विशाल छाया - 5 Ibne Safi द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

विशाल छाया - 5

Ibne Safi मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

(5) “हेलो ! कर्नल विनोद स्पीकिंग ?” “इट इज सिक्स नाईन सर !” “हां हां ...कहो क्या रिपोर्ट है ?” विनोद ने कलाई घडी कि ओर देखा। समय एक घंटे से अधिक हो गया था। “केप्टन साहब सड़क पर ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प