अय्याश--भाग(११) Saroj Verma द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

अय्याश--भाग(११)

Saroj Verma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

जब विन्ध्यवासिनी ने कोई जवाब ना दिया तो सत्यकाम ने फिर से पूछा.... पानी पिओगी बिन्दू! लाऊँ तुम्हारे लिए गिलास भरकर।। नहीं! अभी मुझे प्यास नहीं है सत्या! विन्ध्यवासिनी बोली।। चलो ! अभी तक तुम्हें मेरा नाम तो याद ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->