THE MISSING MAN...(MR. KEISUKE ) PART - 1 Bhumesh Kamdi द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

Featured Books
शेयर करे

THE MISSING MAN...(MR. KEISUKE ) PART - 1

 THE MISSING MAN 

(MR. KEISUKE ) 

 

            कहानी लिखने से ज्यादा कहानी सुनना is love & one of the integral part of me, Thanks to everyone who around with me. This is especially dedicated to late. Nikhil Kale (My DEAR friend) Who was so sorted, great thinker in real & now are going to be a part of this story also narrated in as a Ex. SPY Officer Vijay D. 

कहते है आज जिस दुनिया में हम रहते हैं ऐसी कई दुनियाए और भी है, जिसे Parallel universe कहते है .

या हो सकता है अलग तरह के लोग रहते हो और वो दुनिया अलग दिखती भी हो .

आम दिनों से अलग आज कलकत्ता एअरपोर्ट व्यस्त दिख रहा था . हर कोई अपने आप की flights की चक्कर में उलझा हुआ था .कुछ लोग अपनी flight की wait कर रहे थे तो कुछ फ्लाइट से उतर जल्दबाजी में बाहर की और निकल रहे थे .

अचानक एक व्यक्ति को देख वहा present सारे लोग कुछ पल के लिए चौक ही गए . जिस शोर ने पुरे एअरपोर्ट को घेरा हुआ था वो अचानक सन्नाटे में बदल गया .

लगभग 7 फूट लम्बा एक अजब्सा व्यक्ति हड़बड़ी में एअरपोर्ट के दूसरी और बढ़ रहा था, ऐसा लगा की वो किसी फ्लाइट से बस उतरा ही हो . वो भी उतना ही हैरान दिख रहा था जितना की वहा खड़े लोग . एक बड़ी hat और लम्बी सफ़ेद दाढ़ी में उसके चहेरे पर एक अजीबसी चमक देखी जा सकती थी .

चलते चलते वो अपनी नीली भूरी आँखोसे लोगो को देख रहा था, मानो उसने भी ऐसे लोग पहले कभी ना देखे हो .

वो एक अलग सी Dress में था , एक लम्बी बड़ी शाल जिसके ठीक उपरसे एक बेल्ट सी बनी हुई थी. जूतों के जगह उसके पाओ में लकड़ी का sandel था और उसके हाथ में एक बड़ा पुराना ताम्बे का संदूक भी था.

वो परेशानी में तेजी से पास के एक immigration counter पे चला गया. हाथ बढाए उसने अपना passport वहा बैठे अधिकारी को देता की उस अधिकारी ने कहा “In line please, PLEASE BE IN QUEUE.”

ये सुन वो आदमी एक टक उस अधिकारी को देखता रहा मानो उसे समझ ही नहीं आरहा हो की उसने क्या कहा .

उस अधिकारी ने व्यस्तता में सर झुकाए हाथ से इशारा किया  “In line please, In Queue”

पर वो आदमी आश्चर्य में कभी लोगो को देखता तो कभी उस अधिकारी को जैसे उसे पता ही नाह हो Line क्या होती है . और ये लोग LIne में क्यूँ खड़े है .

कुछ देर वैसेही खड़े रहने के बाद जब उस व्यक्तीने दुबारा अपना Passport आगे बढाया तो इस बार अधिकारी ने उसका passport लेते हुए कहा “ठीक है.. ठीक है.. अतिथि देवो भव” हिंदी जानते है या English .

 जी दोनों जानता हूँ...उस व्यक्ति ने कहा

कहा से आ रहे है आप ... Mr. keisuke यही नाम है ना आपका ? अधिकारी ने passport खोलते हुए कहा

जी मैं Tawang से हु...सामने खड़े व्यक्ति ने कहा

अधिकारी ने हैरानी से कहा... ये देश कहा है? और ऐसा passport तो मैंने आजतक नहीं देखा...उसने तुरंत अपना सर उठाके उस व्यक्ति के और देखा .

उस व्यक्ति को देख कुछ पल के लिए मानो वो दंग रह गया, वो आदमी जो उसके सामने खड़ा था वो तो बोहोत अलग था .

वो व्यक्ति उस अधिकारी को देखते हुए कभी अपनी आँखों को नीचता तो पूरी खोलकर देखता .

अधिकारी ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा...आप कोनसे flight से आये है ? और यहाँ आने का कारण क्या है ?

उस व्यक्ति ने कहा... में flight no 8033 से बस कुछ आधे घंटे पहले आया हु RAFF Airways . मैं एक scientist हु और अक्सर World Tour करता हूँ .

अधिकारी ने जब passport को देखा तो उसे ताजुब हुआ , उसमे कही देशो के immigration stamps लगे हुए थे, जो एकदम सही थे. पर नातो उसने इस देश के बारे मे सुना था और नहीं आजतक कोई Traveller यहासे कोई आया था .

तब अधिकारी ने उस व्यक्ति को दूसरी और आजाने को कहा

सामने रखे टेबल पर World Map को खोलते हुए अधिकारी ने पूछा... अब आप बताये इस Map में आपका देश कहा है ?

यहाँ... उस व्यक्ति एक देश पे ऊँगली रखते कहा .

यहाँ तो tanzania है Tawang नहीं आप ठिक से देखिये ...अधिकारी ने जोर देते हुए कहा .

तभी वहा Police Officers भी आगये... क्या हुआ विपिन जी  ? आज कुछ परेशां लग रहे है ? अमर चौधरी जी जो की एक सीनियर officer थे उन्होंने अधिकारी का नाम लेते हुए कहा

चौधरी जी, मुझे कुछ समझ नि आरहा ये व्यक्ति कहता है की ये ऐसे जगह से आया है जो इस नक़्शे पर है ही नहीं .

और बता रहा है ये RAFF Airways से आया है जबकि ऐसी कोई flight सुविधा पुरे world में नहीं चलती, पर passport एकदम ठीक है . इसमें कई देशो के stamps बिलकुल ठीक है

मतलब ? ...चौधरी जी ने पूछा .

मतलब ये की Tawang नाम का कोई देश है ही नहीं !! और नाहीं ऐसी कोई Flight Land हुइ है, मेने operater से भी पूछा .

आप हिंदी कैसे जानते है? ...चौधरी जी ने उस व्यक्ति से पूछा .

में लगभग सभी भाषाए जनता हु, ठीक से तो नहीं पर बोल और समज लेता हु .

आपके पास कोई और ID Proof है? ...फिरसे पूछा गया

जी.. एक driving Licence और ये CheckBook ...उस व्यक्ति ने कहा .

 driving Licence भी ठीक लगता है. इसपर लिखा भी है इसपर लिखा भी है GOV OF Tawang ...अमित ने कहा .

एक मिनट, विपिन ने checkbook पे लिखे बैंक को internet पर सर्च करते हुए कहा पर बहुत खोजने के बाद भी उसे वो बैंक नहीं मिला .

पर checkbook को तो देखो एक पुरानीसी पर्ची पर बस बैंक का नाम लिखा हुआ है मानो एक साधारण पेज पर बैंक के stamps लगा दिए हो .

तब अमित ने उस व्यक्ति को गिरफ्तार करते हुए पूछा... यहाँ क्या करने आये हो ?

में अपने Experiments के लिए सामान लेने आया हु . तभी उसने कई देशो की Currency police को दिखाते हुए कहा .

ये Currency तो बिलकुल ठीक है बस थोड़ी पुरानी लग रही है ..अमित ने कहा .

और हा Hotel Mystic Villa में मेरी आज की बुकिंग भी है natasha ..natasha ने मेरी बुकिंग की थी .

वो तो यहासे बस 3km की दुरी पर है ...vipin ने कहा

तभी अमित ने उस होटल का no निकाल वहा phone लगाया

Hello mystic villa, How may I help you Sir..! वहा से आवाज आई .

क्या आप मुझे बता सकते है यहा  किसी Mr. keisuke नाम से बुकिंग है ?

wait a moment please... जी बुकिंग तो है!

जी मैं किसी natasha से बात कर सकता हूँ ...अमित ने फिर पूछा

सर यहाँ natasha नाम का कोई नहीं.

Are You Sure ? ...अमित ने हैरानी से पूछा

yess Sir..

अमित ने vipin को कहा... hotel में बुकिंग तो है पर वहा कोई natasha नहीं है .

दोनों परेशान हो एकदूसरे का चहेरा देखने लगे .

तभी उस व्यक्ति ने कहा.. क्या में जा सकता हूँ ?

wait..शेखर और रावत, तुम दोनों इस व्यक्ति के साथ जाओगे और इसके hotel के बाहर खड़े रहोगे और हा.. hotel को बोलना इसकी रूम में CCTV कैमरा लगवा देंगे ताकि हम इससे 24 घंटे देख सके .

जी सर ...दोनों ने हा में सर हिला दिया .

Mr. keisuke मेरे साथी आपको hotel तक ले जायेंगे . aaah ..But में आपका passport और और ये licence अपने साथ रखूँगा .

पर आप लोग मेरे साथ ऐसा क्यूँ कर रहे है ? मुझे समझ नहीं आरहा ?मेने तो आपको सारे papers दे दिए ...उस व्यक्ति ने कहा .

हमें थोड़ी और छानबीन करनी है, उसके बाद हम आपको वापस कर देंगे ...अमित ने कहा .

hotel पहुचते ही शेखर और रावत व्यक्ति के रूम के बाहर खड़े हो गए . अमित भी CCTV से उसे देख रहे थे .

hotel रूम में जाते ही वो व्यक्ति खिड़की पर बैठ गया मानो कुछ ध्यान से देख रहा हो . लगभग कुछ घंटे वैसे ही बैठने के बाद उसने रखे उस फोन की और देखा . कभी वो phone के वायर को देखता तो कभी उसपर लगे buttons को, जैसे की उसने वो मशीन कभी देखी हि नाह हो .

तभी phone लगा कर वो किसीसे अजीब सी भाषा में बात करने लगा . phone रखते ही उसने अपने संदूक से अपने खाने का सामान निकाल लिया . वो एक-एक कर एक चमकती हुई चीज खाने लगा देखने में तो वो आलू जैसे लग रहे थे , लेकिन वो चमक कैसे रहे थे .

Dinner के ठीक बाद उसने एक बडासा रजिस्टर निकाला जिसमे वो कुछ लिखने लगा . जाने कब तक वो लिखता रहा और लगभग सुबह 2 बजे वो सो गया .

पर अमित उनकी आँखे तो आज बंद होने को तैयार ही नाह थी .

मुझे ऐसा लगता है की ये आदमी ठीक नहीं , ये कोई घुस्पेठिया लगता है ...अमित ने vipin से कहा .

देखो ये उठ गया ...तभी vipin ने कहा

बस ३ घंटे सोया ...अमित ने कहा .

वो आदमी सीधे washroom में चला गया, अमित और vipin को इंतजार करते लगभग 2 घंटे हो गये थे पर वो आदमी वो तो washroom से बाहर ही नहीं आया .

अमित को कुछ खटका उसने तुरंत शेखर को फोन लगाया.

शेखर अंदर जाओ और देखो वो आदमी कहा है ? वो washroom में गया पर काफी देर से बाहर नहीं आया .

शेखर ने hotel staff को बुलवाकर रूम खुलवा लिया.

Mr. keisuke .. Mr. keisuke कहकर शेखर ने washroom रूम के बाहर आवाज लगायी, थोड़ी देर खड़ा रहा .जब कोई आवाज ना आई तो उसने washroom का गेट खोल दिया .

एकदम चौकाने और हैरानी की बात ये थी की वो आदमी वहा नहीं था ..! वो वहासे गायब हो चूका था . अमित भी तुरंत मौके से पहुच गए थे .    

पर वो आदमी गया कहा washroom के चारोऔर दीवार है, यहाँ तो कोई खिड़की भी नहीं इतनी छोटी जगह से भला कोइ कैसे गायब हो सकता है .

तभी अमित को vipin का phone आया .

उस आदमी के सारे कागजात भी अचानक गायब है , यानि passport और licence कुछ भी नहीं मिल रहा .

बहुत पूछताछ के बाद जब अमित और vipin को कुछ समझ नहीं आया तो उन्होंने अपने सहकर्मी Ex. SPY Officer Vijay D.  को phone लगा ही लिया .

क्या है इस गायब हुए व्यक्ति की कहानी और क्या Officer Vijay उनका पता लगा पाएंगे . 

आगे जारी रहेगी गायब हुए Mr. keisuke की कहानी part 2 मैं .....( Tobe continued...)