प्रेम पाना नहीं है बल्कि एक जीवन दृष्टि है।। अभी सिंह राजपूत द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

प्रेम पाना नहीं है बल्कि एक जीवन दृष्टि है।।

अभी सिंह राजपूत द्वारा हिंदी लघुकथा

प्रेम पाना नहीं है बल्कि एक जीवन दृष्टि है।ऐसी दृष्टि जो हमें रागात्मक और उदात्त बनाती है ।जहाँ हम अपने आत्मा का विस्तार करते हैं।।जबकोइ आपको इग्नोर करता है ना तो दर्द होता है बहुत दर्द मैं समझ सकता ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प