जीवन के उजाले - भविष्य में भूतकाल राकेश सोहम् द्वारा मानवीय विज्ञान में हिंदी पीडीएफ

जीवन के उजाले - भविष्य में भूतकाल

राकेश सोहम् द्वारा हिंदी मानवीय विज्ञान

भविष्य में भूतकालउपलब्ध साधनों के जरिए ही आपदाओं से निपटना पड़ता है । कई बार इनसे निपटने को साधन कम पड़ जाते हैं । कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पूरी दुनिया ने यह देखा । संसाधनों की कमी ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->