारी में सोमू ने लगा दिया था देख ले।नायरा ने कहा हाऊ लकी। शालू ने कहा हां ठीक है। फिर नायरा ने सारी गिफ्ट्स देकर रख दिया और फिर दोनों मु्वी देखने लगें।
शालू ने मैं जा रही हुं सोने।नायरा ने कहा हां चल सो जाते हैं कल फिर आफिस।
फिर दोनों सो गई। दूसरे दिन सुबह समीर लाल आंखें लेकर आ गए। सबसे पहले रूम में गया और फिर जाकर एकदम से सो गए।उस समय दोनों सैर करने गई थी। दोनों आकर देखा तो सोमू सो गया था। शालू धीरे से बोली ओह माई गॉड सोमू तो सो गए।नायरा ने कहा अच्छा चल निकलती हु।रात को मिलती हुं। शालू ने कहा हां ठीक है चल। फिर शालू फे्श होकर आई तो तब तक सोमू सो रहा था। शालू ने जगाया नहीं और वो नाश्ता करने चली गई।


इसी तरह शालू को तीन महीने पुरे हो गए थे।सब कुछ ठीक चल रहा है ऐसा डाक्टर नीरजा ने कहा।बस थोड़ा सा बीपी लो है इसके लिए अच्छी तरह से खाना खाओ। ऐसा डाक्टर नीरजा ने कहा। शालू ने कहा हां ठीक है मैम।


क्रमशः




रेट व् टिपण्णी करें

Vishwa

Vishwa 2 महीना पहले

Nabina Chakarborty

Nabina Chakarborty 5 महीना पहले

Superb

priyabrata bhattacharya

priyabrata bhattacharya 5 महीना पहले

Very nice

S Nagpal

S Nagpal 5 महीना पहले

Deboshree Majumdar

Deboshree Majumdar 6 महीना पहले