मुख़बिर - 8 राज बोहरे द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

मुख़बिर - 8

राज बोहरे मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

अचंभा तो ये था कि हमारे सामने ही एक देहाती आदमी आया, उसने पर्दा हटा कर भीतर झांका और बिना पूछे ताछे सीधे एसपी के कमरा में घुस गया । उस आदमी का रूतबा देख कर हमने दांतो तले ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प