ख़्वाबगाह - 6 Suraj Prakash द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

ख़्वाबगाह - 6

Suraj Prakash Verified icon द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

मेरी शादी के एक बरस बाद की बात है। एक दिन सुबह सुबह ही विनय का मैसेज आया था - आज चार बजे कनॉट प्लेस में मिलो। उसके संदेश हमेशा इतने ही शब्दों के होते कि बात पहुंच जाए। ...और पढ़े