क्षितिज (काव्य संकलन) - 3 Rajesh Maheshwari द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

क्षितिज (काव्य संकलन) - 3

Rajesh Maheshwari मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी कविता

जीवन की राह गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम पवित्र हो सकता है किंतु मोक्षदायक नही। मोक्ष निर्भर है धर्म एवं कर्म पर। संगम में डुबकी से भावना बदल सकती है किंतु बिना कर्म के ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->