विश्वासघात--(सीजन-२)--भाग-(१५) Saroj Verma द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

विश्वासघात--(सीजन-२)--भाग-(१५)

Saroj Verma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

शकीला ने जब विश्वनाथ की सच्चाई सुनी तो उसके होश उड़ गए,उसने कहा... वहशी,दरिन्दा इसलिए फूल सी बच्ची से बदला लेना चाहता था,इतने सितम किए इस नन्ही सी जान पर,मुझे नहीं मालूम था कि वो इतना गिरा हुआ इन्सान ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प