पिंजरे कि चिड़िया Yayawargi (Divangi Joshi) द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

पिंजरे कि चिड़िया

Yayawargi (Divangi Joshi) मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी कविता

पाऊं मे जंजीर आज भी है जिसका नाम संस्कार हैये हमारी कोई सुरक्षा नहींये उनका अंहकार हैबेमतलबी सवाल तेरे जवाब बने बहस मेरे बोलना बना बदतमीजीऐसी एक चिड़िया कि कहानी"मुंह चलना बंध कर ।चुप होजा ख़तम करतू नादान है ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प