मे और मेरे अह्सास - 23 Darshita Babubhai Shah द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

मे और मेरे अह्सास - 23

Darshita Babubhai Shah मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी कविता

दिल के दर्दो का इलाज । जाम में मिलता नही ॥ ************************************************* मेरे इश्क का अंदाजा नहीं है तूझे lसागर की कोई नाप सका है भला ll ************************************************* इलाजे - दर्दे - मोहब्बत का मेरे कौन करेगा ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प