सख़्तजान Deepak sharma द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

सख़्तजान

Deepak sharma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

दीपक शर्मा “आप की मां का फोन आया है,’’ सुबह के आठ बजने में पन्द्रह मिनट बाकी थे जब जौहरी परिवार की नौकरानी ने उनके वैवाहिक कक्ष पर दस्तक दी । उषा का मोबाइल मां के पास धरे का ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->