दस दरवाज़े - 18 Subhash Neerav द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

दस दरवाज़े - 18

Subhash Neerav Verified icon द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

ऊषा के जाने के बाद घर जैसे खाली खाली सा हो गया हो। इतना खाली तो यह पहली पत्नी जगीरो के जाने के बाद भी नहीं हुआ था। ऊषा के गीत अचानक मेरे कानों मे गूँजने लगते हैं। उसका ...और पढ़े