बिज़नेस टाइकून की लव स्टोरी - 6 Missamittal द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

बिज़नेस टाइकून की लव स्टोरी - 6



अब आगे
कायरा मीटिंग खत्म करके घर जाने के लिए निकल ही रही थी
कि सामने से उसे इंद्रजीत काका आते दिखाई दिए जो कि कायरा की कंपनी में ही पीएन का काम करते थे
कायरा उनके सामने आकर रूकी और उनसे पूछने लगी कैसे हो काका?
मैडम मैं ठीक हूं'
मैडम आपसे कुछ बात करनी थी
हां बोलिए काका,
क्या बात करनी थी
इंदरजीत काका अभी कुछ बो बोलने ही वाले थे कि
कायरा को फोन बजा कायरा ने हैं उन्हें 2 मिनट का इशारा किया और फोन उठा लिया
फोन उठाते ही कायरा फोन पर बातें करते करते बाहर की तरफ चली आई और गाड़ी में बैठ गई और ड्राइवर ने गाड़ी स्टार्ट की और घर की तरफ गाड़ी घुमा ली
कायरा ने जब फोन बंद किया तो उसे एहसास हुआ कि वह बातें करते करते गाड़ी में आकर बैठ गई और काका की बात नहीं सुन पाई,
उसने मन में सोचा,कोई बात नहीं कल आकर उनसे बात कर लुंगी,
जैसे ही गाड़ी घर के बाहर रुकी
कायरा धीरे-धीरे अंदर आ गई और सोफे पर बैठ गई
कायरा ने देखा कि घर में आज बहुत शांति थी कायरा को कुछ अजीब सा लगा क्योंकि जब भी पवन घर आता था तो घर में हमेशा खुशी का माहौल ही रहता था लेकिन आज कुछ ऐसा नहीं था
तभी नोकर ने कायरा को पानी देने लगा कायरा ने पानी लिया और उससे पूछने लगी,पवन कहां है? घर में इतनी शांति क्यों है?
मेम साहब वह नौकर ने छोड़ा डरते हुए कहा
अब बोलो भी कायरा ने थोड़ा चिढ़ते हुए कहा ,
मेम साहब पवन बाबा सुबह से कमरे में है
क्यों तुमने उनको पूछा नहीं
वह मेम साहब उन्होंने सुबह से दरवाजा नहीं खोला है उनके कमरे से कुछ टूटने की आवाज में भी आ रही थी हमने खाना भी पूछा लेकिन खाने के लिए भी उन्होंने मना कर दिया
कायरा अब थोड़ा परेशान होने लगी उसने चिलाते हुए कहा क्या
तुम पागल हो यह सब मुझे अब बता रहे हो फोन करके नहीं बता सकते थे क्या
सॉरी मैम

कायरा थोड़ा तेज चलती चलती पवन के कमरे के बाहर पहुंच गई उसके पैरों में दर्द भी हो रहा था लेकिन फिर भी ना जाने उसे चिंता से होने लग गई थी कि पवन ने कुछ कर तो नहीं लिया क्योंकि आज तक पवन बेवजह खुद को बंद नहीं किया था
उसने पवन का दरवाजा नोक किया
पवन गेट खोलो गेट खोलो कायरा ने तोड़ा चिंता में चिलाते हुए का कहा
लेकिन पवन अंदर से कोई जवाब नहीं दिया अब कायरा को थोड़ा डर लगने लगा
उसने थोड़ा और चिल्लाते हुए का पावन मैंने कहा गेट खोलो
तभी पवन की भी जोर से गुस्से और नाराजगी वाले भाव से मिली जुली हुई आवाज आई
क्यों ?खोलो़,
बेबी,आप जाओ यहां से ,मुझे आपसे बात नहीं करनी
कायरा को उसकी आवाज सुनकर थोड़ी राहत सी मिली
उसने फिर पूछा क्यों नहीं खोलना
मैंने कहा गेट खोलो,
नहीं बेबी,मैं नहीं खोलूंगा,पवन ने भी गुस्से भरी आवाज में कहा
अब कायरा को भी गुस्सा आने लग गया," देखो पवन मैं आखरी बार कह रही हूं गेट खोलो,नहीं तो!
नहीं तो क्या, पवन ने भी अंदर से चिलाते हुए कहा
देखो पवन मुझे गुस्सा आ रहा है गेट खोलो
नहीं बेबी,
कायरा ने अपना गुस्सा कंट्रोल किया और फिर से बोला "देखो पवन प्लीज गेट खोल दो,अगर तुम्हें गेट नहीं खोला, तो मैं तुमसे बात नहीं करूंगी, देखो मैं नाराज हो जाऊंगी फिर"
कायरा आगे कुछ बोल पाते उससे पहले ही पवन ने दरवाजा खोल दिया और गुस्से से फिर से अंदर चला गया,
कायरा ने देखा कि पूरा कमरा तहस-नहस हुआ पड़ा है, सारा सामान इधर-उधर बिखरा पड़ा है,
कायरा ने जैसे ही अंदर जाने के लिए कदम रखा उसके मुंह से चीख निकल गई, चीख सुन के पवन घुमा और कायरा के पास आ गया,
कायरा ने नीचे देखा तो उसके पैर से खून निकल रहा था,वह लड़खडाने ही वाली थी कि पवन ने उसे संभाल लिया और अपनी गोदी में उठा लिया और गुस्से से बोला" बेबी देखकर नहीं चल सकती,देखो चोट लग गई ,आपका हमेशा का है किसी ना किसी मुसीबत में पड़कर खुद को चोट लगवाती ही रहती हो", बोलते बोलते हैं उसकी आंखों से आंसू आ गए,
पवन देखो,
कायरा कुछ बोल पाती की
"चुप बिलकुल चुप",पवन ने गुस्से से कहा
"अब आप मेरी बात सुनेगी" बोलते हुए पवन ने उसे बेड पर बिठाया और उसके पैर पर खून खून साफ करने लगा और मेडिसिन बॉक्स लेने के लिए जैसे ही जाने लगा
पवन सुनो,तो कायरा ने थोड़ा धीरे से कहा
पवन एकदम से रुक गया और घूम कर पीछे गुस्से में उसकी तरफ देखने लगा
उसको गुस्से में देख कर कायरा भी चुप करगी,
उसने अपनी नजरें नीची कर ली,आज पहली बार पवन बहुत गुस्से में लग रहा था,पवन जल्दी से गया और मेडिसिन बॉक्स लेकर आ गया और कायरा के पास आकर बैठ गया और फ्रैक्चर वाली टांग को धीरे से सीधा किया और खून साफ करने लग गया.
"पवन मैं ठीक हूं?,कायरा ने पवन का हाथ पकड़ते हुए कहा
"अच्छा" ,पवन ने टेढ़ी नजर करते हुए कहा
बेबी आप तो ठीक हूं लेकिन मैं ठीक नहीं मुझे यहां दर्द हो रहा है, पवन ने दिल की तरफ इशारा करते हुए कहा कायरा थोड़ी परेशान होते हुए बोली, पवन अगर दर्द हो रहा था बताया क्यों नहीं,
चलो अभी डॉक्टर के पास चलते हैं उसने लगभग उठने की कोशिश करतेहुए क्हा
सीना सीना,ड्राइवर को बोलो गाड़ी निकाल ले उसने ऊंची आवाज में नौकर को बुलाते हुए कहा
तभी नौकर भागकर कमरे में आ गया और बोला जी मैम
कायरा ने फिर से कहा,"ड्राइवर को बोलो गाड़ी निकाले जल्दी",
कायरा अभी कुछ बोल पाती कि पवन ने मुड़कर उस नौकर से कहा "तुम जाओ, कोई जरूरत नहीं है गाड़ी की,
लेकिन पवन
बेबी, यह दर्द डॉक्टर नही ठीक कर सकता,
डॉक्टर से क्यों नहीं होगा ठीक,मैं तुम्हें बेस्ट डॉक्टर के पास ले कर जाऊंगी,चलो
कायरा फिर से उठने लगी,
पवन ने कायरा को पकड़ा और फिर से बिठा दिया बेबी यह किसी बीमारी के वजह से नहीं है यह दर्द आपकी वजह से हो रहा है, उसने थोड़ा नाराज भरे लहजे में कहा
" मेरी वजह से,"कायरा ने थोड़ा हैरान होते हुए कहा

आपको पता है बेबी की इस दुनिया में मैं सिर्फ आपको ही प्यार करता हूं,"आप ही मेरे लिए सब कुछ हो, मां बाप भाई बहन, दोस्त सब कुछ लेकिन आप मुझे कुछ नहीं मानती अपना,"पवन ने रोते हुए कहा, कायरा ने पवन का हाथ पकड़ा और उसको अपने पास बिठाते हुए बोलने लगी नहीं पवन, ऐसी कोई बात नहीं है, तुम मेरे लिए सब कुछ हो किसने कहा कि मैं तुमसे प्यार नहीं करती,
तुम भी तो मेरे बहुत खास हो
आप झूठ बोल रही हो आप मुझे सिर्फ अपनी जिम्मेवारी मानती हो उससे ज्यादा कुछ नहीं,
पवन ने अपना हाथ छुड़ा ते हो बोला
"पवन किसने कहा तुमसे!तुम ही मेरी फैमिली हो, भाई बहन दोस्त,सब कुछ "कायरा ने थोड़ा परेशान होते हुए कहा
अच्छा तो फिर आपने मुझे एक्सीडेंट की बात क्यों छुपाई क्यों?
इतना सुनते ही कायरा कि जैसे होश उड़ गए ,
आपको क्या लगा मुझे नहीं पता चलेगा
कायरा उसे हैरानी से देख रही थी और मन में सोचने लगी इसको कैसे पता चल गया एक्सीडेंट के बारे में
देखा,"अब आप सोचने लग गई कि मुझको कैसे पता चला"
पवन ने फिर से गुस्से से कहा
कायरा उसकी बात सुनकर हड़बड़ा गई और बोलने लगी "ऐसी बात नहीं है,पवन वह तो मैं,
"वह तो क्या,पवन ने फिर से गुस्से में कहा
कायरा ने पवन का हाथ पकड़ा और उसे बिठाते हुए बोलेगी पवन ऐसा कुछ नहीं है जैसा तुम सोच रहे हो मैं तुम्हें परेशान नहीं करना चाहती थी मुझे पता था अगर तुमको एक्सीडेंट के बारे में पता चलेगा,तो तुम उसी टाइम हॉस्टल, पढ़ाई सब कुछ छोड़ कर चले आते
फिर इससे तुम्हारी स्टडी पर भी इफेक्ट होता इसलिए मैंने तुम्हें नहीं बताया बोलते बोलते कायरा ने उसको गले से लगा लिया
पवन ने जब इतना सुना तो वह कुछ बोलने वाला था इससे पहले कायरा ने बोलना शुरू किया मैं जानती हूं तुम्हें फिक्र है मेरी जानती हूं, तुम नाराज हो मुझसे,
लेकिन मैं खुद की वजह से तुम्हें कोई तकलीफ नहीं देना चाहती थी ,आई एम सॉरी ,पवन बोलते बोलते कायरा की आंखों में आंसू आ गए,
पवन ने खुद को शांत किया और कायरा के बालों को साहलाना शुरू कर दिया और कहने लगा," मुझे आपकी फिक्र है, आप ही तो इस दुनिया में हो जिसको मैं खुद से ज्यादा प्यार करता हूं ,आप ही मेरे लिए सब कुछ हो अगर आपको कुछ हो जाता तो मेरा क्या होता,
"जानती हूं पवन"कायरा ने धीरे से कहा
बेबी इस बार तो मैं आपको माफ कर रहा हूं लेकिन वादा करो आगे से कुछ भी ऐसा नहीं छुपाओगी मुझसे पवन ने कायरा के चेहरे की तरफ देखते हुए कहा
लेकिन पवन देखो
" बेबी" पवन ने नाराजगी से से देखते हुए कहा
अच्छा ठीक है,
लेकिन तुम भी मुझसे वादा करो कि आगे से ऐसी कोई हरकत नहीं करोगे,
जानते हो मैं कितना डर गई थी
सॉरी बेबी आगे से ऐसा कुछ नहीं करूंगा,
ठीक है,
बेबी
हां बोलो
मुझे आपसे कुछ बताना है
हां बोलो
वह मुझे
बोलो पवन
लेकिन पहले प्रॉमिस करो आप मना नहीं करोगे
कायरा ने पवन की तरफ देखते हुए कहा," लेकिन ऐसी क्या बात है"
पहले प्रॉमिस करो आप मना नहीं करोगे फिर मैं बताऊंगा पवन ने थोड़ा प्यार से कहा
अच्छा ठीक है ,लेकिन अगर ना मानने वाला हुआ तो मैं हाँ नहीं कहूंगी
लेकिन बेबी यह तो गलत बात है
नहीं कोई गलत बात नहीं है कायरा ने थोड़ा कठोर होते हुए कहा
अब बताओ क्या बात है
बेबी वह मुझे शर्मा ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज की तरफ से जोब offer आया है ,कायरा ने इतना ही सुना था कि उसकी आंखें बड़ी हो गई ,वह आगे कुछ बोल पाती की इससे पहले ही पवन ने बोला
बेबी गुस्सा मत होना पहले पूरी बात सुन लो प्लेसमेंट के लिए कॉलेज में कंपनीज आई थी तो मैंने इंटरव्यू दिया था तो मेरा इंटरव्यू अच्छा हुआ तो शर्मा ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज ने मुझे जॉब के लिए सिलेक्ट कर लिया है,
जॉब से पहले मुझे 1 साल की इंटर्नशिप के लिए न्यूयॉर्क जाना पड़ेगा,उनकी पहली और आखिरी कंडीशन है,
"नहीं बिल्कुल, भी नहीं तुम कहीं नहीं जाओगे," कायरा ने पवन की तरफ गुस्से से देखते हुए कहा,
बेबी प्लीज,
पवन तुम्हें वहां जॉब करने की क्या जरूरत है,तुम हमारे बिजनेस को भी तो ज्वाइन कर सकते हो ,वैसे भी हमारी कंपनी उस कंपनी को जल्द ही टेकओवर कर लेगी
बेबी प्लीज,
एक बार बात तो सुन लो,मैं जानता हूं
लेकिन मैं खुद के बलबूते पर कुछ करना चाहता हूं सिर्फ 1 साल की ही तो बात है
मैं वहां ट्रेनिंग लेकर के के ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज ज्वाइन कर लूंगा पवन ने कहा
लेकिन तुम्हें ट्रेनिंग के लिए बाहर जाने की क्या जरूरत है तुम कभी भी के के ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज ज्वाइन कर सकते हो कराने का
यही तो बात है बेबी क्या अगर मैं केके जॉइन करूंगा तो सभी कहेंगे कि तुम्हारी वजह से वहां काम मिला है,
लेकिन मैं कंपनी अपने बलबूते , मेहनत से जॉइन करना चाहता हूं,
लेकिन पवन तुम 1 साल के लिए,
दूसरे देश मेरे बिना कैसे,?
बेबी प्लीज प्लीज,
अच्छा ठीक है लेकिन अपना ख्याल रखना और मुझे रोज फोन करना
अगर कोई भी प्रॉब्लम हो तो बिना सोचे समझे फोन कर देना समझे,
ठीक है
"थैंक यू यू आर द बेस्ट," पवन ने खुशी से उछलते हुए कहा
बस बस ज्यादा मस्का मत लगाओ,
कब जाना है? कायरा ने पूछा
"वह 5दिन बाद " पवन ने कहा
क्या ?
5दिन बाद ! कायरा ने हैरान होते हुए कहा।
,,,,, ,,,,,,,,,,,,,,
दूसरी तरफ
किसी दूर किसी घर के कमरे में वही 2 लड़के और लड़की
लड़की ने दूसरे लड़के से कहा काम हो गया है जैसा तुमने कहा है वैसा ही मैंने किया
तभी दूसरे लड़के ने कहा," अच्छी बात है ,अब बस कुछ दिन और फिर हमारे सब्र का फल हमें मिल जाएगा,
तभी लड़की ने कहा वह सब तो ठीक है लेकिन आज एक थोड़ी सी गड़बड़ हो गई ,
तभी दोनों लड़कों ने एक साथ पूछा क्या हुआ?
मुझे उस इंद्रजीत ने काम करते हुए देख लिया ,
वह उस कायरा को बताने ही वाला था कि कायरा का फोन आ गया और उसने उसके बात नहीं सुनी ,
"यह क्या किया तूने"दूसरे लड़के ने कहा
"कोई बात नहीं, उस इंद्रजीत को मैं देख लूंगा ,आप अपने काम पर ध्यान दो,"पहले लड़के ने कहा लेकिन आगे से ध्यान रखना होगा
हां ठीक है
चलो अब टेंशन छोड़ो और मस्ती के मूड में हो जाओ" दूसरे लड़के ने शराब की बोतल उठाते हुए अपने साथियों को देते हुए कहा,
फिर तीनों मिलकर शराब पीने लग गए,