शायरी Tru... द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

शायरी

Tru... द्वारा हिंदी कविता

*************************************************खुदा तेरी रहमतो के किस्से केसे बयां करु।बेहिसाब दिया तुने,इसका क्या हिसाब करु।किसी की नजर से मुझको क्या वास्ता ऐ खुदा।बस तेरी नज़र में रहूं,ये अरज बार बार करु।**************************************************जिंदगी जख्म देती नहीं,हम ले लेते है।खुशियों के दामन को हम ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->