तपते जेठ मे गुलमोहर जैसा - 16 Sapna Singh द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

तपते जेठ मे गुलमोहर जैसा - 16

Sapna Singh मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

अप्पी ने फोन पर ही सुविज्ञ को अपने विवाह की खबर दे दी थी ..... सुनकर कई देर सुविज्ञ खामोश रह गये थे ...... फिर बोले थे - ‘‘ काॅग्रेच्युलेशन ’’ अप्पी को उनकी आवाज़ से कुछ पता नहीं ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प